Latest News
      1. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      2. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न      3. खो-खो में चार बालिकाओं का विश्व विद्यालय की टीम में चयन      4. मंत्री किरण माहेश्वरी ने किया ग्रामीण क्षैत्रों में सघन जनसम्पर्क      5. निर्वाचन से जुड़ी मशीनरी प्रोएक्टिव होकर करें चुनावी कामकाज का सम्पादन: मारुत त्रिपाठी      6. कांग्रेस द्वारा प्रत्याशियों की अधिकृत सूची जारी नहीं होने पर जिले में दावेदारों की बढ़ी धडक़ने

मावठ के साथ ही बढ़ी ठीठूरन, फसलों को मिला जीवनदान

प्रहलाद पालीवाल     Category: राजसमन्द     18 Jan 2016 (5:30 PM)

राजसमंद। जिल भर में पिछले तीन दिनों से तापमान में हो रही लगातार गिरावट से सोमवार को जिले में मावठ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई जो रात ढलने के साथ ही बादल बरसना शुरू हो गए। जिससे जनजीवन प्रभावित हो रहा है। जिले में सोमवार अलसुबह ही कोहरा व बादल छाए रहे तथा दिन भर सर्द हवाएं चलती रही। जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में शाम को साढ़े पांच बजे से छह बजे तक करीब आधा घण्टा तेज बारिश हुई। सोमवार को सुबह से ही कोहरा छाया रहा जिससे दोपहर बाद तक सूर्य देवता के दर्शन हो पाए तथा शाम चार बजे ही आसमान में बदलों ने अपना दम दिखाना प्रारंभ कर दिया। सर्दी के असर के चलते लोग सुबह से अलाव तापते एवं ऊनी कपड़ों में लदे दिखे। दिन भर छाए कोहरे व शाम को हुई बरसात से सर्दी का असर बढऩे से लोगों की दिनचर्या में एकदम से परिवर्तन हो गया। किसानों का कहना है कि मावठ गिरने से सर्दी का असर एकदम से बढ़ गया है। इससे गेहूं व लहसुन के पौधों की बढ़वार में इजाफा होगा। वहीं धनिया, सरसों आदि फसलों में लगा कीट प्रकोप भी समाप्त हो जाएगा। ऐसे में मावठ गिरना फसलों के लिए जीवनदान साबित होगी।

जल्द ही बंद हुआ बाजार

प्रदेश भर में चल रहे खराब मौसम का असर जिले में भी दिखाई दिया। जिले में तापमान निम्न स्तर पर गिरनेे से सोमवार का दिन सबसे सर्द रहा। मौसम, सर्द हवाओं व बारिश के कारण शहर का बाजार जल्द ही बंद हो गया। लोग जल्दी ही अपने-अपने घरों में दुबक गए। वहीं कही कहीं लोग अलाव तापते व भारी ऊनी कपड़ों में दिखाई दिए।

फोटो - जिला मुख्यालय पर मावठ के दौरान सडक़ से गुजरते वाहन। फोटो- प्रहलाद पालीवाल

Paliwal Menariya Samaj Gaurav