Breaking News

इंदौर / इंदौर अपडेट : मॉर्निंग वॉक वाले बाहर निकलते नजर आए तो उन्हें अस्थाई जेल...कर्फ्यू को और बढ़ाए जाने की जरूरत : इंदौर कलेक्टर

इंदौर अपडेट : मॉर्निंग वॉक वाले बाहर निकलते नजर आए तो उन्हें अस्थाई जेल...कर्फ्यू को और बढ़ाए जाने की जरूरत : इंदौर कलेक्टर
Sunil Paliwal-Anil Bagora April 26, 2021 05:53 PM IST

इंदौर : इंदौर कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के रिजल्ट अब आना शुरू हो गए हैं. अभी रिजल्ट अच्छे दिख रहे हैं. रिजल्ट को स्थिर रखने के लिए कर्फ्यू को और बढ़ाए जाने की जरूरत है. कई स्थानों पर होम आइसोलेशन में लोग अलग कमरे में रहने की जगह परिवार के साथ रह रहे हैं। कुछ तो बाहर भी घूम रहे हैं, जो कि आपराधिक कृत्य है। पॉजिटिव मरीज यदि बाहर घूमता मिला तो उसके खिलाफ एफआईआर होगी.

यह बात कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कोरोना की समीक्षा बैठक के बाद कही.  उन्होंने  कहाकि ऐसा दिख रहा है कि कुछ लोग अभी भी लापरवाही कर रहे हैं. मॉर्निंग वॉक वालों को सख्त मनाही है कि वे नहीं निकलें. वे बिना मास्क के निकलते हैं. समूह बनाकर बातचीत करते हैं. यदि अब मॉर्निंग वॉक वाले बाहर निकलते नजर आए तो उन्हें अस्थाई जेल में डालने को कहा गया है. साइकिंलिंग को भी परमिशन नहीं है. बीआरटीएस कॉरिडोर को ब्लॉक करने को कह दिया गया है. मॉर्निंग वॉक का जो यह तरीका है, वह गलत है इसलिए उन्हें रोका जा रहा है. वे झुंड में नजर आते हैं, जो गलत है. यह उनके और उनके परिवार के लिए खतरा है. रिजल्ट को स्थिर रखने के लिए कर्फ्यू को और बढ़ाए जाने की जरूरत है. यह बात कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कोरोना की समीक्षा बैठक के बाद कही...

चार प्रकार की एक्टिविटी बहुत महत्वपूर्ण : संक्रमण काे राेकने के लिए चार प्रकार की एक्टिविटी बहुत महत्वपूर्ण है, जिससे संक्रमण की स्पीड में कमी आती हैै। पहला लोगों की आवाजाही पर रोक और भीड़वाले इलाकों पर पाबंदी, कंजेस्टेड इलाकों के मरीजों को निकालकर कोविड केयर सेंटर पर भेजना और हॉस्ट स्पॉट एरिया में माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाना. 

किल कोरोना अभियान के तहत 100 फीसदी स्क्रीनिंग :  कलेक्टर नेे कहा कि कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं। शहरी इलाकों में तो बीमारी का पता चल जाता है। वहीं, ग्रामीण एरिया में किल कोरोना अभियान के तहत 100 फीसदी स्क्रीनिंग हो रही है.

सख्ती किसी को प्रताड़ित करना नहीं : डीआईजी श्री मनीष कपूरिया ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू का प्रभाव दिखने लगा है। संक्रमण दर कम हो रही है. परिणाम को देखते हुए हम और सख्ती करने जा रहे हैं। सभी साथ में मिलकर काम कर रहे हैं. इसी का नतीजा है कि परिणाम आशानुरूप आ रहे हैं। सख्ती किसी को प्रताड़ित करना नहीं है, बल्कि यह सबके हित के लिए है.

कालाबाजारी करने वालों पर होगी रासुका की कार्रवाई : मंत्री श्री तुलसी सिलावट ने कहा कि बैठक में यह समीक्षा की गई कि कोराेना के चेन को कैसे तोड़े, इस पर बात हुई. जनता कर्फ्यू आमजन के हित के लिए है, इस चेन को तोड़ने के लिए सरकार युद्ध स्तर पर प्रयास कर रही है. यदि अब कोई कालाबाजारी करते पकड़ा गया तो सीधे रासुका लगाई जाएगी.

● पालीवाल वाणी ब्यूरों-Sunil Paliwal-Anil Bagora...✍️

 

RELATED NEWS