Breaking News

मध्य प्रदेश / कोविड-19 में मृत व्यक्तियों आश्रितों को रुपए दो लाख की आर्थिक सहायता दे : चंद्रप्रकाश ओस्तवाल

कोविड-19 में मृत व्यक्तियों आश्रितों को रुपए दो लाख की आर्थिक सहायता दे : चंद्रप्रकाश ओस्तवाल
जगदीश राठौर May 25, 2021 06:14 PM IST

जावरा. भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष एवं जावरा विधानसभा क्राइसिस कमेटी के सदस्य चंद्रप्रकाश ओस्तवाल ने कोविड-19 के अधीन मृत व्यक्तियों के परिवारजनों को दो लाख की आर्थिक सहायता, 50 हजार की आबादी वाले शहरों में सीटी स्कैन, जिला स्तर एवं बड़ी तहसील मुख्यालय पर फंगस उपचार की समुचित व्यवस्था, संभावित तीसरी लहर में बच्चों को इस प्रकोप से बचाने हेतु ठोस कार्य योजना बनाकर उसे क्रियान्वित करने एवं मध्यम वर्गीय लोगों को राहत पैकेज देने की मांग की है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, प्रभारी मंत्री डॉ मोहन यादव, सांसद सुधीर गुप्ता एवं जावरा विधायक डॉ राजेंद्र पांडेय को पत्र लिखकर अवगत कराया कि वर्तमान प्रदेश की 65 प्रतिशत आबादी गांव में निवासरत है और कोविड-19 अब गांव में अपना पैर पसार चुकी है, इधर ग्रामीण क्षेत्रों में उपचार की समुचित व्यवस्था एवं अज्ञानता की वजह से बीमार अस्पताल तक नहीं पहुंच रहे हैं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य केंद्र उपलब्ध हैं, लेकिन वहां पर्याप्त स्वास्थ्य स्टाफ एवं संसाधन का अभाव है फलस्वरूप ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रत्येक गांव में बीमारों की मृत्यु हुई है. श्री ओस्तवाल ने कोविड-19 में मृत व्यक्तियों के आश्रितों के लिए रुपए एक लाख की आर्थिक सहायता, पेंशन एवं अन्य सुविधा देने की घोषणा की है वहीं अनेक व्यक्ति ऐसे है जिनकी मृत्यु उपचार के अभाव में हुई ऐसे लोगों का सघन सर्वे कराकर कर्मकार मंडल की योजना एवं समग्र योजना अंतर्गत पात्र परिवार के आश्रितों को  इस योजना अंतर्गत ₹2 लाख की आर्थिक सहायता एवं अन्य सुविधाएं प्रदान की जाए. इसी के साथ आपने मांग की है कि देशभर में विशेषज्ञ डॉ , स्वास्थ्य कर्मी स्टाफ के रिक्त पद की पूर्ति हेतु अन्य राज्यों की नीतियों का अध्ययन कर उचित वेतनमान देकर आपातकालीन सेवाओं के माध्यम से भर्ती की जाए एवं चिकित्सा संसाधन के अलावा पूरे प्रदेश में सीटी स्कैन मशीन, लैब सुविधाओं के लिए जिला मुख्यालय पर किसी भी मरीज के परिजन को भटकना नहीं पड़े ऐसी समुचित व्यवस्था की जाए. श्री ओस्तवाल ने कहा कि 50 हजार की आबादी वाले शहरों में तत्काल सीटी स्कैन सुविधा प्रारंभ की जाए साथ ही जिला एवं तहसील स्तरीय अस्पताल का उन्नयन किया जाए. प्रदेश के प्रत्येक जिले को बड़ी तहसील मुख्यालयों पर फंगस के उपचार की समुचित व्यवस्था की जाए साथ ही प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु समूह के बच्चों का टीकाकरण अभियान शीघ्र से शीघ्र चलाया जाए. कोरोना कर्फ्यू मे सब्जी, दूध, किराना, फल -फ्रूट एवं दवाइयों के समुचित वितरण की व्यवस्था के साथ ही कोविड हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों में व्याप्त भय को दूर करने हेतु योग प्राणायाम एवं संगीत के अलावा साहित्यकारों एवं संतों की स्पीच का सीधा प्रसारण दिखाया जाए ताकि हॉस्पिटल में भर्ती मरीज का मनोबल बढ़ सके. आपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आग्रह किया है कि देश व प्रदेश के मध्यम वर्ग के लोग 15 माह से बहुत परेशान है और बीते 2 माह से लाकडाउन की प्रतिकूल स्थिति में विद्युत बिल, स्कूल फीस, शासन एवं नगरीय निकाय के विभिन्न टेक्स, व्यापारियों के व्यापारिक संस्थानों का किराया, स्टाफ का वेतन, बैंकों की किस्त एवं ब्याज एवं अपने परिवारजनों की आजीविका को चलाने के बावजूद किसी भी योजना में शामिल नहीं है और कोविड-19 के उपचार में हॉस्पिटल के भारी व्यय का भुगतान करने की उसकी आर्थिक व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है ऐसे सभी मध्यमवर्गीय लोगों को तत्काल राहत देने की घोषणा करें.

● पालीवाल वाणी मीडिया नेटवर्क-जगदीश राठौर...✍️

RELATED NEWS