Latest News
      1. विधिक सेवा सप्ताह का शुभारंभ पर कार्यक्रम आयोजित      2. अणुव्रत विश्व भारती की नवगठित निदेशक परिषद की बैठक सम्पन्न      3. भाजपा के वरिष्ठ नेता सत्तन ने इंदौर में दिया बयान-भाजपा में मचा भूचाल       4. पालीवाल समाज के तरुण व्यास पर हुआ प्राणघातक तलवार से हमला-पुलिस बचा रही है आरोपियों को      5. पालीवाल समाज ने अन्नकुट महोत्सव चारभुजा मंदिर परिसर में मनाया-उमड़ी भक्तों की भीड़      6. आज 24 श्रेणी पालीवाल समाज की प्रथम कब्बड्डी प्रतियोगिता

धूमधाम से मनाई शिवरात्रि- हर हर महादेव के जयकारों से गूंजे शिवालय

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     25 Feb 2017 (1:39 AM)

राजसमंद। महाशिव रात्रि पर्व को लेकर जिले भर के शिवालयों में भोले शिव शंकर...हर-हर महादेव... नम: शिवाय... बम-बम भोले के जयकारों की गूंज से चारो तरफ वातारण धर्ममय बना रहा। शहर सहित देहात में महाशिवरात्रि पर लगभग हर शिवालय में शुक्रवार को सुबह से देर रात तक भेले के दर्शनों के लिए भक्तों की कतारें लगी रही। महाशिवरात्रि का पर्व हर हर महादेव, ऊं नम: शिवाय- ऊं नम: शिवाय से गुंजाय मान के साथ धूमधाम एवं श्रृद्धा के साथ मनाया गया। शिवालयों में धार्मिक अनुष्ठान एवं अभिषेक का आयोजन किया गया। इस दौरान श्रृद्धालुओं ने शिव की विशेष पूजा-अर्चना के साथ ही भगवान शिव का दूध, दही, घृत, शहद एवं जल आदि से अभिषेक किया और शिवलिंग पर भंग, धतूरा, बिल्व-पत्र, पुष्पादि चढ़ाए गए। जिले के प्रमुख शिवालय रामेश्वर महादेव, कुन्तेश्वर महादेव फरारा, चौमुखा महादेव कांकरोली, चौमुखा महादेव राजनगर, ऊं कालेश्वर महादेव बालाजी नगर, बाटेश्वर महादेव, मंशापूर्ण महादेव, विश्वम्भर महादेव, सोमनाथ महादेव, काबरी महादेव, परशुराम महादेव, बेवर महादेव आदि स्थलों पर विधि-विधान से पूजा-अर्चना की गई। इस दौरान विभिन्न मंदिरों में श्री विग्रहों का मनोहारी श्रृंगार किया गया। शिवरात्रि के इस पावन पर्व पर मंदिरों में शिवलिंग सहित हनुमान, मां दुर्गा, गणेश, राधा-कृष्ण व राम-लक्ष्मण-सीता की मूर्तियों को विशेषरूप से श्रृंगारित कर पूजा अर्चना की गई। शाम को शिवालयों में भजन संध्या भी आयोजित हुई। कुंभलगढ़ के परशुराम महादेव मंदिर, वैरों का मठ, जरगा जी, फौजों का देवरा एवं धोलिया पर्वत पर भी विविध धार्मिक अनुष्ठान किए गए।

दर्शनों के लिए घण्टों तक इंतजार

जिला मुख्यालय से लगभग 12 किलो मीटर दूर स्थित फरारा गांव के कुन्तेश्वर महादेव के दर्शनों के लिए हजारों की तादात में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। यहां सुबह से ही मंदर के अंदर से लेकर लगभग दो किलो मीटर तक श्रद्धालुओं की लम्बी कतार लगी रही। श्रद्धालुओं को दर्शनों के लिए घण्टों तक इंतजार करना पड़ा। वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित रामेश्वर महादेव मंदिर में भोलेनाथ का विशेष शृंगार धराया गया। रामेश्वर महादेव विकास समिति द्वारा भक्तों के लिए पंक्तिबद्ध रूप से दर्शन के लिए विशेष व्यवस्था की गई। इसी प्रकार रेलमगरा क्षेत्र के जगपुरा मेवाती खेड़ा में बनास नदी तट पर स्थित समेलिया महादेव मंदिर पर भी विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। यहां सुबह से ही यहां शिव अभिषेक कार्यक्रम शुरू हुआ जो शाम तक जारी रहा। साथ ही मौके पर शिव महिम्र स्त्रोत, शिव माला आदि का पाठ करते हुए मंत्र जाप किए गए। मंदिर में सुबह से ही लोगों की लम्बी कतार लगी रही। कई घण्टों के इंतजार के बाद श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

मेले में रही भारी भीड़

फरारा में महाशिवरात्री पर कुन्तेश्वर महादेव व राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित रामेश्वर महादेव मंदिर में मंदिर के बाहर मेले में हजारों की तदात में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। मनिहारी की स्टॉल, खेल- खिलौने की स्टॉल, प्रसाद, चाय की थड़ी, गन्ने के रस, चाट पकौड़ी, रेस्टोरेंट, पुपाड़ी, गुब्बारे, बर्तन, आदि की खरीदादारी करने के लिए लोगों का मेला लगा रहा। वहीं परशुराम महादेव में भी मंदिर के रास्ते में मेले में दशनार्थियों की भीड़ लगी रही।

दिनभर हुए विविध अनुष्ठान

वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित रामेश्वर महादेव मंदिर में भोलेनाथ का विशेष शृंगार धराया गया। जलचक्की स्थित चौमुखा महादेव मंदिर में भी अल सुबह से परंपरागत पूजा अर्चना एवं अनुष्ठान हुए। यहां सुबह से ही यहां शिव अभिषेक कार्यक्रम शुरू होगा जो शाम तक जारी रहा साथ ही मौके पर शिव महिमा स्त्रोत, शिव माला आदि का पाठ करते हुए मंत्र जाप किए गए।

शिवजी को होगा विषेश श्रृंगार

इसी प्रकार महा शिवरात्री के पर्व को लेकर महादेव मित्र मंडल के तत्वाधान में जिले के चारभुजा स्थित दुग्धेश्वर महादेव मंदिर में विषेश श्रृंगार किया गया तथा रात्रि को विशाल भजन संध्या आयोजित की गई। जिसमें दिल्ली, अहम्दाबाद व मुम्बई से कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी। भगवान की प्रतिमा को श्रृंगारित कर भक्तों द्वारा शिव रूद्राभिषेक किया गया जो दिन भर चलता रहा। वहीं अद्र्ध रात्रि से ही भगवान को पंचामृत से स्नान कराकर दुग्धाभिषेक किया वहीं बारी-बारी से भक्त शिवङ्क्षलग पर फूल पुष्प व दुध चढ़ाकर ओम नम: शिवाय का जाप करते दिखाई दिए।

Paliwal Menariya Samaj Gaurav