Latest News
      1. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      2. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न      3. खो-खो में चार बालिकाओं का विश्व विद्यालय की टीम में चयन      4. मंत्री किरण माहेश्वरी ने किया ग्रामीण क्षैत्रों में सघन जनसम्पर्क      5. निर्वाचन से जुड़ी मशीनरी प्रोएक्टिव होकर करें चुनावी कामकाज का सम्पादन: मारुत त्रिपाठी      6. कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की अधिकृत सूची जारी नहीं होने पर जिले में दावेदारों की बढ़ी धडक़ने

नाबलिगों को तम्बाकू उत्पाद नही बेचे जाने की सूचना प्रदर्शित नही करने पर चालान बना कर जुर्माना वसूल किया

Sureh Bhat/Ayush Paliwal     Category: राजसमन्द     16 Jun 2015 (3:03 AM)

राजसमंद। तम्बाकू नियंत्रण के लिए सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा) 2003 की पालना सुनििश्चत करने के लिए सोमवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारीडॉ जीएल मीणा के निर्देशानुसार खाद्य सुरक्षा अधिकारी महमुद अली, एवं एसआरकेपीएस जयपुर के कार्यक्रम अधिकारी संजीत कुमार साहु के द्वारा, राजसमंद के राजनगर, सनवाड़ चौराहा और बजरंग चौराहा स्थित आठ प्रतिष्ठानों पर नाबालिगों को तम्बाकू उत्पाद नही बेचे जाने की सूचना प्रदर्शित नही करने पर चालान बना कर जुर्माना वसूल किया गया।

मीणा ने बताया की कोटपा की धारा 6 ए के अन्तर्गत सभी प्रतिष्ठानों तम्बाकू बेचने वाले दुकानदार अपने दुकान में 60 गुणा 30 सेंमी का बोर्ड जिसमें '18 वर्ष से कम उम्र के व्यक्ति को तम्बाकू उत्पादो की बिक्री एक दण्डनीय अपराध है' लिखा हुआ बोर्ड प्रदर्षित करना सुनिष्चित किया जाना आवश्यक है तथा वें 18 साल से कम उम्र के व्यक्ति (नाबालिग) को तम्बाकू उत्पाद नही बेचेगें तथा खुली सिगरेट बेचना अधिनियम का स्पष्ट उल्ल्घंन तो है ही साथ ही इससे नाबालिगों को भी सिगरेट जैसा विषैला पदार्थ खरीदने का अवसर प्राप्त होता है। इसलिये राजस्थान राज्य में आम-जन स्वास्थ्य रक्षा के उद्देश्य से विशेष कर नाबालिगों के द्वारा धुम्रपान प्रारम्भ नही करने के लिए यह आवश्यक है कि हम अपने क्षेत्र अधिकार में खुली सिगरेट की बिक्री ना होने दे। इसके अलावा सिगरेट एवं तम्बाकू पदार्थो के विज्ञापनों के र्बोडो को हटाया जावे जो कि कोटपा की धारा 5 के अन्तर्गत पूर्ण प्रतिबंध है।

मीणा ने बताया कि सरकार से प्राप्त आदेषानूसार तम्बाकू विक्रेताओं को प्रत्येक महिने के अंतिम दिन तम्बाकू उत्पाद नही बेचने का आह्नवान किया। तथा तम्बाकू सेवन करने वाले स्वेच्छा से इस दिन परहेज करें तथा शीघ्र ही चालान बनाने की कार्यवाही अन्य कस्बों में भी की जायेगी। सार्वजनिक स्थल के प्रत्येक द्वार, प्रत्येक मंजिल के विशिष्ट स्थान पर धुम्रपान निषेध का बोर्ड प्रमुखता से प्रदर्शित किया जाना चाहिए। बोर्ड पर उस स्थल के प्रभारी व्यक्ति का नाम, पद व फोन नम्बर प्रदर्शित किया जाए। धूम्रपान को बढावा देने वाली वस्तुए जैसे एस-टेऊ, माचिस, लाइटर आदि वस्तुएं सार्वजनिक स्थानों पर उपलब्ध नहीं होनी चाहिए।अगर कोई व्यक्ति सार्वजनिक भवन में धूम्रपान करता पाया जाता है तो उस संस्थान या कार्यालय का प्रभारी दौ सौ रूपए तक जूर्माना वसूल सकता है।

उन्होने बताया कि 18 वर्ष से कम आयु वाले व्यक्ति को तम्बाकू उत्पादो की बिक्रि नहीं, तम्बाकू बेचने वाला दुकान मालिक यह सुनिश्चित करे कि तम्बाकू खरीदने वाला 18 वर्ष से कम आयु का न हो। जिस दुकान पर तम्बाकू उत्पाद बेचे जाते हैं। वहां बोर्ड लगाकर 18 वर्ष से कम उम्र वाले व्यक्ति को तम्बाकू उत्पादों की बिक्रि एक दण्डनीय अपराध है सूचना प्रदर्शित करना। शिक्षण संस्था के 100 गज के दायरे में तम्बाकू उत्पाद बेचना पूर्णत: प्रतिबंध है। शिक्षण संस्था के 100 गज की परिधि में तम्बाकू उत्पाद नहीं बेचे जाने की सूचना प्रदर्शित नहीं करना। 

Paliwal Menariya Samaj Gaurav