Latest News
      1. अंकित जोशी ने दिखाया अपना दमदार प्रदर्शन-भारत को मिला कांस्य पदक      2. आमेट में स्वचछ भारत मिशन के तहत स्वच्छता ट्रेनिंग कोर्स मोबाइल पर      3. पालीवाल समाज देवगढ़ की डिजिटल बेटी भावना पालीवाल की दिल्ली तक चर्चा      4. सर्व ब्राह्मण समाज इंदौर के समाजसेवी श्री अशोक अवस्थी को विभिन्न संगठनों ने दी श्रद्वाजंलि      5. विश्व हिन्दू परिषद सामाजिक समरसता अभियान-शैक्षणिक परिवेश को विकसित करना होगा : हेमराज सिंधल      6. पालीवाल समाज के वरिष्ठ समाजसेवी श्री धुलीराम पुरोहित पंचतत्व में विलीन-किया पौधारोपण

एक दिवसीय बीज उत्पादन प्रशिक्षण सम्पन्न

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     21 Mar 2017 1:16 AM

राजसमंद। कृषि विज्ञान केन्द्र राजसमन्द (महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर) द्वारा सह निदेशक अनुसंधान बीज एवं फार्म द्वारा बीज परियोजना में एक दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण जायद एवं खरीफ फसलों के बीज उत्पादन पर हुई जिसमें किसान अपने स्तर पर कैसे बीज उत्पन्न कर सकता हैपर जोर दिया गया। प्रशिक्षण में बीज उत्पादन तकनीक, आईसोलेशन दूरी, बीज प्रमाणीकरण की विधि तथा प्रमाणीकृत बीज उत्पादन करनें के विभिन्न सोपानों पर जानकारी दी। प्रषिक्षण के बाद किसानों को कृषि विज्ञान केन्द के बीज उत्पादन फार्म का भ्रमण कराया गया। कार्यक्रम कृषि विज्ञान केन्द्र के मृदा वैज्ञानिक डा. मनी राम के निर्देषन में सम्मपन्न हुआ। केन्द्र की गृह वैज्ञानिक डा. उर्वर्षी नान्दल ने सब्जियों के बीज प्रौद्योगिकी के बारे में किसानों को अवगत कराया गया तथा फल एवं सब्जियों का उचित चुनाव कर अधिक लाभ कमाने की तकनीक बताई। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं हेड डॉ. आरपी मीणा ने की। मीणा ने कृषि कार्यो एवं बीज उत्पादन में नयी तकनिकी के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर भारत सरकार की बीज गॉव योजना की किसानो को जानकारी दी गयी तथा गॉव स्तर पर ही किसानों को बीज उत्पादन करनेें पर जोर दिया गया। मृदा वैज्ञानिक डा. मनी राम ने आभार व्यक्त किया।
 राजसमंद। कृषि विज्ञान केन्द्र में आयोजित एक दिवसीय बीज उत्पादन प्रशिक्षण में भाग लेते किसान। फोटो-सुरेश भाट