Latest News
      1. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      2. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न      3. खो-खो में चार बालिकाओं का विश्व विद्यालय की टीम में चयन      4. मंत्री किरण माहेश्वरी ने किया ग्रामीण क्षैत्रों में सघन जनसम्पर्क      5. निर्वाचन से जुड़ी मशीनरी प्रोएक्टिव होकर करें चुनावी कामकाज का सम्पादन: मारुत त्रिपाठी      6. कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की अधिकृत सूची जारी नहीं होने पर जिले में दावेदारों की बढ़ी धडक़ने

बाल विवाह एक अभिशाप उसके कुप्रभाव पर चर्चा

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     23 Feb 2017 (1:57 PM)

नेगडिय़ा। जिला जन विकास संस्थान एवं महिला मंच की ओर से संचालित परियोजना जागृति कार्यक्रम के अन्तर्गत नेगडिय़ा स्थित राउमावि में बाल विवाह एक अभिशाप एवं उसके कुप्रभाव और अधिकारों पर चर्चा की गई। कार्यक्रम में सामाजिक कुरितियों पर पाबन्दी के साथ ही बाल विवाह पर कानूनी कार्यवाही कराते हुए पूरी तरह पाबंद लगाने का निर्णय लिया गया। वहीं बाल विवाह जैसे मुद्दे को लेकर चर्चा की गर्ई। कार्यक्रम में बाल विवाह एवं कम उम्र में गर्भाधान के मामलो में वृद्धि, समय से पहले प्रसव की बढ़ती घटनाएं, घेेरेलू हिंसा, दहेज प्रथा, नाता प्रथा, कन्या भ्रुण हत्या, शिक्षा से वंचित आदि के बारे में चर्चा की गई। कार्यक्रम में बाल विवाह सम्बंधित कानूनी जानकारी भी दी गई जिस पर सभी बालिकाओ ने बाल विवाह को रोकने एवं लोगों को जागरूक करने की प्रतिज्ञा ली।

विद्यालय में केवल आट्र्स विषय

विद्यालय में केलव आट्र्स विषय होने के कारण विद्यार्थियों को हो रही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं विद्यालय में स्टॉफ की कमी के चलते भी काफी विषयों का कोर्स अधूरा पड़ा हुआ है। विद्यार्थियों ने बताया कि उनके विद्यालय में आट्र्स विषय ही है और कुछ विद्यार्थी साइंस एवं कॉमर्स भी पढना चाहती है लेकिन विद्यालय में ये विषय नहीं होने के कारण उन्हें आट्र्स विषय का ही अध्ययन करना पड़ रहा है।

Paliwal Menariya Samaj Gaurav