Breaking News

राजसमन्द / पालीवाल समाज देवगढ़ की डिजिटल बेटी भावना पालीवाल की दिल्ली तक चर्चा

पालीवाल समाज देवगढ़ की डिजिटल बेटी भावना पालीवाल की दिल्ली तक चर्चा
M. Ajnabee, Kishan Paliwal ... ✍ July 20, 2019 02:11 PM IST

सीएससी दिवस के स्थापना दिवस पर आयोजित महिला वीएलई के राष्ट्रीय स्तर के समारोह में भावना को मिला मंच राजस्थान वीएलई बन किया राजस्थान का प्रतिनिधित्व

देवगढ़। पालीवाल ब्राह्मण समाज देवगढ़ नगर की डिजिटल बेटी भावना महेश पालीवाल को दिल्ली में आयोजित सीएससी दिवस के स्थापना दिवस पर आयोजित महिला वीएलई राष्ट्रीय स्तर समारोह में मिला मंच। समारोह में डॉ रवि शंकर प्रसाद संचार, इलेक्‍ट्रानिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी और विधि एवं न्‍याय मंत्री, धर्मेन्‍द्र प्रधान पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय इस्पात मंत्रालय मंत्री, संजय शामराव धोत्रे केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री तथा सूचना तकनीकी राज्यमंत्री दिनेश त्यागी, सीएससी सीईओ अजय साहनी, सचिव सूचना एवं प्रौद्योगिकी भारत सरकार एवं राजस्थान के प्रतिनिधित्व के रूप में विलेज लेवल इंट्रप्रेन्योयोयर भावना महेश पालीवाल मंच पर सीएससी के मार्गदर्शिका का विमोचन किया। दिल्ली के श्रीरी फोर्ट आडोटोरियम में आयोजित इस समारोह में देश के सभी राज्यों से 2000 महिला वीएलई ने भाग लिया।

अगले पांच साल में सीएससी तीन लाख करोड़ रुपये मूल्य का कारोबारी लेनदेन करें- रविशंकर प्रसाद

सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने साझा सेवा केंद्रों (सीएससी) से अगले पांच साल में तीन लाख करोड़ रुपये मूल्य के कारोबारी लेनदेन का लक्ष्य रखने का आह्वान किया है। प्रसाद ने सीएससी दिवस समारोहों को संबोधित करते हुए कहा मैं चाहता हूं कि अगले पांच साल में सीएससी तीन लाख करोड़ रुपये मूल्य का कारोबारी लेनदेन करें।

 श्री महेश पालीवाल की हम सफर भावना पालीवाल कैसे बनी देवगढ़ की डिजिटल मॉडल

पालीवाल समाज ब्राह्मण की बस्ती आमेट चारभुजा स्टेशन से सन 2010 में देवगढ़ के रोल मॉडल श्री महेश पालीवाल के साथ ब्याह कर आई भावना पालीवाल के मन में दूसरों के लिए कुछ करने का सपना संजोएं बैठी थी...उसके मन में बहुत कुछ करने के लिए मन में विचार उत्पन्न हो रहे थे...इसी को लेकर मन विचलित हो रहा था...में ब्याह कर देवगढ़ तो आ गई...क्या मुझे मेरे सपने साकार होगे या घूट...घूट मेरे सारे सपने ध्वस्त हो जाएगे...उसने अपने मन की सारी बातें अपने पति ओर सुसराल वालों को बताई...पहले तो कुछ कदम पीछे किए...लेकिन बेटियों को मान-सम्मान देने की बात आई तो पालीवल परिवार ने फिर कभी पीछे मुड़़कर नहीं देगा...हर कदम...अपनी बहु की तमाम इच्छाएं पूरी करते गए...उसके सपने साकार करने में महेश जी साथ देते हुए कदम से कदम मिलाकर महिलाओं के हित में होने कार्य अपने हाथों में लेकर कस्बे की मातृशक्तियों के लिए आत्मनिर्भर बनाने के लिए...उनको वो हर हुनर सीखए जाने लगे जो उनके जीवन में जरूरी था...आज भावना महेश पालीवाल देवगढ़ ही नहीं राजस्थान तो छोड़ो संपूर्ण भारत में विकास का मॉडल बनकर पालीवाल समाज का नाम ओर परिजनों का नाम गौरवान्वित करने में कई मिलों तक आगे पहुंच गई।

कई वर्षों से मातृशक्तियों को आत्मनिर्भर बनाने का सतत् प्रयास किए

भावना पालीवाल द्वारा पिछले कई वर्षों से स्त्री स्वाभिमान के तहत स्वस्तर पर 3500 महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास किये गए, जिनमे उन्हें कई प्रकार के स्किल कोर्स का संचालन कर उन्हे हूनर का मंच प्रदान किया। ग्रामीण स्तर पर भावना पालीवाल द्वारा सेनेटरी नेपकिन, बेटी बचाओ, बाल विवाह, पर्यावरण संरक्षण, बेटियां है अनमोल, प्रधानमंत्री ग्रामीण साक्षरता योजना सहित कई क्षेत्र में सरहानीय कार्य किये जा रहे है। एक छोटे से कस्बे से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर पालीवाल ने कई संघर्ष किये है। मात्र 1 सदस्य से शुरुवात करने वाली भावना पालीवाल के महिला मंडल 100 सदस्यों की टीम है। वर्तमान में पालीवाल कैरियर महिला मंडल की संरक्षक ओर भारत विकास परिषद देवगढ़ की महिला प्रमुखा है। वीएलई भावना पालीवाल ने पालीवाल वाणी को बताया कि देश के सभी भागों से आई विलेज लेवल एंटरप्रेन्योर के बीच राजस्थान वीएलई के प्रतिनिधित्व करना गौरव का क्षण है। ओर आज के समय में महिलाओं को बंदिनी बनाकर नही रखना चाहिए बंद दरवाजो को खोलकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने को आवश्कयता है।
पालीवाल वाणी ब्यूरो-M. Ajnabee, Kishan Paliwal ...✍
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news नाम/पता/गांव/मोबाईल नंबर/ लिखकर भेजें...
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...

RELATED NEWS