Latest News
      1. 24 श्रेणी पालीवाल समाज के आराध्य श्री चारभुजानाथ मंदिर में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ ध्वजा चढ़ाई      2. 24 श्रेणी पालीवाल समाज के आराध्य श्री चारभुजानाथ मंदिर में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ ध्वजा चढ़ाई      3. ब्रह्मलीन श्री गोपाललाल पानेरी स्मृति संस्थान के सम्मान समारोह में कई समाजसेवी हुए सम्मानित      4. श्रीमति हीरामणी व्यास-अंस्थि संचय कार्यक्रम आज      5. मेवाड़ के हरिद्वार मातृकुंडिया में तीन करोड़ 75 लाख की लागत से हुआ पैनोरमा का निर्माण पूर्ण      6. मेनारिया समाज के वरिष्ठ समाजसेवी श्री खुमानलाल मेहता का निधन-शवयात्रा कल 10 बजे

बंदूक की धौंस दिखाने वाले कटारिया के सिपहसालार पर विप्र हुए उग्र-सर्व ब्राह्मण समाज का कलेक्ट्री पर उग्र प्रदर्शन

Lalit Menaria (Mehta)     Category: उदयपुर     13 May 2019 (7:38 PM)

● भाजपा के मदनलाल सैनी से बच गए पर विप्रों के मदन लाल मेनारिया पर फँस गए भाजपा कार्यालय मंत्री
● 307 के अपराधी को 151 में जमानत देने के विरोध में और बंदूक का लाइसेंस निरस्त करने की मांग
● नमो विचार मंच के रतलिया अपनी विप्र टीम के साथ डटे रहे...।
● विप्र फाउंडेशन के बैनर से ब्राह्मणों ने दिखाई ताकत...।
● पूर्व पार्षद सुशील जैन काम नहीं कारनामे ही करता है...।
● ज्ञापन देने 52 प्रकार के ब्राह्मण समाज प्रतिनिधि पहुँचे...।
● सात दिन में करो कठोर कार्यवाही...वरना उग्र आंदोलन होगा...।
● पालीवाल वाणी ब्यूरो-ललित मेनारिया (मेहता)की कलम से...✍

उदयपुर। एक सामाजिक कार्यक्रम में मेनारिया ब्राह्मण समाज एवं कोहिनूर साउंड सं्चालक मदन मेनारिया पर प्राणघातक हमले के आरोपी पूर्व पार्षद सुशील जैन को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर कलेक्ट्री पर प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि सुशील जैन ने शनिवार रात एक वाटिका में महिला संगीत कार्यक्रम के दौरान अपना साउंड रात्रि 10 बजे बंद करने वाले संचालक मदन मेनारिया पर जानलेवा हमला करते हुए मदन को फेंट से मारा जिससे उनकी आंख फूटते-फूटते बची और आंख के पास सात टाँके आए। इस दौरान भाजपा कार्यलय मंत्री और पूर्व सवृत पार्षद सुशील जैन ने संचालक मदन को डराकर 10.30 बजे तक साउंड और चलवाया। फिर बंद करने पर पिस्तौल की धौंस दिखाकर सुशील जैन ने मदन मेनारिया की आंख पर फेंट से मुक्का मारा जिससे आंख तो बच गई परंतु मदन की आंख के पास सात टाँके आए। सुशील बार-बार दोहराते रहे कि वे गुलाब चंद कटारिया के खास आदमी है और पुलिस उनका कुछ नही बिगाड़ सकती। हिरण मगरी थाने में शिकायत के बाद पुलिस ने सुशील जैन एवं रुचिर जैन को रात को ही गिरफ्तार कर लिया। आधी रात को मेनारिया ब्राह्मण समाज के सैंकड़ो लोगो ने थाने को गैर लिया और दबाव बनाकर मुकदमा दर्ज करवाकर ही दम लिया। लेकिन राजनैतिक हस्तक्षेप की पराकाष्ठा उस समय देखने को मिली जब अपराधी सुशील जैन के बचाव में शहर के प्रथम नागरिक महापौर चंद सिंह कोठारी आधी रात में एक और पार्षद को लेकर पहुँच गए। चर्चा थी कि वे कटारिया के निर्देश पर पहुँचे थे और सुशील को बचाने की चेष्टा कर रहे थे। परंतु मेनारिया ब्राह्मण समाज के लोगों के दबाव में वे कुछ नही कर पाए और दोनों वहाँ से मुंह लटकाए लौट गए। रविवार को कोर्ट खुली और सुशील की जमानत हो गई क्योंकि तब तक मेडिकल रिपोर्ट नहीं आई। सुशील को शांति भंग के आरोप में धारा 151 में पाबंद करके छोड़ दिया।

● विप्र फाउंडेशन के बैनर से ब्राह्मणों ने दिखाई ताकत

रविवार को विप्र फाउंडेशन ने आपात बैठक बुलाई और प्रदेश अध्यक्ष के के शर्मा के नेतृत्व में सर्व ब्राह्मण समाज ने सोमवार को कलेक्टर और एस पी को ज्ञापन देने की योजना बनाई। सोमवार प्रातः 11 बजे नियत समय पर ब्राह्मण समाज के लोग एकत्रित होने लगे और देखते-देखते सैंकडों की संख्या में समाजजनों का हुजूम लग गया। कलेक्ट्री को पहले ही सिपाहियों की तैनाती कर छावनी बना दिया था। इस दौरान सुशील जैन से अधिक निशाने पर गुलाब चंद कटारिया रहे। लोग कटारिया मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। माना जा रहा है कि कटारिया द्वारा राजनैतिक संरक्षण मिलने से ही सुशील के हौंसले बुलंद है बाकी अपने दम पर तो वह कभी हवाई फायर भी नही कर पाया। ज्ञापन के दौरान ब्राह्मण समाज आक्रोशित नजर आया और हत्या के प्रयास में मामला दर्ज करने और सुशील की बंदूक का लाइसेंस रद्द करने पर अड़ गया। घंटों की मशक्कत के बाद कलेक्ट्री के बाहर डटे आक्रोशित ब्राह्मणों को सात दिन में समाज जन की सभी मांगे पूर्ण करने के आश्वासन के बाद ही विप्र वहाँ से हटने को राजी हुए।

● नमो विचार मंच के रतलिया अपनी विप्र टीम के साथ डटे रहे

बंदूक का लाइसेंस निरस्त करवाने और मदन मेनारिया पर हमला करने के आरोप में बुरे फँसे सुशील के खिलाफ प्रवीण रतलिया भी आ डंटे। रतलिया ने आरोप लगाया कि ऐसे आदतन अपराधी राजनैतिक संरक्षण से बचे हुए हैं। हर बात बंदूक से करने वाले गुंडे से शहर की जनता में भय है और यह भी भय है कि कहीं कोई उसकी बंदूक से उंसे ही न मार दे। ज्ञापन देने के लिए युवाओं को नही आने देने पर भी रतलिया आग बबूले हो गए। रतलिया और सुशील का पुराना मामला प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी की गाड़ी के शीशे फोड़ने से जुड़ा है। तब सैनी द्वारा रतलिया को भाजपा कार्यालय लाने से ही सुशील ने गोली मारने की धमकी दी थी।

● पूर्व पार्षद सुशील जैन काम नहीं कारनामे ही करता है

बंदूक वाले नेता के नाम से कुख्यात सुशील जैन यों तो भाजपा में जिला कार्यलय मंत्री है पर वो काम कम और कारनामे अधिक करता है। जुलाई 2018 में अरबन महिला समृद्धि बैंक चुनावों में सुशील ने उदयपुर के पूर्व उप सभापति वीरेंद्र बापना को कहा था गोली मार दूँगा। फरवरी 2019 में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी को ऐसे ही दौर से गुजरना पड़ा पर राजनैतिक संरक्षण से वह बचता रहा। इस बार टक्कर एक साधारण व्यक्ति से हुई और निर्दोष के लिए समाज उमड़ पड़ा।

● मेनारिया ब्राह्मण समाज ने सुशील को भाजपा से निष्कासित करने की मांग

मेनारिया ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष बद्रीलाल मेनारिया और ग्राम सभा अध्यक्ष चिरवा मोहन मेनारिया ने भाजपा जिलाध्यक्ष रवींद्र श्रीमाली से अपराधी प्रवृत्ति के सुशील को भाजपा से तुरंत प्रभाव से निष्कासित करने की मांग की है। साथ ही चेतावनी दी कि भाजपा से नहीं हटाया तो ब्राह्मण समाज नगर निगम चुनाव में अपनी ताकत दिखा देगा।

● कटारिया जी धन्यवाद के पोस्टर हुए वायरल

सोशल मीडिया पर सुशील जैन द्वारा कटारिया जी धन्यवाद के पोस्टर वायरल हो रहे हैं। इसमें सुशील जैन कटारिया जी को इस बार भी बचा लेने और सिर्फ धारा 151 लगाकर छोड़ देने के लिए उन्हें धन्यवाद दे रहा है। सुशील आगे कह रहा है कि आपके निर्देशानुसार ही वह सात दिन के लिए गोवा जा रहा है और तब तक उनकी बंदूक के लाइसेंस का ख्याल रखने की विनती और कर रहा है।

● ज्ञापन देने 52 प्रकार के ब्राह्मण समाज प्रतिनिधि पहुँचे

जिनमें सर्वश्री के के शर्मा, हिम्मतलाल नागदा, भगवान मेनारिया, दिनेश श्रीमाली, अर्चना शर्मा, पूर्व पार्षद राजकुमारी मेनारिया, नरेंद्र पालीवाल, एडवोकेट में भरत जोशी, अनिल पालीवाल, वैभव आमेटा, ललित मेनारिया आदि व मुकेश जोशी, प्रदीप श्रीमाली, कैलाश पालीवाल, कन्हैयालाल मेनारिया, प्रमोद मेनारिया, मुकेश मेनारिया, प्रताप मेनारिया, जगदीश पालीवाल, अभिजीत शर्मा, भरत जोशी, मुकेश मेनारिया, हार्दिक मेनारिया, मोहन मेहता, अनूप औदीच्य, यश जोशी और वन्दे मातरम ग्रुप के ओम मेनारिया आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।

● सात दिन में करो कठोर कार्यवाही...वरना उग्र आंदोलन होगा

संवेदनशील मामला है जिसमें पीड़ित की आंख फुट सकती थी। आंख के नीचे चोट लगी है जो कि सिर्फ शांति भंग नहीं बल्कि हत्या का कुत्सित प्रयास है। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद 307 में हत्या के प्रयास में पुनः एफ आई आर दर्ज होगी। जनहित में ऐसे अपराधी प्रवृत्ति के लोगों का बंदूक का लाइसेंस निरस्त करने की मांग पर विप्र समाज अड़ा रहेगा। सात दिन में कार्यवाही में ढील रही तो ब्राह्मण समाज अन्य समाजों को साथ लेकर अब उग्र आंदोलन करेगा।
-के के शर्मा, प्रदेशाध्यक्ष विप्र फाउंडेशन राजस्थान
● पालीवाल वाणी ब्यूरो-ललित मेनारिया (मेहता)...✍
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news नाम/पता/गांव/मोबाईल नंबर/ लिखकर भेजें...
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
www.fb.com/paliwalwani
www.twitter.com/paliwalwani
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...