Latest News
      1. श्री नरेन्द्र बागोरा को मंत्री श्री रामपाल सिंह ने श्रेष्ठ कर्मचारी से किया पुरस्कृत       2. मेनारिया समाज ने मचाई स्वतंत्रता दिवस की धूम      3. पालीवाल समाज ने किया प्रतिभाओं का सम्मान-स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं      4. पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर ने मनाया आजादी का जश्न      5. उदयपुर में मची आजादी की धूम-कई प्रतिभाओं को मिला सम्मान       6. पालीवाल समाज के समाजसेवी श्री विजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं
श्री उत्तम मेहता का दुःखद निधन - Paliwalwani.com

श्री उत्तम मेहता का दुःखद निधन

jugolkisor purohit      Category: राजसमन्द     14 Sep 2016 (11:37 PM)

धायंला (राज.)। राजसमंद स्थित धायंला गांव के नवयुवक उत्तम पिता कमलेश मेहता के नदी में डूबने से मौत हो गई, जैसे खबर घर वालों को मिली तो परिवार में कौहराम मच गया। दुःखद हादसा जलझुलनी ग्यारस कल ं13 सिंत.16 के दिन ग्राम धायंला वालो के लिए भारी आघात वाला दिन रहा। गांव में सबका लाडला उत्तम पिता कमलेश मेहता उम्र 17 वर्ष कक्षा 11 वीं का छात्र सुबह दोस्तों के साथ धायंला गांव से खरी फीडर पर स्नान करने गया था। राजसमंद तक बाघेरी का पानी पहुंचने के लिए खारी फीडर प्रतिदिन 400 क्युसेक की पूरी क्षमता से पानी छोड़ा जा रहा है। नहर में कुदने के दौरान उत्तम का सिर पत्थर या दीवार स ेटकरा गया। काफी देर तक बाहर नहीं आया तो दोस्तों ने तलाश शुरू कर दी ओर उसके घर सूचना दी। दोस्त उत्तम को नहर से निकालकर लाल बाग स्थित राजकीय चिकित्सा में लेकर आए। जहां डाक्टरों ने प्राथमिक चिकित्सा के बाद मृत घोषित कर दिया। चिकित्सा के बाहर परिजनों का काफी भीड़ लगी रही। सूत्रों ने पालीवाल वाणी को बताया कि उत्तम का निधन नहर में गौता लगाते वक्त चोट लगने व डूबने से हो गई। परिजनों ने अभी तक किसी प्रकार की शंका जाहिर नहीं कि है कि आखिर उत्तम मेहता के साथ किस परिस्थिती में हादसा हुआ, उसके दोस्तों का भी रो-रो कर बूरा हाल था।

उत्तम परिवार में इकलोता था-शोक की लहर छाई

श्री कमलेश मेहता जी का उत्तम इकलोता पूत्र था साथ ही श्री धर्मनारायण मेहता जी का पौत्र व बागोल निवासी श्री भंवरलाल जी पुरोहित का दौहिता भी था। उत्तम मेहता के निधन पर परिवार में काफी आघात लगा। उत्तम हर बात में होशियार था। परिजन समझ नहीं पा रहे है। कि उत्तम हम सबको अकेला कैसे छोड़कर जा सकता है। उत्तम मेहता के निधन के समाचार मिलते हि नाथद्वारा, बागोल, आमेट, मेनार, चैरवड़ी, उदयपुर से लेकर धायंला तक गांव तक मातम का माहौल छाया रहा।

पालीवाल वाणी ब्यूरो से जुगलकिशोर पुरोहित
🙏

Paliwal Menariya Samaj Gaurav