Latest News
      1. श्री भुपेश पुरोहित का दुःखद निधन-अंतिम यात्रा आज       2. पालीवाल समाज 24 खेङा ने किया तीन दिवसीय गंगा प्रसादी महोत्सव का समापन      3. अन्नकूट महोत्सव एवं छप्पन भोग दर्शन कल-आज सुंदर काण्ड का आयोजन      4. श्री श्यामसुंदर नागदा का निधन-अंतिम यात्रा आज      5. मेनारिया समाज में अन्नकूट महोत्सव आज      6. युवा ब्रह्मशक्ति का राष्ट्रीय अधिवेशन ब्रह्मोत्सव उदयपुर में संपन्न

शिवालयों में गूंजा हर हर महादेव-भक्तों ने चढ़ाए आक पुष्प, बिल्व पत्र

suresh bhat     Category: राजसमन्द     14 Feb 2018 (3:40 AM)

राजसमंद। महाशिवरात्रि पर शहर-देहात के शिव मंदिरों में मंगलवार अल सुबह से ही पूजा अर्चना, जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक एवं घृत, शहद का दौर शुरु हो गया। भोलेनाथ के दर्शनों के लिए जाने वाले हर श्रद्धालु शिवहरि, हर-हर महादेव, जय भोलेनाथ, बम-बम भोले, ओमनम: शिवाय के जयकारों की गूंज हर शिवालय में गूंज उठी। जिला मुख्यालय पर गुप्तेश्वर महादेव मंदिर में आक के फुल, पुष्प से विशेष श्रृंगार धाराया गया। सुबह पांच बजे से ही शिवालयों में दर्शनों के लिए लोगों की कतारें लग गई। दर्शनों का सिलसिला देर रात तक चलाता रहा। जलचक्की स्थित चौमुखा महादेव मंदिर, पुरानी कलेक्ट्रेट परिसर में विश्वेम्भर महादेव मंदिर, जिला कारागृह के सामने स्थित पिपलेश्वर महादेव, ओमकालेश्वर महादेव, बालाजी नगर, माणक नगर जलचक्की स्थित चौमुख महादेव, फरारा स्थित कुंतेश्वर महादेव, मुखर्जी चौराहे के पास स्थित विश्वेंभर महादेव मंदिर, जेके ग्राम स्थित रघुकुलेश्वर महादेव मंदिर सहित शहर के हर शिवालय में सुबह से ही भोले बाबा के भजनों की गूंज रही। सभी शिवालयों में दर्शनार्थियों की भीड़ के चलते मेले सा माहौल बना रहा। इसी तरह राष्ट्रीय राजमार्ग 8 राजनगर स्थित रामेश्वर महादेव में भोलेनाथ का आकर्षक श्रृंगार धराया गया। मंदिर परिसर में विभिन्न खाने-पीने की लॉरियां लगाई गई। मंदिर से लेकर मुख्य सडक़ तक वाहनों की कतार लगी रही वहीं मंदिर में महिला व पुरुषों की लम्बी कतार रही। भक्तों ने बाबा को दुध, दही, शहद, घी एवं शक्कर से बना पंचामृत से स्नान करवा कर आक-धतूरा, भांग, बिलपत्र, गुलाब, मोगरा, इत्र एवं फुलमाला से श्रंृगार कर बाबा के प्रति भक्तों ने अपनी श्रद्धा अर्पित कर खुशहाली एवं सुख समृद्धी की कामना की। शहर में शिवरात्रि पर्व पर कई श्रद्धालु व्रत, उपवास रखकर भोलेनाथ की पूजा अर्चना की कस्बे के भालेनाथ के मंदिर में भक्तों ने अल सुबह दुग्धाभिषेक, जलाभिषेक के बाद विशेष श्रंगार कराया गया। मंदिर में दर्शन के लिए महिलाओं एवं पुरूषो के लिए अलग-अलग व्यवस्था की गई थी। इसी प्रकार राजनगर स्थित चौमुखा महादेव माणक चौक से बाटेश्वर महादेव राजनगर तक शिव बारात निकाली गई। बारात में युवा डीजे की धून व ढोल की थाप पर युवा थरकते हुए नाचते हुए चल रहे थ। बारात में ऊंट गाडिय़ों में राधा-कृष्ण, हनुमान जी, विष्णु, राम-सीता झांकियां सजी। शिवरात्रि महोत्सव एवं शिव बारात में शहरवासी बड़ी संख्या में शामिल हुए। बारात माणक चौक से शुरू हुई जो मुख्य मार्गों से होते हुए बाटेश्वर महादेव राजनगर पहुंची। जहां पर शिव ब्याह रचाया गया।

देर रात तक चली भजन संध्या

कैलाश मित्र मंडल धोईन्दा द्वारा महाशिव रात्री पर विशाल भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा जिसमें भजन गायक लैहरूदास वैष्णव, मंजू गुर्जर, राजू वैष्णव एण्ड पार्टी एवं भजन गायक हरिश वैष्णव, शिवम साउण्ड जोधपुर द्वारा भक्तिमय भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। इस अवसर पर महासचिव ओम वैष्णव, अध्यापक उदयलाल भदाणिया, महामंत्री रतनलाल धनारिया, प्रवक्ता प्रकाश भदाणिया, कोषाध्यक्ष मांगीलाल भदाणिया, संगठन मंत्री बालकृष्ण धनारिया सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

कुन्तेश्वर महादेव परिसर में मेलें में उमड़े लोग

paliwal
जिला मुख्यालय के समीपवर्ती फरारा स्थित कुन्तेश्वर महादेव अल सुबह से ही जलाभिषेक, भस्म आरती, दुग्धाभिषेक के बाद विशेष श्रृंगार धराया गया। महादेव को रिझाने के लिए श्रद्धालुओं ने बिल्व पत्र, आक पुष्प व प्रसाद चढ़ाए। मंदिर में देर रात तक दर्शनों का दौर चलता रहा। मंदिर से लेकर बाहर तक महिला पुरुषों की लम्बी लाईन लगी रही। वहीं मंदिर परिसर के बाहर लगने वाले मेले में भी हजारों लोगों का सैलब उमड़ पड़ा। मेले में मनिहारी, खिलौनों, प्रसाद, चाय की थड़ी, गन्ने के रस, चाट, पकौड़ी आदि की स्टॉलों पर भी भारी भीड़ रही।

जयकारों से गूंजी कुंभलगढ़ की वादियां

paliwal
कुम्भलगढ़ केलवाड़ा स्थित मेवाड़ के प्रसिद्ध शिवालय परशुराम महादेव में सुबह से विशेष श्रृंगार के अलावा अभिषेक एवं आरती की गई। वेरों के मठ पर चौमुखा महादेव की पूजा एवं जलाभिषेक के अलावा दुग्धाभिषेक किया गया। वहीं जरगा जी में मेला भरा जिसमें आस-पास के गांवों में ग्रामीणजनों की भीड़ उमड़ पड़ी। मेलार्थियों ने महादेव के दर्शनों के बाद मेले का लुफ्ट उठाया। ग्रामीण महिलाओं ने मेले में से आवश्यक घरेलु सामानों की खरीदारी की। वहीं बच्चों ने डोलर, चकरी, झुले का आनंद लिया। सूरजकुण्ड में भी दिन भर अनुष्ठानों का दौर चलता रहा। केलवाड़ा स्थित गुप्तेश्वर महादेव, दुर्ग धुणी, जरागाजी वावदा, जुना जरगाजी कांकरवा सहित क्षेत्र के सभी शिवालयों में महाशिवरात्रि पर विशेष श्रृंगार के साथ पूजा अर्चना की गई।

शिवालयों में हुए भजन कीर्तन

paliwal
चारभुजा स्थित दुग्धेश्वर महादेव व मण्डी शिवालयों में अल सबुह से ही ल सुबह से ही पूजा अर्चना, जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक एवं घृत, शहद का दौर शुरु हो गया। साथ ही शिवालायें में श्रद्धालुओं का भजन कीर्तन का आयोजन भी किया गया। शिवालयों में आकर्षक विद्युत सज्जा की गई। श्रद्धालुओं ने महादेव शिवलिंग पर बिल्व पत्र, आक पुष्प व प्रसाद चढ़ाए। दर्शनों को दौर देर रात तक जारी रहा। पूजारी भगवानलाल द्वारा जलाभिषेक करवाया गया। वेदपाठी पण्डितों द्वारा रुद्राभिषक किया गया। वहीं रूपनगर महादेव मेंदिर एवं मंडी स्थित महोदव मंदिर में भी भोलेनाथ को विशेष रूप से श्रृंगार धरा कर दुग्धाभिषेक किया गया। सैवन्त्री ग्राम पंचायत के सैवन्त्री का खेडा मे बुधवार रात्रि को महादेव मंदिर मित्र मण्डल द्वारा भजन संध्या आयोजित कि जाएगी।

महादेव मंडी तक रोड़ लाईटे बन्द

दर्शनार्थीयों मे रोष: विगत एक माह से चारभुजा के उमरवावड़ी दरवाजा से महादेव मंडी तक रोड़ लाईटे बन्द होने से मंगलवार शिवरात्रि होने  पर भी शिवभक्तो को अन्धेरे मे दर्शन के लिए मंदिर जाना पड़ा। मोहल्लेवासियो ने पंचायत से रोड लाईटे बन्द होने की शिकायत करने के बावजूद भी विद्युत व्यवस्था सुचारू नहीं की गई। जिससे ग्रामीणों सहित दर्शनार्थियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

गुप्तेश्वर महादेव में लगाया 1251 लीटर दूध का भोग

paliwal
नगर के वार्ड 26 में बड़ा दरवाजा क्षेत्र स्थित 965 वर्ष प्राचीन गुफा श्री गुप्तेश्वर महादेव मंदिर में महा शिवरात्रि महोत्सव के अवसर पर मंगलवार को शिव भक्तों की ओर से भगवान को 1251 लीटर दूध का भोग धराकर प्रसाद के रूप में श्रद्धालुओं में वितरण किया गया। पार्षद कुशलेन्द्र दाधीच ने बताया कि दोपहर आरती के बाद भगवान भोलेनाथ को 1251 लीटर दूध का भोग धराया गया। प्रसाद वितरण का सिलसिला शाम तक चलता रहा।
 राजसमंद। शिवरात्रि के पर्व पर तिरंगे कलर से सजाई गई चौमुखा महादेव की प्रतिमा, जिला मुख्यालय स्थित प्राकट्य स्थल गुप्तेश्वर महादेव, विश्वेम्भर महादेव, पिपलेश्वर महादेव की श्रृंगारित प्रतिमा , कुंभलगढ़ स्थित वैरो के मठ में पुजा अर्चना करते श्रद्धालु। फोटो-सुरेश भाट
पालीवाल वाणी ब्यूरो-सुरेश भाट्
आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए-
E-mail.paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

 

Paliwal Menariya Samaj Gaurav