Breaking News

मुम्बई / खतरनाक पहाड़ी पर चढ़ कर मेवाड़ के युवा ने किया बिल का समर्थन...देशभक्त भरत दवे की हो रही सराहना

खतरनाक पहाड़ी पर चढ़ कर मेवाड़ के युवा ने किया बिल का समर्थन...देशभक्त भरत दवे की हो रही सराहना
Sunil paliwal-Anil bagora January 05, 2020 01:07 AM IST

मुबंई। (मनीष पालीवाल की कलम से) देश में हाल ही में लागू नागरिक संशोधन बिल के विरोध व समर्थन के दौर में राजस्थान के मेवाड़ मुल के एक युवा ने अनोखे तरीके के इस बिल का समर्थन करते हुए देश भक्ति की अनुठी छाप छोड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार राजसमंद जिले की नाथद्वारा तहसील के भैंसाकमेड गांव के मुल निवासी व यहा मुबंई में योगा टिचर के रुप में कार्यरत, योगी भरत दवे ने बिल के समर्थन में महाराष्ट्र के सबसे दुर्गम व खतरनाक समझे जाने वाले वजीर शुल्क (वसिंद गांव) पहाड़ी पर चढ़ कर बिल का समर्थन किया है। पहाड़ी पर पहुंचेंगे के बाद भरत दवे ने भारतीय झंडा फहराया और बकायदा एक विडियो बनाकर बिल के समर्थन में देश के युवाओं से मार्मिक अपील की। भरत दवे द्वारा देश हित में किए गए इस कार्य की सूचना सोशल मीडिया पर जैसे ही में अपने परिचितों को मुंबई की तो तेजी से उसका विडियो वायरल होते ही प्रशांसको ने भरत दवे को बधाइयां देने वालों का तांता लग गया। कई लोगों ने भरत दवे के इस कार्य की सराहना करते हुए उसे सच्चा देशभक्त बताया। समुद्र तल से 2500 फीट की ऊंचाई पर स्थित इस पहाड़ी पर पहुंचेंने के लिए भरत दवे ने पहले सह्याद्रि पर्वत मालाओं के पहाड़ों में ट्रैकिंग करते हुए लगभग दो घंटे के समय में पहाड़ी के आधे रस्ते की दुसरी तय की। उसके बाद महाराष्ट्र की दूसरी सबसे कठिन चट्टान 280 फीट सीधी वजीर शुल्क की चढ़ाई की लंबे प्रयास के बाद वह उपर पंहुचने में कामयाब करे। इस दौरान दो बार ऐसे मौके भी आए तब उनके साथ हादसा होता-होतो बचे। विदित हो की चट्टान की खडी खतरनाक चढ़ाई, के कारण यहा कई पर्वतारोहीयो की गिर कर दर्दनाक मौत हो चुकी है। भरत दवे ने कहा कि बिल के समर्थन मे वह कुछ खास करना चाहते थे ताकी हमारे युवा पीढ़ी को यह संदेश जाए की यह बिल देश विरोधी नही देश हित में है। इसी वजह से उन्होंने पहाड़ की सबसे चोटी पर पहुंच कर अपनी बात दुनिया के सामने रखने की ठानी और इस तरह अपने मित्र भाविक शाह के साथ टीम बनाकर यह लक्ष्य हासिल किया। भरत दवे के अनुसार जब ठान ही लिया था तो फिर इसे रोक पाना खुद के लिए भी मुश्किल था। लेकिन जब ऊपर पहुंचे तो लगा दुनिया जीत ली, मुझे यकीन नहीं होता कि मैने ये कर दिखाया। अपनी इस सफलता में भरत दवे का मानना है कि योग अभ्यास की वजह से यह संभव हो सका है। वह कहते हैं कि योग इंसान को शरीर और दिमाग से इतना प्रबल बनाता है कि आप मुश्किल से मुश्किल काम करने में सफल होते है। 2 साल की योग प्रैक्टिस और भारत सरकार मान्यता प्राप्त योगा टीचर बनने के बाद ये पहला कठिन और सफल मुकाम था। भरत दवे के अनुसार देश में नागरिकता संशोधन कानून का कुछ लोग बिना सोचे समझे विरोध कर रहे हैं। हमारे देश की संपत्ति को नुकसान पहूँचा रहे हैं। यह गलत है भरत दवे के अनुसार हमनें देश हित में बने कानून का एक सकारत्मक रुप से समर्थन करने का निर्णय लिया। देश की युवा शक्ति को जागरुक करने एवं देश के युवाओं को संदेश देने का प्रयास किया कि आप समर्थन करो य़ा विरोध पर दोनों ही स्थिती में राष्ट्र सर्वोपरी होना चाहिये।

paliwalwani

!! आओ चले बांध खुशियों की डोर...नही चाहिए अपनी तारीफो के शोर...बस आपका साथ चाहिए...समाज विकास की ओर !!

● पालीवाल वाणी ब्यूरो- Sunil paliwal-Anil bagora...✍️

🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news लिखकर भेजें...

🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Email- paliwalwani2@gmail.com

09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406

● एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...

● नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...

RELATED NEWS