Latest News
      1. मेनारिया समाज ने मचाई स्वतंत्रता दिवस की धूम      2. पालीवाल समाज ने किया प्रतिभाओं का सम्मान-स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं      3. पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर ने मनाया आजादी का जश्न      4. उदयपुर में मची आजादी की धूम-कई प्रतिभाओं को मिला सम्मान       5. पालीवाल समाज के समाजसेवी श्री विजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं      6. पालीवाल वाणी के पत्रकार श्री संजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं
जन्माष्टमी आज, आधी रात तक होगी कान्हा जगाई रात - Paliwalwani.com

जन्माष्टमी आज, आधी रात तक होगी कान्हा जगाई रात

Suresh Bhat/Ayush Paliwal     Category: राजसमन्द     24 Aug 2016 (2:41 PM)

राजसमंद। श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव गुरूवार अद्र्ध रात्री को श्रद्धा, परंपरा व उल्लास के साथ मनाया जाएगा। कांकरोली में द्वारकाधीश, नाथद्वारा के श्रीनाथजी व गढबोर के चारभुजा मंदिर में तोप व बंदूकों की सलामी के साथ श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। इसको लेकर तमाम मंदिरों में आवश्यक प्रबंध व सुरक्षा के लिहाज से पुलिस व प्रशासन ने तैयारियां कर ली है। सम्पूर्ण मन्दिर को आकर्षक विद्युत बल्बों की विभिन्न आकृतियों एवं लडिय़ों से सजाया गया है। मंदिर प्रशासन द्वारा दर्शनार्थ आने वाले दर्शनार्थियों के लिए भी सुविधा की गई है। मंदिर अधिकारी भगवतीलाल पालीवाल ने बताया कि जन्माष्टमी पर गुरुवार सुबह श्री द्वारकाधीश के मंगला के दर्शन करीब 5.30 बजे होंगे। फिर श्री प्रभु को पंचामृत से स्नान कराया जाएगाए जिसके दर्शन सुबह 5.45 बजे होंगे। शाम को शयन के बाद जागरण के दर्शन खुलेंगे, जो रात श्रीकृष्ण जन्म समय से करीब दस मिनट पहले बंद होंगे। ठीक 12 बजे बंदूकों की सलामी के साथ ही श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा। श्री शालिग राम को पंचामृत से स्नान कराया जएगा। चौतरफा हाथी घोड़ा पालकी - जय कन्हैयालाल की. . . . सरीखे जयकारें गूंज उठेंगे।

नन्दोत्सव पर नाच-गान कल

श्री द्वारकाधीश मंदिर में शुक्रवार 26 अगस्त को नन्द महोत्सव पर श्रद्धालु खूब नाचेंगे व गाएंगे। सुबह नौ बजे मंदिर के प्रधान मुखिया नन्द बाबा बनेंगे व गोस्वामी परिवार की ओर से यशोदा मैया बनाकर तथा गौशाला के मुखिया व अन्य ग्वाल-गोपी बन रतन चौक में नाचेंगे व गाएंगे। मंदिर में गोस्वामी ब्रजेश कुमार के साथ अन्य सदस्य, ग्वाल बाल व श्रद्धालु नंद के घर आनंद भयो . . . ., जय कन्हैया लाल की सरीखे जयकारों के साथ नन्द महोत्सव मनाया गया।

21 तोपों से देंगे सलामी

नाथद्वारा के प्रसिद्ध श्रीनाथजी मंदिर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की खुशी में 25 अगस्त को रात्रि के 12 बजे रिसाला चौक में 21 तोपों की सलामी दी जाएगी। मन्दिर के मुख्य प्रवेश द्वार पर ढोल, बिगुल, शहनाई आदि की मधुर ध्वनि से पूरा नाथद्वारा शहर गुंजायमान होगा। मन्दिर में एक माह पूर्व श्रावणमास की कृष्णपक्ष की अष्टमी से ही बधाइयों का सिलसिला शुरू हो जाता है। पुष्टिमार्गीय मर्यादा के अनुरूप श्रीकृष्ण जन्मोत्सव रात्रि में सार्वजनिक दर्शन के रूप में नहीं मनाया जाकर दूसरे दिन 26 अगस्त को नन्दमहोत्सव के रूप में अर्थात नन्द के घर आनन्द भयो, जय कन्हैया लालकी के उद्घोश के साथ तिलकायत महाराज व उनका परिवार, ब्रजवासी सेवकगण, मुखियाजी आदि तथा आगन्तुक वैष्णव प्रभु श्रीनाथजी के समक्ष नाचगान करते हुए दूध-दही का छिडक़ाव करते हैं। ये दर्शन शुक्रवार को प्रात: लगभग 7.30 बजे से 11बजे तक होगा। मंदिर अधिकारी ने बताया कि दर्शन का समय सेवा पर आधारित है परिवर्तन हो सकता है।

जन्माष्टमी और नंदोत्सव पर श्रीनाथजी में दर्शन का समय

जन्माष्टमी सुबह 4 बजे शंखनाद होगा। बाद में श्रीनाथजी प्रभु को पंचामृतद्ध अभ्यंग स्नान कराएंगे। सुबह 4.45 पर मंगला दर्शन, शृंगार साढ़े 9 बजे, राजभोग 2.15 बजे, उत्थापन सायं 7.15 बजे, भोग आरती रात 8.15 बजे और रात 9 बजे जागरण के दर्शन खुलेंगे। हवेली में नौबत, नगाड़े, घंटे-घडियाल, झांझर-मजीरा व मृदंग की थाप पर शंख ध्वनि और बधावे गूंजेंगे।
नंदोत्सव
मंगला की झांकी दोपहर 12.30 बजे, शृंगार 1:30 बजे, राजभोग दोपहर 4.50 बजे, उत्थापन रात 8 बजे होंगे। भोग-आरती के दर्शन रात 9 बजे खुलेंगे। दूध-दही छिडक़ाव के दर्शन सुबह साढ़े 7 बजे से 11 बजे तक होंगे।

चारभुजा में आज मनेगी जन्माष्टमी

चारभुजा गढबोर मंदिर मे गुरूवार को जनमाष्टमी पर्व मनाया जायेगा। चारभुजा देवस्थान मुन्तजीम तीलकेश पालीवाल ने बताया की मंदिर मे गुरूवार रात्री को कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी तथा शुक्रवार को काना के पोतडे धोने की रस्म के साथ केसरीया रंग मे पुजारी व भक्तगण खेलेगे। वहीं दिन मे मंदिर नक्कार चौक मे मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा।

कल होगा नंद महात्सव पर दुध, दही का छीडक़ाव
मंदिरों में गुंजेंगे कृष्णलला के जयकारें


राजसमंद। श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लकर दुधिया रोशनी में नहाया कांकरोली का द्वारकाधीश मंदिर व गढ़बोर स्थित चारभुजा मंदिर । फोटो - सुरेश भाट

Paliwal Menariya Samaj Gaurav