Latest News
      1. मध्यप्रदेश स्थाई कर्मी कल्याण संघ का धरना कल-नीलमपार्क में मंत्री को देगें ज्ञापन      2. श्री चारभुजा की भव्य प्रसादी में इंदौर से पहुंचे सैकड़ो श्रद्वालुजन      3. देशभर के 90 प्रतिशत अखबार होंगे बंद, लाखों अखबार कर्मी होंगे बेरोजगार-डीएवीपी का अंधा कानुन-अखबार बचाओ मंच      4. पालीवाल समाज भवन में 22 जुलाई से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन-भव्य कलश यात्रा निकलेगी      5. आमेट सडक सुरक्षा के तहत जिला परिवहन अधिकारी ने बनाये 20 वाहनों के चालान      6. आमेट वीरवर पत्ता को नमन कर मनाया स्थापना दिवस

योजना में अनिमितता को लेकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

Suresh Bhat     Category: राजसमन्द     14 Feb 2016 12:10 PM

राजसमंद। सरकार की नेशनल मिशन फॉर एग्रीकल्चर योजना के तहत ग्राम पंचायत पीपली अहिरान में कृषि पर्यवेक्षक की ओर से अनुदान वितरण में अनियमिता को लेकर शनिवार को सरपंच ग्रामीणों की ओर से जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में बताया गया कि योजना में किसानों को भैंस पालन के लिए अनुदान प्रदान किया जात है जिस पर करीब 100 किसानों की ओर आवेदन किया गया था। कृषि पर्यवेक्षक द्वारा अपनी इच्छानुरूप लिस्ट तैयार करते हुए 35 लोगों को बिना स्वीकृति लिए भैंस पालने के लिए अनुदान प्रदान कर दिया गया। सरपंच हरिराम सालवी एवं ग्रामीणों द्वारा पर्यवेक्षक से पूछे जाने पर किसी दबाव में भैंसों को लिए अनुदान करने की बात कही। इसी पर सरपंच एवं ग्रामीणों की द्वारा जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए बिना किसी भेद भाव के किसानों को योजना की अनुदान राशि प्रदान किए जाने की मांग की गई जिस पर कलक्टर द्वारा उप निदेशक कृषि को तुरंत अनियमितता को रोकते हुए कमेटी से प्रक्रिया कर सूची बनाकर किसानों को लाभ दिलाने के लिए निर्देशित किया गया। इस अवसर पर पूर्व पंचायत समिति सदस्य माधवलाल अहीर, उप सरपंच रतनलाल अहीर, इन्द्रमल पालीवाल, भवानीशंकर पालीवाल, लेहरू अहीर, बालू सीरवी, भैरूलाल सालवी सहित कई किसान उपस्थित थे।

फोटो - जिला कलक्टर को ज्ञापन देने जाते किसान।