Latest News
      1. श्री चारभुजा मंदिर इंदौर पर श्री व्यास परिवार की ओर से 12 को दीप महोत्सव का आयोजन      2. पालीवाल समाज के सानिध्य में तुलसी विवाह का आयोजन टाडावाडा गुजरान में ऐतिहासिक संपन्न      3. पालीवाल समाज के सानिध्य में तुलसी विवाह का आयोजन टाडावाडा गुजरान में ऐतिहासिक संपन्न      4. पालीवाल समाज के हृदय सम्राट श्री कैलाश दवे को किया सम्मानित      5. मेनारिया ब्राह्मण समाज के श्री दुर्गेश जोशी का आकस्मिक निधन-अंतिम यात्रा कल      6. श्री चारभुजा मंदिर पर जोशी परिवार की ओर से 10 को कार्तिक मास पर दीप महोत्सव

रुणी सोहन का 96 वां जन्म जयंती समारोह आमेट में मनाया गया

M. Ajnabee, Kishan Paliwal ...✍     Category: आमेट     31 Oct 2019 4:37 AM

● गुरुणीमैया सरलता, सादगी और सौम्यता की प्रतिमूर्ति थे - साध्वी कमलप्रभा

आमेट। श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ महावीर भवन लक्ष्मी बाजार आमेट के तत्वावधान में मधुकर सौरभ महासती श्री कमलप्रभा, सुदर्शनप्रभा, मणिप्रभा, लब्धिप्रभा आदि ठाणा 4 के सानिध्य में महावीर भवन लक्ष्मी बाजार में गुरुणी सोहनकंवर का 96 वां जन्म जयंति समारोह बुधवार को गुणस्मरण तथा तप-त्याग के साथ मनाया गया।

आचार्य महाश्रमण की आज्ञानुवर्तिनी शासनश्री गुणमाला म.सा की सुशिष्याएं शासनश्री नव्यप्रभा एवं प्रेक्षाश्री का कार्यक्रम में पदार्पण हुआ। कार्यक्रम की शुरूआत मंगलाचरण तथा स्वागत गीत से हुई। साध्वी कमलप्रभा ने गुरुणी गुणस्मरण करते हुए गुरुणीमैया के जीवन वृतांत पर प्रकाश डाला। साध्वी श्री ने कहा कि गुरुणी सोहन धर्म के क्षेत्र में वीर योद्धा की तरह कर्म शत्रुओं से क्षमा और मैत्री के बल पर मुकाबला करते रहे। गुरुणी धर्म और कर्म दोनों ही क्षेत्रों में शूरवीर थे। गुरुणीमैया में सरलता सादगी और सौम्यता का त्रिवेणी संगम था। गुरुणीमैया का स्नेह वात्सल्य अपार था। प्रत्येक दर्शनार्थी बंधु आपके दर्शन कर अपने आप को धन्य मानता था क्योंकि आपकी मांगलिक में बहुत चमत्कार था। आपका दयाभाव, क्षमा, मैत्री, जीवदान, मानवसेवा, अभयदान पर ज्यादा प्रभाव था। साध्वी सुदर्शनप्रभा ने कहा कि गुरुणीमैया हमेशा स्वाध्यायरत रहने की प्रेरणा देते थे। साध्वी नव्यप्रभा एवं प्रेक्षाश्री ने कहा कि महापुरुषों के गुणगान करने से अपने कर्मों की निर्जरा होती है। साध्वी सोहनकंवर ने भी अपने तपोबल से जीवन को निखारा था। साध्वी मणिप्रभा ने गुरुणीमैया के गुणों को गीतिका के माध्यम से प्रस्तुत किया। साध्वी लब्धिप्रभा ने कहा कि दादगुरुणी ने भर यौवन मे संयम जैसे कंटकाकीर्ण मार्ग को अपनाकर अपना सम्पूर्ण जीवन धर्माराधना में लगा दिया। दादगुरुणी का अनूठा संयोग था। कि कुचेरा ही उनकी जन्म, शिक्षा, दीक्षा और मोक्ष भूमि रही। उनके द्वारा बनायी गयी सूत की माला सम्पूर्ण श्रमण वर्ग में प्रसिद्ध थी। दादगुरुणी मैया की मेवाड़ भूमि पर भी अटूट कृपा थी। समारोह में 21 लक्की ड्रा पारसमल, दिनेश बाबेल परिवार की तरफ से निकाले गये। मंच का सफल संचालन सम्पतराज गुगलिया ने किया। संघ मंत्री राकेश हिरण ने बताया कि साध्वीवृंद के आगामी चातुर्मास के लिए उतर गुजरात महासंघ ने वलसाड़, खेड़ब्रह्मा आदि क्षेत्रों ने विनतीयां की। समारोह अध्यक्ष कंवरलाल सूर्या ने साध्वीवृंद से फतेहनगर गुरु अम्बेश नमन यात्रा में पधारने की विनती की। राजाजी का करेडा़ और आमेट बालिका मंडल ने भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। समारोह के पश्चात गौत्तम प्रसादी शाँतिलाल, कैलाशचंद, सुरेशचंद दक परिवार द्वारा रखी गयी। समारोह की शोभा बढ़ाने उत्तर गुजरात महासंघ,अहमदाबाद, राजाजी का करेड़ा, भीलवाडा़, आसींद, भीम, देवगढ़, कोशीथल, कांकरोली, जोधपुर, भीम, मोखुंदा, ब्यावर आदि अनेक क्षेत्रों से श्रद्धालुओं का आगमन हुआ। इस समारोह में कंवरलाल सूर्या, शाँतिलाल नाहर, गौत्तम बाफना, विनोद सूर्या, दिनेशकुमार सामर, बलवंत हिंगड़, देशबंधु हिंगड़, अमरचंद कोठारी, छित्तरमल बणवट, रतनलाल मारु, विजयराज कर्णावट, भगवतीलाल सूर्या, प्रमिला सूर्या, पुष्पा गोखरू, नीता बाबेल, पूजा बणवट आदि अनेक श्रावक-श्राविकाएं उपस्थित थे। कार्यक्रम का समापन संघ अध्यक्ष सुरेंद्र सूर्या के धन्यवाद ज्ञापित करने के पश्चात हुआ।

paliwalwani
● पालीवाल वाणी ब्यूरो- M. Ajnabee, Kishan Paliwal ...✍
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news लिखकर भेजें...
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...

Rangoli Compitition