अपराध

चार दिन की मासूम की हत्या : पोते की चाह में दादी ने नवजात बच्ची की गला दबाकर हत्या

paliwalwani
चार दिन की मासूम की हत्या : पोते की चाह में दादी ने नवजात बच्ची की गला दबाकर हत्या
चार दिन की मासूम की हत्या : पोते की चाह में दादी ने नवजात बच्ची की गला दबाकर हत्या

ग्वालियर. मध्य प्रदेश के ग्वालियरसे एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है जहां एक महिला ने अपनी नवजात पोती की गला दबाकर हत्या कर दी. मासूम का कसूर सिर्फ इतना था कि वह लड़की पैदा हुई थी. निर्दयी दादी अपना पाप 23 दिन तक छुपा कर बैठी रही. वहीं बहू को इस मामले में जब शक हुआ तो उसने नवजात का पोस्टमॉर्टम कराया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि नवजात बच्ची की गला दबाकर हत्या की गई है. इस रिपोर्ट के बाद पुलिस ने आरोपी सास को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

नवरात्र जैसे मौके पर जहां माता जगदंबा की आराधना की जाती है और बेटियों को देवी के रूप में पूजा जाता है, वहीं मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक ऐसा दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां पर एक नवजात बच्ची की उसी की दादी ने गाला दबाकर हत्या कर दी. दादी को बेटे की आस थी. निर्दय दादी ने पोती के पैदा होने के बाद उसे गोद में लेना तक मुनासिब नहीं समझा था.

ग्वालियर के गोलपाड़ा में प्रेमलता चौहान की बहू काजल ने 23 मार्च को एक बेटी को जन्म दिया लेकिन दुर्भाग्य से काजल ने जिस बेटी को जन्म दिया वह एक हाथ से दिव्यांग थी. इस बात पर सास ने बहू को काफी उल्टी-सीधी बातें सुनाईं क्योंकि अस्पताल में उस वक्त बहू के साथ उसकी मां भी थी, इसलिए नवजात को मारने का मौका निर्दयी सास को नहीं मिल पाया.

इधर इस मामले में जानकारी देते हुए पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 26 मार्च को उसके चाचा जी की मौत होने के बाद उसकी मां अस्पताल से चली गई और इसी बीच रात में सास ने बच्ची को अपनी गोद में ले लिया और कम्बल से लपेट दिया. वहीं अगले दिन सुबह जब पीड़िता के रिश्तेदार अस्पताल में उससे मिलने आए तो उन्होंने आरोपी सास से नवजात को गोद में लेना चाहा लेकिन उसने नहीं दिया. इस पर उन्होंने बच्ची को सास की गोद से छीन लिया लेकिन बच्ची में कोई हलचल नजर नहीं आई. इस पर भी वे लोग नवजात को डॉक्टर के पास लेकर गए. जहां डॉक्टरों ने नवजात को मृत घोषित कर दिया.

इस मामले में जब नवजात की मां को सास पर शक हुआ तो उन्होंने नवजात का पोस्टमॉर्टम करवाया और तब जाकर इस बात का खुलासा हुआ की बच्ची की गला दबाने से मौत हुई है. इस बीच नवरात्र में आरोपी सास ने ढोंग रचते हुए कन्याओं को भोजन करवाया और उन्हें स्कूल बैग उपहार में दिए.

इस मामले में पुलिस ने आरोपी महिला प्रेमलता चौहान को गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी देते हुए एडिशनल एसपी अखिलेश रेनवाल ने बताया कि महिला से पूछताछ करने पर उसने बहुत कुछ नहीं कहा है केवल इतना कहा है कि जो कुछ उसने किया उसका उसे दुख है. पुलिस ने आरोपी सास को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
GOOGLE
Trending News