Latest News
      1. देशभर के 90 प्रतिशत अखबार होंगे बंद, लाखों अखबार कर्मी होंगे बेरोजगार-डीएवीपी का अंधा कानुन-अखबार बचाओ मंच      2. पालीवाल समाज भवन में 22 जुलाई से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन-भव्य कलश यात्रा निकलेगी      3. आमेट सडक सुरक्षा के तहत जिला परिवहन अधिकारी ने बनाये 20 वाहनों के चालान      4. आमेट वीरवर पत्ता को नमन कर मनाया स्थापना दिवस      5. आमेट महाविद्यालय में हरित राजस्थान सप्ताह-प्रतियोगिता दक्षता कक्षाएँ 15 जुलाई से      6. महाकाल मंदिर में फर्जी पत्रकारों के प्रवेश पर पूरी तरह लगेगा प्रतिबंध- कलेक्टर

पालीवाल परिवार ने कलेक्टर से मांगी इच्छा मृत्यु-समाज के ठेकेदारों से परेशान !

Sunil Paliwal     Category: राजसमन्द     13 Sep 2016 12:10 AM

दड़वल (राज.)। पालीवाल समाज में भी ठेकेदार एक से बढ़कर एक हो गए है ! पालीवाल समाज से किसी भी सदस्य को बिना बताये बाहर कर देना, उसका गांव से हुका, पानी बंद करवाने का फतवा जारी कर देना अथवा मनमाने तरीके से किसी ठेकेदार को उसकी जमीन समझ में आ गई तो कढ़ोईयों के भाव खरीद लेना, किसी परिवार में अगर मौत हो गई होतो उसके खेत गिरवी रखकर नुक्ता करवा लेना आज कल पुरानी बातें हो गई! मगर किसी परिवार ने समाज की पंचायत से प्रताड़ित होकर कलेक्टर महोदय के समक्ष सामूहिक इच्छामृत्यु की मांग करके आज की लोकतांत्रिक व्यवस्था पर करारा तमाचा जड़ दिया।

18 जनों के नाम से पुलिस थाने में लिखित रिपोर्ट

मामला कुछ इस प्रकार से है कि पालीवाल समाज 44 श्रेणी से बहिष्कृत किए जाने की शिकायत पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन को की गई थी। समाज द्वारा दड़वल निवासी श्री राजेश जोशी (पालीवाल ) को प्रताड़ित करते हुए समाज से बहिष्कृत कर दिया। उसके साथ समाज वाले अच्छा व्यवहार नहीं करते हुए समाज के अन्य आयोजन में प्रतिबंधित किये जाने से खफा होकर उसने एक साल पूर्व समाज अध्यक्ष श्री धर्मनारायण पुरोहित, श्री श्यामलाल जोशी, श्री तुलसीराम जी, श्री सुंदरलाल जी, श्री जमनालाल सहित 18 जनों के नाम से पुलिस थाने में लिखित रिपोर्ट की थी। लेकिन कार्यवाही नहीं किये जाने से खफा होकर श्री राजकुमार पालीवाल ने कलेक्टर के समक्ष आरोप लगाया कि पालीवाल समाज 44 श्रेणी से बहिष्कृत की शिकायत करने के बाद भी मुझे न्याय नहीं मिला। न्याय नहीं मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया।

एक साल पूर्व परिवार को बहिष्कृत

एक साल पूर्व उसे व उसके काका के परिवार को बहिष्कृत कर दिया था ! इसकी शिकायत उच्चस्तर पर की जाने के बाद भी लिफापोती होती रही। मेरी शिकायत के बावजूद न तो प्रशासन द्वारा कोई ध्यान दिया और न ही पुलिस द्वारा ठोस कार्यवाही की गई। पीड़ित ने कलेक्टर को ज्ञापन में चेतावनी दी कि अगर 30 दिनों में मुझे मेरे परिवार को न्याय नही मिला, तो मेरा परिवार सामूहिक रूप से आत्महत्या करेगा। ओर उसके लिए प्रशासन जिम्मेदार रहेगा।

पालीवाल वाणी ब्यूरों ✍
🔺नोट:- किसी भी प्रकार की संबंधित खबर से अगर किसी को भी कोई भी आपत्ति होने पर इंदौर मान्य न्यायालय इंदौर ही मान्य होगा। 🙏 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-
Whatsapp no- 09039752406
पालीवाल वाणी हर कदम... आपके साथ...✍