Latest News
      1. श्री नरेन्द्र बागोरा को मंत्री श्री रामपाल सिंह ने श्रेष्ठ कर्मचारी से किया पुरस्कृत       2. मेनारिया समाज ने मचाई स्वतंत्रता दिवस की धूम      3. पालीवाल समाज ने किया प्रतिभाओं का सम्मान-स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं      4. पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर ने मनाया आजादी का जश्न      5. उदयपुर में मची आजादी की धूम-कई प्रतिभाओं को मिला सम्मान       6. पालीवाल समाज के समाजसेवी श्री विजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं
प्रभावी प्रस्तुतियों ने किया मंत्रमुग्ध, सुर-ताल ने समां बांधा-गूंजे देश भक्ति के गीत - Paliwalwani.com

प्रभावी प्रस्तुतियों ने किया मंत्रमुग्ध, सुर-ताल ने समां बांधा-गूंजे देश भक्ति के गीत

Suresh bhatt     Category: राजसमन्द     05 Sep 2016 (11:38 PM)

राजसमंद। भारत विकास परिषद की ओर से शनिवार को यहां गायत्री शक्तिपीठ सभागार में आयोजित राष्ट्रीय समूहगान प्रतियोगिता के दौरान देश भक्ति से ओतप्रोत गीत गूंज उठे। शाखा स्तरीय हिन्दी एवं संस्कृत भाषा की इस समूहगान प्रतियोगिता के प्रारम्भ में मुख्य अतिथि उपखण्ड अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद अग्रवाल, भाविप अध्यक्ष राकेश गोयल आदि ने स्वामी विवेकानंद एवं मां भारती की चित्र छवि के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन व माल्यार्पण कर किया। भाविप के कमलेश कच्छारा ने मुख्य अतिथि का तिलक व इकलई पहना कर स्वागत किया। भाविप उपाध्यक्ष संजय सामसुखा ने आयोजन सम्बन्धी जानकारी दी। प्रतियोगिता प्रभारी भगवती प्रसाद व्यास ने आयोजन के उद्देश्यों पर चर्चा करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने एवं इसके मानक मूल्यों की पुर्नस्थापना के साथ ही समाज और राष्ट्र पर पाश्चात्य संस्कृति के पड़ते प्रभाव को रोकने के लिए ऐसे आयोजन पूरे देश में संस्था की ओर से नियमित रूप से किए जा रहे है। साथ ही इससे भावी पीढ़ी में राष्ट्र प्रेम की भावना जागृत होगी जिससे मानवीय मूल्यों का हस रोका जा सकेगा। इसके बाद शहर के विभिन्न राजकीय एवं निजी शिक्षण संस्थाओं से आए प्रतिभागी दलों को स्पद्र्धा में भागीदारी सम्बन्धी कोड नम्बर आवंटित किए गए और तत्पश्चात प्रस्तुतियों का क्रम शुरू हुआ। प्रतिभागी दलों ने एक से बढक़र एक राष्ट्र प्रेम एवं देश भक्ति से ओतप्रोत गीतों की प्रभावी प्रस्तुतियां दी। सुर-ताल के साथ गूंजे राष्ट्र भक्ति के तरानों ने उपस्थित जन समुदाय को मंत्रमुग्ध करने के साथ ही उनमें देश प्रेम का जज्बा पैदा कर दिया। दलों ने जननी जन्म भूमि से महान है...,निर्माणों के पावन...,जय जय है भगवती..., देहि देहिनी बलं...जैसे देश भक्ति गीतों की प्रस्तुतियां दी तो समूचा परिवेश राष्ट्र प्रेम से सराबोर हो गया। अध्यक्ष राकेश गोयल ने बताया कि हिन्दी समूहगान में द क्रिएटिव ब्रेन एकेडमी प्रथम व आलोक स्कूल द्वितीय जबकि संस्कृत समूहगान में लक्ष्मीपत सिंघानिया स्कूल प्रथम व आलोक स्कूल द्वितीय स्थान पर रहा। विजेता दलों को अतिथियों ने पारितोषिक प्रदान किए। कार्यक्रम में परिषद सचिव जयप्रकाश मंत्री, कार्यक्रम प्रभारी भगवतीप्रसाद व्यास व सत्यनारायण शर्मा, भाविप प्रान्तीय संरक्षक कमल किशोर व्यास व संयुक्त महासचिव प्रमोद सोनी, एडवोकेट कुशलेन्द्र दाधीच, सुनील लखोटिया, सुधीर व्यास, दीपक बाबेल, सौरभ सामरिया, भूपेन्द्र मादरेचा, गायत्री शक्ति पीठ की प्राचार्या सविता शर्मा सहित कई पदाधिकारी, गणमान्य नागरिक एवं विद्यार्थी उपस्थित थे। अध्यक्ष गोयल ने बताया कि हिन्दी समूहगान में 17 एवं संस्कृत समूहगान स्पद्र्धा में 12 एवं लोकगीत में 5 दलों ने भागीदारी की। उन्होंने बताया कि प्रान्त स्तरी समूहगान प्रतियोगिता आगामी 25 सितम्बर को अणुविभा राजसमन्द में आयोजित की जाएगी। कार्यक्रम का संचालन सुभाष पालीवाल ने किया। प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका दीपक चोरडिय़ा, चांदनी मेहता एवं जीनल आच्छा ने निर्वहन की।
फोटो,3 व 4 राजसमंद। प्रतियोगिता में समूहगान प्रस्तुती देते विद्यार्थी दल तथा उपस्थित प्रतिभागी। न्यूज सर्विस, 

 

Paliwal Menariya Samaj Gaurav