Breaking News

इंदौर / इंदौर शहर में अवैध होस्टल कैसे संचालित हो रहे है-जिम्मेदारों की हो सम्पति जब्त

इंदौर शहर में अवैध होस्टल कैसे संचालित हो रहे है-जिम्मेदारों की हो सम्पति जब्त
Sunil Paliwal...✍ August 05, 2019 01:32 AM IST

गीता भवन क्षेत्र के आस-पास अनेक अवैध होस्टलों पर निगम की नजर-मचा हड़कंच

इंदौर। अवैध निर्माणों के लिए इंदौर भी नंबर वन इस लिए बन गया है कि उसके लिए भी निगम के जिम्मेदारों की नैतिक जिम्मेदारी है। शहर में बड़े पैमाने पर रहवासी क्षेत्रों में अवैध होस्टल संचालित हो रहे हैं। इसके पीछे भी निगम के आला अफसरों की मेहरबानी होती है।

लेकिन कांग्रेस के शासन में अब इन होस्टलों की सूची तैयार कर उन्हें जमींदोज करने का काम निगम को शीघ्र शुरू करना पडेगा। रहवासी क्षेत्रों में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति कैसे मिली इस पर भी सवालिया निशान लगने लगे हैं। शहर के कनाडिया, सपना संगीता सहित गीताभवन क्षेत्र में संचालित 280 से ज्यादा होस्टलों की शिकायत नगरीय प्रशासन मंत्री श्री जयवर्धनसिंह तक पहुंचने के बाद निगम के भष्ट अधिकारियों में हड़कंप मच गया। लेकिन एक दो अवैध होस्टलों पर वैधानिक कार्यवाही के बाद एक बार फिर मुहिम रूक जाएगी। अवैध होस्टल कैसे संचालित हो रहे है उन जिम्मेदारों की सम्पति जब्त कर उनके खिलाफ कानुनी कार्यवाही की जाना चाहिए, इस शहर में लोग आराम से जी सके।

अवैध होस्टल कैसे संचालित हो रहे है-जिम्मेदारों की हो सम्पति जब्त

शिकायत के अनुसार पुराने निर्माणों को नगर निगम भले ही कंपाउंडिंग करके वैध कर दे, लेकिन नए होस्टल या निर्माणाधीन होस्टलों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई होना चाहिए, जिससे निगम परहेज कर रहा है। कई शिकायतकर्ता के अनुसार, शांतिनगर के होस्टल उदय, सजनश्री, मंगल होस्टल, सेवा सरदार नगर के डलसी डोम, मायादेवी, कैलाश पार्क कालोनी के भाग्यश्री गर्ल्स होस्टल, भाग्यलक्ष्मी गर्ल्स होस्टल, समर्थ होस्टल, संस्कार होस्टल, मनोरमागंज स्थित तिरुपति होस्टल, महावीर परिहार होस्टल सहित आसपास जितने भी होस्टल हैं, उनकी अनुमति संबंधी दस्तावेजों की जांच किसी जांच एजेंसी से होना चाहिए। गीताभवन, बख्तावरराम नगर, लालाराम नगर सहित गीताभवन क्षेत्र में जो भी नए होस्टल बने हैं या बन रहे हैं उनके खिलाफ कार्यवाही की जाना चाहिए। इस क्षेत्र में 135 से अधिक होस्टल संचालित हो रहे हैं। लोगों ने अपने घरों में होस्टल बना दिया है। व्यावसायिक उपयोग हो रहा है। बिना किसी अनुमति के, इस तरह का नियंत्रण नहीं है।
● पालीवाल वाणी ब्यूरो-sunil paliwal ...✍
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news नाम/पता/गांव/मोबाईल नंबर/ लिखकर भेजें...
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...

RELATED NEWS