देश-विदेश

टोरंटो पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरते ही गायब हुआ 1 अरब 23 करोड़ रुपये का सोना

Paliwalwani
टोरंटो पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरते ही गायब हुआ 1 अरब 23 करोड़ रुपये का सोना
टोरंटो पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरते ही गायब हुआ 1 अरब 23 करोड़ रुपये का सोना

कनाडा :

एक इंटरनेशनल एयरपोर्ट (International Airport) से चोरी की हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां सोने (Gold) से भरा का एक बड़ा कंटेनर गायब हो गया. इस कंटेनर में 1 अरब 23 करोड़ रुपये से अधिक कीमत का सोना था. मामले को लेकर एक जांच अधिकारी ने बताया कि कार्गो में सोना आया था. लेकिन टर्मिनल से ही गायब हो गया, जिसका खुलासा अनलोडिंग के वक्त हुआ.

‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना कनाडा के टोरंटो पियर्सन इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Toronto Pearson International Airport, Canada) की है. इसको लेकर इंस्पेक्टर स्टीफन डुइवेस्टिन (Inspector Stephen Duestein) ने बताया कि पियर्सन एयरपोर्ट पर 17 अप्रैल को सोने से भरा एक कंटेनर आया था. लेकिन जब इसे अनलोड करने की बारी आई, तो ये गायब था.

कब और किसने गायब किया, पता नहीं

इंस्पेक्टर स्टीफन ने कहा कि कंटेनर के एयरपोर्ट पर आने तक इसे देखा गया था. लेकिन जब प्लेन को अनलोड किया गया, तब अचानक इसके मिसिंग होने की खबर आई. इसे कब और किसने गायब किया, पता नहीं चल सका. फिलहाल, जांच जारी है. स्टीफन ने यह नहीं बताया कि सोना कहां से आया था और कहां के लिए जा रहा था.

‘टोरंटो सन’ ने बताया कि हो सकता है सोने को उत्तरी ओंटारियो की एक खदान से बैंकों के लिए टोरंटो भेजा गया हो. इस चोरी के पीछे संगठित आपराधिक गिरोह हो सकते हैं. चोरी की ऐसी वारदात पहले कभी नहीं देखी गई. हालांकि, स्थानीय प्रशासन द्वारा इस घटना को विमान यात्रियों की सुरक्षा से जोड़कर नहीं देखने की बात कही गई है.

चोरी की ऐसी ही एक घटना 2019 में ब्राजील से सामने आई थी. तब साओ पाउलो शहर के ग्वारुलहोस एयरपोर्ट में आठ हथियारबंद बदमाशों ने पुलिस अधिकारियों के भेष में एंटर किया था और करीब 2 अरब रुपये का सोना लूटकर फरार हो गए थे. इस सोने को अमेरिका के न्यूयॉर्क और स्विट्ज़रलैंड के ज्यूरिख भेजा जाना था. पूरी वारदात को महज 3 मिनट में अंजाम दिया गया था. बदमाश दो नकली पुलिस वैन में सवार होकर आए थे. उन्होंने एयरपोर्ट के गार्डों को बंधक बनाकर सोना चुराया था, वो भी बिना गोली चलाए.

इंस्पेक्टर ने कहा- ये अनोखा केस

जांच कर इंस्पेक्टर डूइविस्टन ने इस मामले को अनोखा बताया है। हालांकि उन्होंने कहा कि वे जांच पूरी होने तक यह नहीं बता सकते कि कार्गो किस कंपनी का था और कौन सी एयरलाइन से लाया गया था और इसका वेट कितना था।

इस मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस को इसके पीछे किसी बड़े गैंग का हाथ होने का शक है। यह गैंग कनाडा में है या नहीं, यह भी पता नहीं चल पाया है, न कोई बड़ा सुराग हाथ लगा है।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
GOOGLE
Latest News
Trending News