Latest News
      1. श्री श्यामसुंदर नागदा का निधन-अंतिम यात्रा आज      2. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      3. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न      4. खो-खो में चार बालिकाओं का विश्व विद्यालय की टीम में चयन      5. मंत्री किरण माहेश्वरी ने किया ग्रामीण क्षैत्रों में सघन जनसम्पर्क      6. निर्वाचन से जुड़ी मशीनरी प्रोएक्टिव होकर करें चुनावी कामकाज का सम्पादन: मारुत त्रिपाठी

11 फरवरी को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत-राजस्व काम-काज संपादन में लाएं तेजी: अर्चनासिंह

Suresh Bhatt     Category: राजसमन्द     10 Feb 2017 (1:27 AM)

राजसमंद। जिला कलक्टर अर्चनासिंह ने जिला कलक्ट्रेट सभा कक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक ली और जिले भर के राजस्व अधिकारियों के काम-काज तथा क्षेत्रीय सम सामयिक हालातों की समीक्षा की और बेहतर कार्य संपादन के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयासों में जुटने का आह्वान किया। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर बृजमोहन बैरवा सहित जिले के उपखण्ड अधिकारियों, तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों एवं महत्वपूर्ण विभागीय अधिकारियों ने हिस्सा लिया। कलक्टर अर्चना सिंह ने राजस्व गतिविधियों के संपादन के साथ ही लम्बित प्रकरणों के निस्तारण, न्यायालयीन प्रकरणों को गंभीरता से लेनेए वसूली के लक्ष्यों को प्राप्त करने, सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों की नियमित मोनिटरिंग करते हुए इनके समयबद्ध निस्तारण आदि के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने अभियान चलाकर गिरदावरी के निरीक्षण के निर्देश राजस्व अधिकारियों को दिए और कहा कि रबी फसल से संबंधित गिरदावरी मौके पर सही-सही अंकित करने के प्रति गंभीरता बरतें और इसके लिए कार्मिकों को पाबंद करें। इसके साथ ही उन्होंने राजस्थान संपर्क पोर्टल के प्रकरणों का शत-प्रतिशत वेरिफिकेशन करने के निर्देश देते हुए कहा कि 11 फरवरी को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरणों के निपटारे के लिए ठोस कार्यवाही अमल में लाएं। खासकर राजीनामे से बंटवारेए नामान्तरण और इन्द्राज दुरस्ती आदि के मामलों पर विशेष ध्यान दें।

काम-काज की गति को और अधिक बढ़ाने के निर्देश

उन्होंने कहा के राजस्व से संबंधित मशीनरी को और अधिक सक्रिय करें ताकि राजस्व कामकाज में जिला और अधिक गति प्राप्त कर सके। इसके लिए शिथिलता बरतने वाले कार्मिकों पर सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की चेतावनी भी उन्होंने दी। कलक्टर ने राजस्व से संबंधित तमाम विषयों पर चर्चा करते हुए अब तक प्राप्त उपलब्धियों की समीक्षा की और काम-काज की गति को और अधिक बढ़ाने एवं सख्ती बरतने के निर्देश दिए। एडीएम ने राजस्व से संबंधित गतिविधियों पर विस्तार से चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा.निर्देश दिए। उपखण्ड अधिकारियों एवं तहसीलदारों ने अपने-अपने क्षेत्रों में राजस्व गतिविधियों के बारे में जानकारी दी।
फोटो राजसमंद-कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित करती कलक्टर व उपस्थित अधिकारी। फोटो-सुरेश भाट

Paliwal Menariya Samaj Gaurav