Breaking News

मध्य प्रदेश / नेशनल लोक अदालत 145 प्रकरण निराकृत, पति-पत्नी के 2 प्रकरण में समझौता, बेटा देगा माता पिता को 15000 प्रति माह

नेशनल लोक अदालत 145 प्रकरण निराकृत, पति-पत्नी के 2 प्रकरण में समझौता, बेटा देगा माता पिता को 15000 प्रति माह
Jagdish Rathore July 10, 2021 09:05 PM IST

जावरा । नेशनल लोक अदालत के तहत जावरा के 6 न्यायालयों में कुल 1102 प्रकरण में से 145 प्रकरण का निराकरण किया गया । कुल रुपए 13528943/- का सेटलमेंट हुआ । शनिवार सुबह न्यायालय प्रांगण में प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश रुपेश शर्मा, द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ओपी बोहरा, तृतीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मोहित कुमार, जेएमएफसी नमिता बोरासी ,प्रगति मित्रा, सूर्यपाल सिंह राठौड़ एवं चेतना दशोरा के आतिथ्य में मां सरस्वती एवं महात्मा गांधी की तस्वीर पर माल्यार्पण के साथ लोक अदालत की शुरुआत हुई । इस अवसर पर अभिभाषक संघ जावरा के उपाध्यक्ष तन्मय सोनी, सचिव समरथ साहू, वाचनालय सचिव अजय श्रीवास्तव पूर्व उपाध्यक्ष जगदीश धाकड़ एवं अन्य अभिभाषक गणों ने अपनी गरिमामय  उपस्थिति प्रदान की  । जेएमएफसी नमिता बोरासी की खंडपीठ में 6 साल से अलग रह रहे रीना एवं अशोक के बीच समझौता हो गया । रीना ने अपने पति अशोक के विरुद्ध धारा 120 ए घरेलू हिंसा में केस दर्ज कराया था  । जेएमएफसी नमिता बोरासी की समझाइश पर दोनों पति पत्नी ने साथ में रहने का तय किया । कोर्ट में दोनों पति-पत्नी ने एक दूसरे को पुष्प माला पहनाकर समझौता किया । ग्राम सूजापुर निवासी 60 वर्षीय मोहनलाल ने अपने पुत्र गोवर्धन के खिलाफ जीवन निर्वाह हेतु भरण-पोषण भत्ता नहीं देने हेतु करीब ढाई माह पूर्व 5 अप्रैल 2021 को प्रकरण पंजीबद्ध कराया था नेशनल लोक अदालत में जेएमएफसी नमिता बोरासी की खंडपीठ मैं समझाइश पर पुत्र गोवर्धन ने प्रतिमाह माता पिता को रु 15000 देने का आश्वासन दिया और माता-पिता तथा पुत्र के बीच समझौता हो गया । जेएमएफसी चेतना दशोरा की खंडपीठ में 20 जनवरी 2020 से ग्राम ललियाना तहसील जावरा निवासी श्रीमती रेशम बाई पति अमरुजी ने अपने पति अमरू आसाराम निवासी ग्राम गुवारखेड़ी  तहसील नामली के विरुद्ध धारा 125 दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कराया था जिसमें जेएमएफसी चेतना दशोरा एवं एडवोकेट युसूफ खान की समझाइश पर दोनों पति-पत्नी ने आपसी समझौता कर लोक अदालत की खंडपीठ में एक दूसरे को पुष्प माला पहनाकर समझौते की रस्म पूरी की । जिन लोगों के प्रकरण निराकृत हुए उन्हें खंड पीठ की ओर से एक एक पौधे वितरण किए गए।

● पालीवाल वाणी मीडिया नेटवर्क. जगदीश राठौर...✍️

RELATED NEWS