Latest News
      1. पालीवाल समाज का अन्नकूट महोत्सव 3 नवंबर को इंदौर में      2. कार्तिक महोत्सव पर श्री चारभुजानाथ मंदिर में प्रतिदिन विशेष आयोजन-सहपरिवार सादर आमंत्रित      3. पालीवाल समाज में कार्तिक महोत्सव की धूम-प्रतिदिन हो रहे दीप माला के साथ भजन कीर्तन के आयोजन      4. पालीवाल समाज के वरिष्ठ समाजसेवी श्री भेरूलाल बागोरा का निधन-अंतिम यात्रा कल      5. जरा हट के खबर... श्री सांई ज्योति फाउंडेशन ने दीवावली के पूर्व दी छोटे बच्चों की जिंदगी में मुस्कान      6. शामगढ़ के नगर सेठ पंड़ित मदनलाल पुरोहित का निधन-शोक में डुबा नगर

सरदार वल्लभभाई पटेल की जयन्ती पर विचार-गोष्ठी

Suresh Bhat     Category: राजस्थान     02 Nov 2015 2:34 AM

राजसमंद। भारत विकास परिषद द्वारा शनिवार को लौह पुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की 140 वीं जयन्ती पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। सरदार वल्लभभाई पटेल की जयन्ती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया गया। सभी परिषद् सदस्यों ने पटेल की चित्र छवि पर पुष्पांजलि अर्पित की तथा सामूहिक रूप से राष्ट्रीय एकता की शपथ ली। विचार-गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए सचिव कुशलेन्द्र दाधीच ने कहा कि राष्ट्र निर्माता के रूप में देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल का अविस्मरणीय योगदान रहा है। देश की पांच सौ से ज्यादा रियासतों को भारतीय संघ में सम्मिलित होने के लिए तैयार करना सरदार पटेल की दृड़ संकल्प शक्ति का परिणाम था। राष्ट्रीय आन्दोलन के संगठनकर्ता तथा देश के एकीकरण के महानायक होने के कारण उनका नाम भारतीय इतिहास में स्वर्णाक्षरों में लिखा जायेगा। सरदार पटेल की सही समय पर कङ़े फैसले लेने की काबिलियत के कारण उन्हें लौह पुरूष का नाम मिला। गोष्ठी में भाविप अध्यक्ष ओमप्रकाश मंत्री, सतीश तापङिया, प्रमोद सोनी, सुधीर व्यास, राकेश गोयल, जयप्रकाश मंत्री, सुभाष पालीवाल, मीना नवलखा, पूनम माहेश्वरी, नीता सोनी, मनीषा कच्छारा एवं सोनिया बंग आदि उपस्थिति थे।

 

Karwa Chauth Compitition