Latest News
      1. मध्यप्रदेश स्थाई कर्मी कल्याण संघ का धरना कल-नीलमपार्क में मंत्री को देगें ज्ञापन      2. श्री चारभुजा की भव्य प्रसादी में इंदौर से पहुंचे सैकड़ो श्रद्वालुजन      3. देशभर के 90 प्रतिशत अखबार होंगे बंद, लाखों अखबार कर्मी होंगे बेरोजगार-डीएवीपी का अंधा कानुन-अखबार बचाओ मंच      4. पालीवाल समाज भवन में 22 जुलाई से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन-भव्य कलश यात्रा निकलेगी      5. आमेट सडक सुरक्षा के तहत जिला परिवहन अधिकारी ने बनाये 20 वाहनों के चालान      6. आमेट वीरवर पत्ता को नमन कर मनाया स्थापना दिवस

तीलक समाज सुधारक और स्वतंत्राता सेनानी थे-सुनील त्रिपाठी

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     24 Jul 2016 11:25 PM

 राजसमंद। आलोक स्कूल में बाल गंगाधर तिलक की जयंति ग्रुप डिस्कशन प्रतियोगिता का आयोजन मनाई गई। प्राचार्य सुनील त्रिपाठी व प्रशासक मनोज कुमावत ने बाल गंगाधर तिलक की तस्वीर पर माल्यार्पण का कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्राचार्य सुनील त्रिपाठी ने बताया कि हमें बाल गंगाधर तिलक के बताए गए सिद्धांतो को अपनाना चाहिए व उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए। तिलक हिन्दुस्तान के एक प्रमुख नेता, समाज सुधारक और स्वतंत्राता सेनानी थे। स्वराज मेरा जन्मसिद्व अधिकार है और में इसे लेकर रहूँगा यह नारा लगाकर भारत में देश को आजाद करने का माहौल बनाया। लोग उन्हें आदर से लोकमान्य के नाम से पुकारकर सम्मानित करते थे। महाराष्ट्र में गणेश उत्सव व शिवाजी उत्सव सप्ताह भर मनाया जाता है जो तिलक की महानतम देन है। इस अवसर पर अंग्रेजी विषय में ग्रुप डिस्कशन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें कक्षा 11वीं-12वीं के विद्यार्थियों ने भाग लिया। विद्यार्थियों ने नवीन टेक्नॉलोजी के बढ़ते प्रभाव के बीच नैतिक मूल्यों का कम होना विषय पर अपने बेबाक विचार प्रकट किए।
फोटो राज  राजसमंद। आलोक स्कूल में तिलक की जयंति पर पुष्पांजलि करते छात्र।