Latest News
      1. श्री पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर नवरात्री सांस्कृतिक महोत्सव का रंग चढ़ा परवान पर       2. निस्वार्थ भाव से दीन दुखियों की मदद करना ही सच्ची मानव सेवा : श्री साईं ज्योति फाउंडेशन      3. निस्वार्थ भाव से दीन दुखियों की मदद करना ही सच्ची मानव सेवा : श्री साईं ज्योति फाउंडेशन      4. केलवा में श्री अंबा माताजी का नवरात्रि जागरण सातम 16 अक्टूबर को      5. श्री अंबा माताजी के नवरात्रि जागरण का कार्यक्रम 16 अक्टूबर को-सपरिवार सादर आमंत्रित      6. कुंवारिया मेले में उमड़े मेलार्थी-विशाल भजन संध्या भौंर तक जमे दर्शक

श्री लोकेशांनंद महाराज का पालीवाल समाज ने किया स्वागत

Mahaveer Vyas     Category: उदयपुर     24 Jan 2018 (12:24 PM)

उदयुपर। पालीवाल ब्राह्मण समाज संस्था उदयपुर की ओर से अध्यक्ष डॉक्टर भंवरलाल हीरावत के नेतृत्व में पालीवाल समाज बंधुओं ने परम आदरणीय संत श्री लोकेशांनंद महाराज का मेवाड़ी पाग, उपरना व शाल ओढ़ाकर समाज की ओर से उदयपुर पधारने पर भव्य स्वागत किया। संत श्री लोकेशांनंद महाराज पालीवाल समाज के होकर मूलतः राजसमंद जिले के मूल निवासी होकर वर्तमान में इंदौर शहर में विराजते हैं तथा महाराज उदयपुर में विष्णु पुराण का पाठ कर रहे हैं, आज अंतिम दिवस के अवसर पर समाज की और से उनका स्वागत अभिनंदन किया।
स्वागतकर्ता में सर्वश्री अध्यक्ष डॉक्टर भंवरलाल हीरावत, बड़गांव पंचायत समिति प्रधान खूबीलाल पालीवाल, उपाध्यक्ष मनोहर पालीवाल, संगठन मंत्री दिनेश पालीवाल, कालूलाल पालीवाल, नाथूलाल पालीवाल, पुष्पेंद्र पालीवाल, सुरेंद्र पालीवाल, श्यामलाल पालीवाल, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष प्रेमलता पालीवाल, उपाध्यक्ष उषा पालीवाल, कुसुम पालीवाल, पुष्पेंद्र पालीवाल, नवयुवक मंडल अध्यक्ष शैलेंद्र पालीवाल, संयुक्त सचिव देवांशु पालीवाल एवं समस्त समाज बंधुओं ने स्वागत कर पुनः उदयपुर में भी पधारने का आग्रह किया। जिसे महाराज श्री ने सहर्ष स्वीकार आने का वादा किया। महाराज श्री ने पालीवाल बंधुओं सहित विश्व में कल्याण होने की सभी को शुभकामनाएं दी। नवयुवक मंडल संयुक्त सचिव देवांशु पालीवाल ने पालीवाल वाणी को जानकारी दी।
पालीवाल वाणी ब्यूरो-महावीर व्यास
आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए
E-mail.paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Paliwal Menariya Samaj Gaurav