Latest News
      1. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      2. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न      3. खो-खो में चार बालिकाओं का विश्व विद्यालय की टीम में चयन      4. मंत्री किरण माहेश्वरी ने किया ग्रामीण क्षैत्रों में सघन जनसम्पर्क      5. निर्वाचन से जुड़ी मशीनरी प्रोएक्टिव होकर करें चुनावी कामकाज का सम्पादन: मारुत त्रिपाठी      6. कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की अधिकृत सूची जारी नहीं होने पर जिले में दावेदारों की बढ़ी धडक़ने

खेत बने ताल तलाईयां, क्षेत्र में जानमाल सहित लाखों का नुकसान

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     24 Jul 2016 (10:55 PM)

सुरेश भाट/दिलीप वैष्णव -राजसमंद
रेलमगरा। दो दिन पूर्व जिले के रेलमगरा उपखण्ड क्षेत्र में आसमान से आफत बनकर टपकी बारिश ने एक दर्जन से भी अधिक गावों बाढ के हालात बना दिए। जिससे सैकड़ो परिवार के हजारों सदस्यों का जीना दुर्भर कर दिया। कस्बे में बने बाढ़ के हालात को स्थानिय निवासियों ने प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। लोगों ने आरोप लगाया कि स्थानिय उपखण्ड, तहसील कार्यालय, कब्रिस्तान की चार दिवारी, ट्रांसपोर्ट हब, खेल स्टेडियम का निर्माण भी पानी के बहाव क्षेत्र में किया गया है। जिससे पानी की निकासी व्यवस्था पुरी तरह से अवरूद्ध हो गई है।

बाढ़ ने ली अधेड़ की जान

क्षेत्र में तेज हुई बारिश से जिससें जन जीवन खासा प्रभावित हुआ वहीं इस बाढ़ ने एक अधेड़ को मौत के घाट उतार दिया। मृतक रेलमगरा के पछमता गांव का निवासी है जिसकी लाश शुक्रवार को भरे हुए पानी के निकलने के बाद सड़ी गली अवस्था में मिली। लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौप दिया। मृतक शंकरलाल जाट निवासी चाम्पाखेड़ी बुधवार से लापता था जो बुधवार सुबह अपने खेत पर बंदे मवेशियों को चारा पानी देने गया था। मृतक का शव पानी के बहाव क्षैत्र के नाले में काटेदार पेड़ो से लिप्टी हुई मिली। शव पुरी तरह से सड़ गया जिससे आसपास उसकी दुर्गंद फैल गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक के खेत पर पहुंचने से पहले नाले से गुजर कर जाना पड़ता था। उसी नाले में पानी के तेज बहाव से उसी नाले के बहाव में बह गया जिसकी पानी में डूबने से मौत हो गई। । मृतक की लाश पानी का स्तर नीचे जाने के बाद ही लगभग 3 किलोमीटर दुर पछमता ग्राम पंचायत के सामने से होकर निकल रहे नाले में क्षतविक्षत अवस्था में मिला। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच आरम्भ कर दी।

दो दिन बाद खिली धुप

क्षेत्र में बुधवात तक हुई 15 इंच बारिश के बाद शुक्रवार को धुप खिली। उसके बाद लोगो ने भारशि से भींगी हुई राशन सामग्री, घरो के सामान, राशन के सामान, दाल, गेहुं, मक्की, कपड़े, बिस्तर को सुखाने के लिए मकानों से बाहर निकालकर सुखाया।

लाखों का नुकसान

क्षेत्र में हुई तेज बारिश के बाद भरे पानी से क्षेत्रवासियों के घरों व दुकानों में बारिश का पानी घुसने से लोगों को लाखो का नुकसान सहना पड़ा। जिसमें किराणा, घरेलु इलेक्ट्रोनिक उपकरण, मोबाईल, पंखा, कुलर, फ्रिज, टीवी, स्टेशनरी, कपड़े, बिस्तर, सहित अन्य प्रकार के खाद्य सामग्री के अलावा व्यावसाइयों को सबसे अधिकनुकसान सहना पड़ा। कई मकानों व दुकानों में कई प्रकार की वस्तुए पानी के उपर तैरती मिली। हर मकानों में पानी दो से तीन फीट तक भरा रहा।

प्रशासन के  सुध नहीं लेने पर जताया आक्रोश

रेलमगरा कस्बे के चामुण्डा मार्ग जहां भारी बारिश के कारण पानी की आवक अधिक होने कारण आम रास्ते में 5 से 6 फीट तक पानी भराव होने से मकानों में 2 से 4 फीट तक पानी भरकर डुब गए। जिससे मकानों में रखी खाद्य सामग्री के साथ अन्य सामान भी जलमग्न हो गए। क्षेत्र में रहने वालों को खाना तो क्या पेयजल के लिए भी लाले पड़ गए प्रशासन द्वारा कस्बे की सुध तक नहीं ली गई। प्रशासनिक अधिकारी तो नहीं लैकिन प्रशासन का कोई नुमाईंदा भी मौके पर नहीं पहंूचा जिससें मौहल्ले वासियों में आक्रोश बना हुआ है।
केवल फोटो खिंचवाने पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी
मौहल्ले वासियों ने आक्रोश जताते हुए कहां कि अधिकारी हमारे क्षेत्र में राहत के लिए पहुंचे यह तो हमे शुक्रवार को विभिन्न समाचार पत्रों में जिला प्रशासन द्वारा बस्तीयों के लोगों को भोजन के पैकेट बाटने के समाचार प्रकाशित खबर को पढऩे पर चला। प्रशासन केवल समाचार पत्रों में अपना फोटो प्रकाशित करवाने के लिए आए न की किसी को राहत देने।

क्षेत्र के निवासियों ने जताया आक्रोश

मोहल्ले वासियों ने बताया कि सबसे ज्यादा बारिश का पानी हमारे क्षेत्र भराव हुआ था बारिश बंद होने के बाद लगभग 15 घन्टों तक पानी बहकर निकलता रहा। वहां के वासिन्दों को स्थानिय प्रशासन द्वारा न तो जिला कलेक्टर को अवगत करवाया नही मौका भी नहीं देखा। हमे भोजन पानी के लिए नहीं पुछा क्या हम ईंसान नहीं है। हम लोग 10 से 15 घन्टे तक घर की छतो से नीचे भी नहीं आ सके। सामाजिक कार्यकर्ता रोशनलाल टुकलिया ने मौके से पिडि़त महिलाओं से नायब तहसीलदार को फोन पर बात कराई। उन्होंने किसी प्रकार की जानकारी नहीं होने की बात कहीं। उन्हाने कहा कि अब पटवारी को भेजता हुं। इस दौरान मौहल्ले वासियों ने जिला कलक्टर से पानी की निकासी की स्थायी व्यवस्था करने की भी मांग की गई है
रेलमगरा में बने नालों का निर्माण अधुरा राशी भी उठाली

व्यापार मण्डल ने की जांच की मांग पत्र

उपखण्ड क्षैत्र में सडक़ के साथ नालों का निर्माण किया तो गया लेकिन आज तक भी अधुरे है कस्बे के कुरज, दरीबा एंव मदारा, रेलमगरा, लाठीया खेड़ी मार्ग के सडक़ किनारे सडक़ को चोड़ी करते समय सम्बधित कार्यकारी एजेंसी द्वारा पानी निकासी के लिए नालों का निर्माण करना था। जिस पर एजेंसी द्वारा ठेकेदार बने बनाए नालों को ताडक़र निर्माणधीन नालों को आधा अधुरा ही छोड़ दिया। पानी निकासी के लिए बने नालों को निकासी मार्ग नहीं है। यह भी जानकारी मिली है कि नालों का पूरा निर्माण बता राशी भी उठा ली गई है। व्यापार मण्डल ने विभाग से कितना कार्य हुआ ये जानकारी ली जाएगी। मौके पर कितना कार्य हुआ है इसकी जांच करवाकर दोशियों के खिलाफ आवश्यक कार्य कार्यवाही करवाकर नालों का पुन: निर्माण कराने की मांग की। निर्माणधीन नालों से एक भी बुंद नहीं निकली जिससे पुरा पानी मकानों व दुकानों में धस गया। जिससे व्यापारीयों को काफी नुकसान हुआ। साथ ही जहां-जहां पानी की आवक को बन्द कर दिया गया उन्हे चिन्हीत कर उन्हे खोला जाए। ताकि भविष्य में ऐसी पुनरावर्ति नहीं हो। उपखण्ड स्तर पर प्रषासन का विकास में ध्यान नहीं है न जनप्रतिनिधीयों का ध्यान है जिसकी वजह से भी व्यवस्था में सुधार नही हो पा रहा है।

यह भी हुआ नुकसान

मेंहदूरिया में पानी भरने से सडक़ तोडक़र पानी निकाला गया। जवासिया-गांगास पुलिया, सादड़ी तालाब की पाल, अड़किया की नाड़ी, ओड़ा की नाड़ी टूट गई। मदारा, सकरावास तालाब टूटने से गिलुंड का कपासन भीलवाड़ा से संर्पक टूट गया। सकरावास, पीपली अहीरान, पीपली डोडियान, ओड़ा की नाडिय़ां टूट गई। गिलुंड एनीकट, छापरिया तालाब को नुकसान पहुंचा।
सरकारी विभाग भी सजग नहीं
एक और बात करें तो तहसील प्रशासन स्वंय बारिश के पानी से अपनी रक्षा नहीं कर पाया तो आमजन के प्रति कितना सजग होगा। जो चिंता का विषय बना हुआ है। स्थानिय प्रशासन, जनप्रतिनिधियों सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मंथन कर उचित स्थायी समाधान निकाला ने की मांग की। वहीं कस्बे के नालों के लिए पूर्व में भी जनसुनावाई में शिकायत की गई। लेकिन किसी प्रकार कार्रवाई नहीं हुई। इस दौरान व्यापार मण्डल अध्यक्ष रोशन लाल टुकलिया, राकेश कोठारी, हीरालाल अग्रवाल, प्रकाश चन्द्र स्वर्णकार, गोपाल सेठिया, अरिहन्त सेठिया, अभिषेक सोनी, प्रकाश कुमार, दिनेश चन्द्र, शिव लाल पारासर सहित कई व्यापारी मौजुद थे।

बसस्टैंड पर कॉम्पलैक्स के बेसमेंट में  पानी घुसा

रेलमगरा बसस्टैंड पर कॉम्पलैक्स के बेसमेंट में पानी भर गया। यहां करीब 40 दुकानों में पानी भरने से लाखों का नुकसान हुआ। कुरज और गिलूंड कस्बों के बस स्टैंड, प्रमुख रास्तों पर सुबह से शाम तक घुटनों तक पानी भरा रहा। डिडोली और धमाना फीडर ओवरफ्लो होने से पानी मालीखेड़ा गांव के दस घरों में घुस गया।

दुकानों में पानी घुसा

कुरज कस्बे में बरसों बाद इतनी बारिश हुई। कस्बे से रेलमगरा, फतहनगर और गिलूंड से संपर्क कट गया था। बस स्टैंड और मोहल्लों में घुटनों से ऊपर तक पानी भरा था। लोग शाम तक घरों से बाहर ही नहीं निकले। शाम तक बिजली बंद रही। नाला पूरे उफान पर रहा। सडक़ें दरिया बन गईं। बस स्टैंड की 25 दुकानों में पानी भर गया। रोडवेज बस बस स्टैंड पर फंस गई। यात्रियों को रस्सी की सहायता से सुरक्षित बाहर निकाला। देर शाम को पानी कम होने पर लोगों ने राहत की सांस ली।

बाढ़ प्रभावितों की मदद को सामने आए युवा

कुरज कस्बे में गत दिनो हुई तेज बारिश के कारण गाडरियावास के भील बस्ती मे भील समाज के कच्चे बने मकान ढ़ह जाने के कारण बेघर हुए परिवार की मदद के लिए कुरज के निवासी हाल मुब्बई प्रियांक लाहोंटी व बेंगलौर मे कार्यरत हर्ष राजोरा व अन्य युवाओं ने गाडरियावास के परिवार के लिए आर्थिक मदद हेतु सहायता राशि भिजवाई। बाद में कस्बे के कमलेश राजोरा व दीपक काबरा ने कुरज से फल, नाश्ता और रोजमर्रा की व्यवस्था कर उनकी मदद की और इन प्रभावित परिवारों को हो रही दिक्कतें से बचने के संसाधन की व्यवस्था करने मे जुटे हुए है। इस दौरान भाजपा मण्डल अध्यक्ष अरूण बोहरा, वार्डपंच रोशनलाल गाडरी, नानुराम भील, गोपाल बोहरा आदि उपस्थित थे।

पानी निकासी के अभाव में भरे हुए है खेत

क्षेत्र में पानी निकासी से पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने के कारण बारिश बंद होने के दो दिन बाद भी खेते खाली नहीं हुए है खेतों में दो-दो फीट पानी आज भी भरा हुआ है। पानी भरा रहने के कारण पुरी फसल नष्ट हो गई है। जिसके चलते किसानों के चेहरे मुरझा गए है।

नुकसान का आकलन कर प्रभावितों को दें मुआवजा: कांग्रेस

जिला कांग्रेस वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप पालीवाल ने हाल ही हुई भारी बारिश से जिले के रेलमगरा तहसील मुख्यालय सहित क्षेत्र के विभिन्न गांवों में फसलों में हुए खराबे तथा गांवों-बस्तियों में हुए अन्य प्रकार के नुकसान का आंकलन कराकर प्रभावितों को उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है। पालीवाल ने कहा कि बीते दो-तीनों में भारी बरसात होने के कारण रेलमगरा क्षेत्र के अनेक गांवों में खरीफ की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। अत्यधिक वर्षा से कई जगहों पर खेतों में खड़ी मक्का, ज्वार, मूंगफली तथा दलहन-तिलहन की फसलें नष्ट हो गई है जिससे बड़े पैमाने पर नुकसान होने का अनुमान है। फसलें खराब होने से महंगे खाद-बीज खरीद कर बुवाई करने वाले काश्तकार वर्ग को भारी आर्थिक नुकसान हुआ है तथा कृषि विभाग सहित अन्य सम्बन्धित सरकारी विभाग भी फसलों में खराबा मान चुके है।

 घरों-दुकानों में हुए नुकसान पर राहत दिलाने की मांग

साथ ही बारिश से विभिन्न गांवों-बस्तियों में मकानों, दुकानों आदि में भी नुकसान पहुंचा है जिससे बड़ी संख्या में लोग प्रभावित हुए है। कच्चे घर तथा केबिन आदि छोटी-बड़ी दुकानें क्षतिग्रस्त होने से लोगों के सामने विकट समस्या पैदा हो गई है और इसके चलते प्रभावित परिवार भविष्य को लेकर चिंतित है। ऐसे में प्रभावित परिवारों को राहत पहुंचाने की महत्ती जरूरत है। उन्होंने जिला प्रशासन से रेलमगरा क्षेत्र में तत्काल फसलों में हुए खराबे तथा अन्य प्रकार के हुए नुकसान का तत्काल आकलन कराकर प्रभावित लोगों को मुआवजा दिलाने की मांग की है।

मंत्री माहेश्वरी ने जाने अतिवृष्टि क्षैत्र के हालात दिए निर्देश

जलदाय मंत्री किरण माहेश्वरी ने उपखण्ड रेलमगरा, कुरज व आस पास के ग्रामीण क्षैत्रो मे हुई अतिवृष्टि से उपजे हालात, नुकसान व राहत कार्यो कि जिला कलक्टर अर्चना सिंह व रेलमगरा उपखण्ड अधिकारी तरू सुराणा से दूरभाष पर सम्पूर्ण हालात कि जानकारी ली। तदुपरान्त माहेश्वरी ने आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए क्षैत्र मे हुए नुकसान कि शिघ्र गिरदावरी करवा रिपोर्ट भेजने, राहत सामग्री वितरित करवाने, सामान्य जीवन बहाल करवाने एवं पशुओ के लिए चारा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये।

भाजपा दल ने किया मौका मुआयना बांटी राहत सामग्री

किरण माहेश्वरी के निर्देशन मे भाजपा दल ने कुरज, रेलमगरा क्षैत्र का दौरा कर मौका मुआयना किया एवं आमजन, व्यापारियो से मिलकर हालात जाने एवं राहत सामग्री भी बांटी। भाजपा दल मे जिलाध्यक्ष भंवर लाल शर्मा, उपाध्यक्ष सत्यप्रकाश काबरा, कोषाध्यक्ष मानसिंह बारहठ, मीडिया जिला संयोजक किशोर गुर्जर, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष कला राजोरा, कुरज मण्डल अध्यक्ष अरूण बोहरा, नगर अध्यक्ष महेन्द्र टेलर, ग्रामीण मण्डल अध्यक्ष महेश आचार्य, नगर महामंत्री गिरिराज कुमावत, कुरज उपसरपंच मनीष सुखववाल, पन्ना लाल टेलर व कई स्थानीय कार्यकर्ता साथ रहे।

Paliwal Menariya Samaj Gaurav