दिल्ली

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार हरकत में : अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी : क्या देश में फिर लगने वाली हैं बड़ी पाबंदियां?

Paliwalwani
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार हरकत में : अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी : क्या देश में फिर लगने वाली हैं बड़ी पाबंदियां?
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार हरकत में : अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी : क्या देश में फिर लगने वाली हैं बड़ी पाबंदियां?

नई दिल्ली : चीन समेत अन्य देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। इसके मद्दनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय यात्रा से 72 घंटे पहले की गई आरटी-पीसीआर जांच की जानकारी भरने से जुड़े एयर सुविधा फॉर्म को फिर से अनिवार्य करने की तैयारी कर रहा है। यह नियम चीन और अन्य देशों (जहां कोरोन के मामले बढ़ रहे हैं) से आने वाले यात्रियों पर लागू होंगे। फॉर्म में कोरोना जांच रिपोर्ट के साथ पूर्ण टीकाकरण प्रमाण की जानकारी भी भरनी होगी। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय भारत में अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।

कोविड परीक्षण के लिए प्रत्येक उड़ान में यात्रियों को चुना जाएगा

24 दिसंबर 2022 से प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय उड़ान से आने वाले कुछ यात्रियों की कोविड की रैंडम जांच होगी। सरकार के मुताबिक, संबंधित एयरलाइंस द्वारा क्रमरहित रूप से कोविड परीक्षण के लिए प्रत्येक उड़ान में यात्रियों को चुना जाएगा। बताया जा रहा है कि एक उड़ान में कुल यात्रियों का 2% आगमन पर हवाई अड्डे पर कोविड परीक्षण से गुजरना सुनिश्चित करेगा। एयरलाइन द्वारा ऐसे यात्रियों की पहचान की जाएगी। सैंपल देने के बाद यात्रियों को एयरपोर्ट से जाने दिया जाएगा। सकारात्मक परीक्षण करने वाले नमूनों को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा।

यात्रियों के लिए हवाई अड्डों पर यात्रियों की रैंडम जांच

दरअसल, चीन और कुछ अन्य देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अचानक वृद्धि के मद्देनजर देश में कोविड की स्थिति की समीक्षा के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया की अध्यक्षता में बुधवार को बैठक हुई थी। इसके बाद सूत्रों ने बताया था कि दुनिया के कुछ हिस्सों में मामलों में हाल में हुई वृद्धि के कारण चीन और अन्य देशों से आने वाले यात्रियों के लिए हवाई अड्डों पर यात्रियों की रैंडम जांच की जाएगी।

एयर सुविधा फॉर्म को फिर से शुरू करने पर विचार 

अब बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय यात्रा से 72 घंटे पहले की गई आरटी-पीसीआर जांच के विवरण या चीन और अन्य देशों से आने वाले यात्रियों के लिए पूर्ण टीकाकरण प्रमाण की जानकारी देने संबंधी एयर सुविधा फॉर्म को फिर से शुरू करने पर विचार कर रहा है। कुछ सप्ताह तक स्थिति पर नजर रखने के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा।

लोगों को सजग रहने और निगरानी बढ़ाने के लिए कहा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा था कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधित लोगों को सजग रहने और निगरानी बढ़ाने के लिए कहा है। हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। मंडाविया ने बताया था कि हमने अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर विदेश से भारत आने वाले लोगों की रैंडम आरटीपीसीआर जांच करना शुरू कर दिया है। हम महामारी से निपटने के लिए प्रतिबद्ध हैं और उचित कदम उठा रहे हैं।

क्या देश में फिर लगने वाली हैं बड़ी पाबंदियां?

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने राहुल गांधी को लिखी चिट्ठी में भारत जोड़ो यात्रा को स्थगित करने की अपील की है। इस यात्रा को स्थगित करने के पीछे की सबसे बड़ी वजह मनसुख मंडाविया ने कोविड के हालातों में पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की बात कही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की इस चिट्ठी के बाद चर्चा इस बात की हो रही है कि क्या केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के पास इस बात के इनपुट पहुंच चुके हैं कि आने वाले दिनों में एक बार फिर से कोविड के हालात भयावह हो सकते हैं। हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की चिट्ठी को कांग्रेस महज एक पॉलिटकल चिट्ठी बता रही है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा से भाजपा नेता डरे हुए हैं। इसीलिए अचानक ऐसी चिट्ठी लिखकर न सिर्फ यात्रा को रोकने की बात कर रहे हैं, बल्कि लोगों में भय भी पैदा कर रहे हैं।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
GOOGLE
Latest News
Trending News