Latest News
      1. पालीवाल समाज के श्री सेवाराम पालीवाल का निधन-अंतिम यात्रा आज      2. महिला की शिकायत पर कार्मिक विभाग सख्त-जांच भेजने के निर्देश से कलेक्टर में मचा हडकंप      3. पालीवाल समाज इंदौर की समाजसेविका श्रीमती विद्या देवी पुरोहित का दुखद निधन-अंतिम यात्रा 4 बजे      4. कैरियर महिला मंडल ने संघर्ष से बनाई नई राह : सांसद दिया कुमारी      5. पालीवाल समाज की भाविका जोशी हुई सम्मानित      6. पालीवाल समाज की प्रतिभाशाली बिटिया गरिमा जोशी को पालीवाल समाज ने किया सम्मानित

चारभुजानाथ को चढ़ाई 111 हाथ की ध्वजा-लगाई गांव की परिक्रमा

suresh bhat     Category: राजसमन्द     28 Mar 2018 (12:01 PM)

चारभुजा । पीपा क्षत्रिय दर्जी समाज मेवाड़ व मारवाड़ द्वारा भगवान चारभुजा नाथ को प्रतिवर्ष चढ़ाई जाने वाली ध्वजा प्रात: सवा दस बजे पूरे विधि-विधान एवं रीति-रिवाज के साथ चढ़ाई गई। चारभुजा दर्जी समाज सदस्य प्रकाश टेलर व शंातिलाल टेलर ने बताया कि ध्वजा समाज के अध्यक्ष मोतीलाल डाबी के सान्निध्य में ध्वजा को दर्जी क्षत्रिय पीपा समाज की धर्मशाला से थाल में सजाकर समाज के सदस्य रवाना हुए। ध्वजा के आगे ढ़ोल, थाली तथा मादल की थाप पर नाचते गाते समाजजन चल रहे थे। वहीं भगवान चारभुजानाथ के जयकारे लगा रहे थे। शोभायात्रा के पीछे महिलाएं मंगलगान करती हुई चल रही थी। उक्त ध्वजा यात्रा डाकोतियों का दरवाजा, होली चौक, मंदिर चौक होते हुए मंदिर प्रांगण पहुंची। जहां ध्वजा को सवा दस बजे पूरे विधि-विधान से चढ़ाया गया। ध्वजा रस्म के बाद समाज के नोहरे में पहुंचकर समाजजनों ने पूरे वर्ष भर का ब्यौरा प्रस्तुत किया। इस दौरान चारभुजा से बख्तावरमल टेलर, बंशीलाल टेलर, प्रकाश टेलर, हेमराज टेलर, घनश्याम टेलर, कमलेश टेलर, रमेश टेलर, किशनलाल टेलर, कुलदीप, कैलाश, शंातिलाल सहित मारवाड़ क्षैत्र के मंागीलाल डाबी, मिश्रीलाल दैया, रामलाल नाडोल, भंवरलाल चौहान, रामलाल हेमावास, सोहनलाल गेहलोत, रंगराज चौहान सहित समाजजन मौजूद थे।
राजसमंद। चारभुजानाथ जी मंदिर पर ध्वजा चढ़ाते पीपा क्षत्रिय दर्जी समाजजन।
पालीवाल वाणी ब्यूरो-सुरेश भाट ✍
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
Whatsapp no- 09039752406
#🙏Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...पालीवाल वाणी हर कदम... आपके साथ...
एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...