Latest News
      1. मेनारिया समाज ने मचाई स्वतंत्रता दिवस की धूम      2. पालीवाल समाज ने किया प्रतिभाओं का सम्मान-स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं      3. पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर ने मनाया आजादी का जश्न      4. उदयपुर में मची आजादी की धूम-कई प्रतिभाओं को मिला सम्मान       5. पालीवाल समाज के समाजसेवी श्री विजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं      6. पालीवाल वाणी के पत्रकार श्री संजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं
हिन्दुस्तान जिंक शामिल फोब्र्स इण्डिया टॉप 50 कम्पनियों की सूची में - Paliwalwani.com

हिन्दुस्तान जिंक शामिल फोब्र्स इण्डिया टॉप 50 कम्पनियों की सूची में

suresh bhat     Category: राजसमन्द     26 Jul 2017 (4:36 AM)

राजसमंद। फोब्र्स इण्डिया द्वारा 50 शीर्ष भारतीय कंपनियों की सूची जारी की है जिसमें एकमात्र प्राकृतिक संसाधन कंपनी के रूप में हिन्दुस्तान जिंक को शामिल किया गया है। जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनिल दुग्गल ने बताया कि फोब्र्स इण्डिया द्वारा जारी 2017 की सूची में हिन्दुस्तान जिंक को भारत की 50 शीर्ष कंपनियों में शामिल किया गया है। जिसमें जिंक के अयस्क के फायदे, लागत पर नियंत्रण, आधुनिक तकनिकों के उपयोग तथा त्वरित रूप से एकीकृत परिचालनों को अपनाने आदि को कंपनी के मुख्य आकर्षण के रूप में केन्द्रित किया गया। समय-समय पर भारत में जस्ता की खपत कई बार बढ़ी है। कंपनी द्वारा भारत के हर औद्योगिक क्षेत्रों के बाजारों में जस्ता के उपयोग के साथ ही विस्तार किया गया है। रेल्वे क्षेत्रों, तटीय क्षेत्रों, ऑटोमोबाइल और ऊर्जा क्षेत्रों सहित आदि कई क्षेत्रों में निर्मित ठोस संरचनाओं की गिरावट के लिए प्रमुख कारणों में से जंग एक है। विशेेषज्ञों के अनुसार जंग के कारण प्रतिवर्ष लगभग 4 प्रतिशत जीडीपी का नुकसान हो रहा है। जब स्टील को जंग लग जाता है, तो स्टील का घनत्व बढ़ जाता है जिससे स्ट्रक्चर में दरारें आ जाती है, जो बाद में पतन का कारण बन सकती है। 1 लाख 25 हजार किलोमीटर से ज्यादा फैले भारत में रेल पटरियां श्ष्वि का तीसरा सबसे बड़ा समूह है। जंग रहित रेल पटरियों के पूर्व-प्रतिस्थापन के कारण 450 करोड़ रुपये का वार्षिक नुकसान होता है। कई दुर्घटनाओं के लिए फिश-प्लेटों को जिम्मेदार माना गया है। दुनिया भर में लगभग 50 प्रतिशत जस्ता खनित का गेलेवेनाईजिंग में उपयोग, 17 प्रतिशत जस्ता मिश्र धातु के लिए, 17 प्रतिशत पीतल और कांस्य बनाने के लिए, 6 प्रतिशत जस्ता सेमी-मैन्यूफेक्चरिंग में, 6 प्रतिशत रसायनों में और अन्य विविध प्रयोजनों के लिए 4 प्रतिशत का उपयोग किया जाता है।
राजसमंद। हिन्दुस्तान जिंकके फोब्र्स इण्डिया टॉप 50 कम्पनियों की सूची में शामिल होने पर खुशी मनाते कार्मिक। फोटो-सुरेश भाट
आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए-
E-mail.paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Paliwal Menariya Samaj Gaurav