Latest News
      1. आईडाणा की सुमन राव बनीं मिस इंडिया-संजना विज रहीं रनर अप      2. श्री हीरालाल देवपुरा राजकीय महाविद्यालय आमेट में 13 जुलाई को सामान्य ज्ञान परीक्षा      3. सात दिवसीय संगीतमय भागवत कथा बालोदा में प्रारंभ      4. पालीवाल समाज के श्री सेवाराम पालीवाल का निधन-अंतिम यात्रा आज      5. महिला की शिकायत पर कार्मिक विभाग सख्त-जांच भेजने के निर्देश से कलेक्टर में मचा हडकंप      6. पालीवाल समाज इंदौर की समाजसेविका श्रीमती विद्या देवी पुरोहित का दुखद निधन-अंतिम यात्रा 4 बजे

विश्व हिंदू परिषद सामाजिक समरसता अभियान संगोष्टी आयोजित-परशुराम ने फरसे से बदली समाज की दिशा : ओम पुरोहित

Devnarayan Paliwal...✍️      Category: राजसमन्द     07 May 2019 (7:13 PM)

● भगवान परशुराम का जन्मोत्सव मनाया श्रद्धा व हर्षोल्लास से
● विभिन्न समाजजनों ने दिया हिन्दु एकता का परिचय
● एकता के बिना इस दुनिया मे कोई उपलब्धि संभव नही है : विहिप

कांकरोली। विश्वहिंदू परिषद के सामाजिक समरसता अभियान के तहत कांकरोली स्थित द्वारकाधीश मंदिर के पास लाल बंगला पर 7 मई को भगवान परशुराम का जन्मोत्सव हिन्दू समाज की सभी जाति बिरादरी के प्रमुख गणमान्य लोगों द्धारा एकत्रित होकर विहिप के नगर अध्यक्ष ओम पुरोहित की अध्यक्षता में श्रद्धा व हर्षोल्लास से मनाया गया। परशुराम जैसे तप व बल के सामर्थय से ही दुनिया चल सकती है। उन्होंने तप बल के सामर्थ्य से अपने फरसे से देश समाज की दिशा बदली यह विचार विश्व हिंदू परिषद के नगर अध्यक्ष ओम पुरोहित ने व्यक्त किए उन्होंने बताया कि आज चारों और से हिन्दू संस्कृति पर आक्रमण हो रहा है। चाहे व्यक्तिगत रूप से अथवा किसी बैनर विशेष को लेकर हो पर आक्रमण जारी है। ऐसी परिस्थिति हम सामाजिक नेतृत्व कर्ताओं की जिम्मेदारी है। इन परिस्थितियों से समाज को बाहर निकाले तभी यह राष्ट्र आगे बढ़ेगा।

● राजनीति से ऊपर उठकर हिन्दू समाज की एकता की आवश्यकता : सुंदरलाल कुमावत

उक्त कार्यक्रम में भील समाज राजस्थान के सभापति गंगाराम भील ने कहा कि हिन्दू समाज में आ रही बुराइयों को कम करने व समाज को जागृत करने के लिए हम सब में पवित्र भाव को लेकर सामाजिक समरसता बनी रहे, इस विषय पर जोर दिया। कुमावत समाज के अध्यक्ष सुंदरलाल कुमावत ने कहा कि हमे संगठित होकर धर्म को बढ़ावा देना चाहिए। राष्ट्र के लिए राजनीति से ऊपर उठकर हिन्दू समाज की एकता की आवश्यकता है।

● समाज सनातनी है संगठित नहीं होने से नुकसान हुआ : प्रहलाद वैष्णव

वैष्णव समाज के अध्यक्ष प्रहलाद वैष्णव ने हिन्दू समाज की बढ़ती विखंडता पर चिंता जताते हुए कहा कि हमारा समाज सनातनी है संगठित नहीं होने से नुकसान हुआ है। वाल्मीकि समाज के मनीष छापरवाल ने बताया कि मुगलों व अंग्रेजो ने हिन्दू समाज की जातियों में वैमनस्य फैलाया है। अब हमें सजग व सावधान रहते हुए सकारात्मक चिंतन के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

● भगवान परशुराम के जीवन, बहुतेरे लोक आदर्श अद्भुत : योगेश पुरोहित

युवा ब्रह्मशक्ति मेवाड़ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेश पुरोहित ने कहा कि वर्तमान में दिग्भ्रमित भारत के लिए जिस साहसिक और सुदृढ़ नेतृत्व की दरकार महसूस की जाती रही है, उसमें भगवान परशुराम के जीवन चरित्र और शासकीय स्वभाव कई मायनों में उपयोगी समझे जाते हैं। क्योंकि उनके बहुतेरे लोक आदर्श अद्भुत हैं, अकल्पनीय हैं और अविस्मरणीय है।

● समकालीन अभिशप्त समाज को सभी संत्रासों से मुक्ति दी : गोविंद सनाढय

सनाढ्य समाज के गोविंद सनाढय ने बताया कि हिमालय में बनने वाले साम्राज्यों की यह अघोषित परम्परा रही है कि जब-जब वक्त और व्यक्तित्व सीमा से अधिक बेदर्द हुआ, अंतस ऊर्जा से ऊर्जान्वित और देश-काल-पात्र से प्रोत्साहित कोई न कोई सशक्त और शानदार नेतृत्व तैयार हुआ, जिसने समकालीन अभिशप्त समाज को उसके लगभग सभी संत्रासों से मुक्ति दी और प्रशंसनीय परशुराम-राज्य की संस्थापना करने की अथक कोशिश भी की।

● संस्कारों की कमी से धर्म संस्कृति को खतरा : श्याम चंदानी

सिंधी समाज के श्याम चंदानी ने कहा की संस्कारों की कमी से धर्म संस्कृति से धीर धीरे विमुख होने से जातीय भेदभाव बढ़ रहे है। आज हिन्दू समाज व संस्कृति जिन मुश्किल हालातों से गुजर रही है ऐसी स्थिति में हमारे जातीय नेतृत्व की उदार मन से परिपवक्ता आवश्यक है। विचार गोष्टि को इनके अलावा सनाढय समाज के गोविंद सनाढय, चारण समाज के रमेश सिंह चारण, जैन समाज के राकेश बडाला, अनिल खंडेलवाल ने भी संबोधित कर सनातन धर्म की हिन्दू संस्कृति को अपने जीवन मूल्यों मे अपनाने की बात कहते हुए विचारों को दृढ़ता से व्यक्त किया।

● समाजों के महापुरुषों के जन्मोत्सव हम मिलकर मनाएं: भगवतीलाल पालीवाल

विहिप के जिला सामाजिक समरसता प्रमुख भगवतीलाल पालीवाल ने कहा कि आने वाले सभी समाजों के महापुरुषों के जन्मोत्सव हम सभी सहभागी बनकर समाज की एकता का परिचय देते हुए मिलकर मनाए समरस समाज बनाने की आवश्यकता पर जोर दिया। आज भगवान परशुराम के जन्मोत्सव पर हमारी चर्चा से यह निष्कर्ष निकला है कि एकता जीवन के प्रत्येक चरणों मे सर्वोच्च और शक्तिमान है। एकता के बिना इस दुनिया मे कोई उपलब्धि संभव नही है। इस अवसर सर्वश्री समरस समाज के प्रबुद्ध नागरिक प्रकाश जोशी, चंद्रशेखर गोरवा, जीवनसिंह चारण, लोकेश श्रीमाली, अनिल व्यास, नृसिंह सनाढय, सत्यप्रकाश जांगिड़, जितेंद्र गायरी, तरुण साहू, देवेंद्र कुमावत, भवानी जोशी, तरुण सोनी, सहित कई गणमान्य जन मौजूद थे। उपरोक्त जानकारी जिला सामाजिक समरसता प्रमुख विहिप राजसमंद भगवतीलाल पालीवाल, पालीवाल समाज के युवा समाजसेवी, छात्र नेता श्री नीलेश पालीवाल ने दी।

paliwalwani

पालीवाल वाणी ब्यूरो-Devnarayan Paliwal...✍
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news लिखकर भेजें
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
www.fb.com/paliwalwani
www.twitter.com/paliwalwani
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...