Latest News
      1. श्री खूबीलाल पुरोहित के नवनिर्मित भवन पर श्री सांवरिया रामायण मंड़ल करेगा 26 जून को सुंदरकांड का पाठ      2. चारभुजानाथ भक्त मंडल ने किया ऐतिहासिक यात्रा मिलन समारोह का आयोजन      3. सीकर में आर्टिकल 15 के विरोध में उतरा ब्राह्मण समाज-उग्र आंदोलन होगा      4. सरकारी व निजी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस में प्रवेश लेने वाले छात्रों की फीस राज्य सरकार भरेगी      5. पालीवाल समाज की समाजसेविका श्रीमती जमनाबाई दवे का इंदौर में निधन      6. आईडाणा की बेटी फैमिना मिश इंडिया सुमन राव का 26 को होगा भव्य स्वागत

मां श्रीयादे मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्न-स्वर्ण कलश स्थापित

suresh bhat, paliwal wani     Category: राजसमन्द     28 Apr 2018 12:51 PM

राजसमंद। जिला मुख्यालय के समीपवर्ती फरारा महादेव में मेवाड़ प्रजापत समाज सेवा संस्था मंदिर मंडल के तत्वावधान में समाज की कुलदेवी मां श्रीयादे के नवनिर्मित मंदिर पर आयोजित तीन दिवसीय धार्मिक महोत्सव के अंतिम दिन विविध रस्मों की अदायगी एवं मां श्रीयादे के गगनभेदी जैकारों के बीच मंदिर शिखर पर ध्वजा एवं कलश स्थापना हुई। मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा की गई। मुख्य आयोजन में मेवाड़ भर से हजारों समाजजनों ने श्रद्धाभाव से भाग लिया। जिससे फरारा में उत्सवी माहौल बना रहा। नवनिर्मित मां श्रीयादे मंदिर प्रांगण में सुबह देवपूजन एवं यज्ञकर्म हुआ। यज्ञानुष्ठान में समाजजनों ने हिस्सा लेकर आहुतियां दी। इसके बाद समाज संरक्षक श्री हीरालाल पुनावली, अध्यक्ष श्री रामचन्द्र प्रजापत राजनगर, कोषाध्यक्ष श्री नाथुलाल जी गांवगुड़ा, सह कोषाध्यक्ष श्री किशन जी बडारड़ा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री नरोत्तम जी नाथद्वारा, श्री किशनलाल जी गावंगुड़ा, श्री सोहनलाल जी थोरिया, श्री गोविन्द जी प्रजापत पसुंद आदि सदस्यों एवं पूरे मेवाड़ क्षेत्र से बड़ी संख्या में पहुंचे समाजजनों की उपस्थिति में मंदिर प्रतिष्ठा के लिए वैदिक रीतिनुसार विधान से संपन्न हुआ। विप्रजनों ने मंत्रोचारण के साथ कई धार्मिक रस्में पूर्ण कराई। इस दौरान पूरा परिसर श्रद्धालुओं से अट गया था एवं कहीं भी तिलभर जगह नहीं बची। इसके बाद तय मुहूर्त में गगनभेदी जैकारों के बीच विधिपूर्वक मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा हुई वहीं मंदिर शिखर पर स्वर्ण कलश एवं ध्वजा स्थापना की गई। इस दौरान पूरा परिवेश धर्ममय हो उठा तथा समाजजन अपनी कुलदेवी के दर्शन के लिए आतुर दिखाई दिए। इस मौके पर महाआरती हुई जिसमें लोगों ने श्रद्धा से हिस्सा लिया। इसके बाद यज्ञ में पूर्णाहुति के साथ ही प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्न हो गया। इधर, महोत्सव में अल सुबह से ही आसपास के गांवों सहित सीमावर्ती जिलों के अलावा मुम्बई, अहमदाबाद, सूरत, मध्यप्रदेश आदि शहरों से समाजजनों का आना शुरू हो गया था। 10 बजे तक महोत्सव स्थल पर खासी भीड़ जमा हो गई थी। लोगों का आना दोपहर तक निरंतर जारी रहा एवं आखरी दिन हजारों लोगों ने अपने साामाजिक उत्सव में जोश व उत्साह के साथ शिरकत की।

समारोह में ये रहे उपस्थित

समारोह में सर्वश्री मुख्य अतिथि उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी एवं विशिष्ट अतिथि फरारा के पूर्व सरपंच बहादुरसिंह राठौड़, नगर परिषद सभापति सुरेश पालीवाल, भाजपा ग्रामीण मण्डल अध्यक्ष गणेश पालीवाल, नगर अध्यक्ष महेन्द्र टेलर, पूर्व प्रधान भानू पालीवाल, डॉ. बीएल कुम्हार उदयपुर आदि थ।े जबकि अध्यक्षता समाज अध्यक्ष रामचन्द्र प्रजापत ने की। प्रारंभ में समाज संरक्षक हीरालाल पुनावली, अध्यक्ष रामचन्द्र प्रजापत ने मां श्रीयादे की छवि, उपरणा व साड़ी ओढ़ाकर उच्च शिक्षामंत्री का स्वागत किया। साथ ही कोषाध्यक्ष नाथुलाल गांवगुड़ा, सह कोषाध्यक्ष किशन बडारड़ा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरोत्तम नाथद्वारा, किशन प्रजापत गावंगुड़ा, सोहनलाल थोरिया, गोविन्द प्रजापत पसून्द, उपाध्यक्ष धूलचंद कोठारिया, गणेशलाल नाथद्वारा, हीरालाल थोरिया, निर्माण मंत्री सोहनलाल पीपरड़ा आदि ने अन्य अतिथियों का मेवाड़ी पगड़ी व उपरणा से स्वागत किया। प्रारम्भ में संरक्षक हीरालाल प्रजापत ने उद्बोधन में सामाजिक गतिविधियों की जानकारी दी। फरारा मंडल अध्यक्ष रामचन्द्र प्रजापत ने समाज विकास से जुड़े बिंदुओं पर चर्चा करते हुए समाज हित में पूर्ण सहयोग देने पर उच्च शिक्षामंत्री का आभार जताया तथा फरारा में समाज के सामुदायिक भवन के लिए अनुरोध किया। इस पर माहेश्वरी ने सहयोग का भरोसा दिया।

Paliwalwani Newspaper

समाज से ही व्यक्ति का विकास संभव- किरण माहेश्वरी

उच्च शिक्षामंत्री माहेश्वरी ने कहा कि समाज से ही किसी भी व्यक्ति का अस्तित्व होता है और उससे ही उसे पहचान भी मिलती है। समाज के विकास से ही व्यक्ति का विकास सम्भव है। यदि समाज समर्थ होगा तो व्यक्ति स्वयं सामथ्र्यवान हो सकेगा। ऐसे में व्यक्ति को अपने समाज उत्थान व विकास के लिए तन, मन व धन से सहयोग देना चाहिए। उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि समाज के कार्यो में सेवा भावना से तत्पर रहें। उन्होंने नवीन मंदिर निर्माण को परम सौभाग्य का विषय बताते हुए कहा कि ऐसे काम से आत्मिक आनंद मिलता है। उन्होंने कहा कि प्रजापत समाज के कार्यो में वे सदैव सहयोग करती रही है तथा भविष्य में भी सहयोग देंगी। सामुदायिक भवन के लिए भूमि मिलने पर शीघ्र स्वीकृति देने का विश्वास दिलाया। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदूषण कारणों से ईंट भट्टे हटाए जाने की समस्या के निदान के लिए नगर परिषद के जरिए करीब 20 बीघा भूमि दिलाने प्रक्रिया जारी है जो शीघ्र पूरी होगी। कार्यक्रम में समाज के भंवरलाल कुंचोली, लच्छीराम नाथद्वारा, चुन्नीलाल सांयों का खेड़ा, पसून्द उप सरपंच गोविन्द प्रजापत, राजेश मोखाड़ा, सचिव भंवरलाल खमनोर, हीरालाल धांयला, जीवन प्रजापत डिप्टी सहित सैकड़ों समाजजन शामिल थे। संचालन नरेश प्रजापत नाथद्वारा व उदयलाल केसूली ने किया।
फोटो राजसमंद। मां श्रीयादे मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव में मंचस्थ अतिथि व उपस्थित समाजजन।

Paliwalwani Newspaper
फोटो राजसमंद। मां श्रीयादे मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव में कलश स्थापित करते यजमान।
पालीवाल वाणी ब्यूरो-सुरेश भाट ✍️
’एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...’
’आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए-’
Email-paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
’पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...’