Latest News
      1. उर्जित पटेल के पीछे छिपा इस्तीफा का राज      2. राधाकृष्ण सीरियल में गजब के दिख रहे है धनबाद के आलोक शर्मा      3. श्री गुलाबचंद्र व्यास का निधन-अंतिम यात्रा आज      4. इंदौर में भाजपा को हो रहा है नुकसान-सर्वे में कांग्रेस जीत की ओर      5. श्री बबलु बागोरा का दुःखद निधन-अंतिम यात्रा कल       6. श्रीमती बारैया सुंदरबेन का 102 वर्ष की आयु में निधन-छाई शोक की लहर

पाली प्रशासन सतर्क, भारी बारिश, ढोला में राहत कार्य शुरु

Mahaveer Vyas     Category: राजस्थान     25 Jul 2017 (7:27 PM)

पाली । जिले में पिछले 24 घंटो के दौरान सर्वाधिक वर्षा सुमेरपुर क्षेत्र में 230 एमएम दर्ज की गई। नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार रानी तहसील क्षेत्र में सुबह 8.30 बजे तक पिछले 24 घंटों के दौरान 187 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। इसी प्रकार तहसील बाली में 137 एमएम, देसूरी में 132 एमएम, पाली में 122 एमएम, मारवाड़ जंक्शन में 114 एमएम, जैतारण में 80 एमएम, सोजत सिटी में 52 एमएम, रायपुर में 35 एमएम एवं रोहट में 31 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई। इसी प्रकार पिछले 24 घंटों के दौरान जवाई बांध पर 230 एमएम, सेई बांध पर 260 एमएम, सिन्दरू बांध पर 51 एमएम, खिवांदी बांध पर 300 में, तखतगढ़ 112 एमएम, सुकरी पर 305 एमएम, मिटठी बांध पर 165 एमएम, दांतीवाड़ा पर 137 एमएम, सादड़ी बांध पर 110 एमएम, कंटालिया बांध पर 45 एमएम, सिरियारी बांध पर 65 एमएम, हेमावास बांध पर 90 एमएम, बाणियावास बांध पर 70 एमएम, रायपुर लूणी बांध पर 57 एमएम, गिरीनंदा बांध पर 46 एमएम, खारड़ा बांध पर 35 एमएम, गिरोलिया बांध पर 78 एमएम, सरदार समंद पर 29 एमएम, राजसागर चौपड़ा बांध पर 24 एमएम, गजनी बांध पर 42 एमएम, कोट बांध पर 135 एमएम, पुतीन बांध पर 124 एमएम, मुथाना बांध पर 112 एमएम, काना बांध पर 115 एमएम, फुलाद बांध पर 87 एमएम एवं जोगड़ावास बांध पर 64 एमएम वर्षा
दर्ज की गई।

कई मकान बारिश से धराशाही, एक महिला की मौत

paliwalwani

ढोला/ पाली जिले में हो रही बरसात का असर सबसे अधिक ग्रामीण क्षेत्रों पर पड़ रहा है। हाइवे निर्माण को दौरान बरती गई लापरवाही के कारण बरसात में पानी की निकासी सही ढंग से नहीं होने के कारण यह पानी गांवों में घुस जाता है। जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को परेशानी हो रही है। इस समस्या को लेकर पूर्व में ग्रामीणाचलों के लोगों ने कई बार प्रशासन व जनप्रतिनिधयों को अवगत कराया, लेकिन समस्या को समाधान नहीं हो सका जिसका खामियाजा बरसात ने ढोला गांव को डूबा दिया। स्थिति इतनी विकट हो गई कि ग्रामीणों को सवेरे 5 बजे से लेकर दोपहर तक बचाव के लिए प्रशासन व जनप्रतिधियों के आगे गिड़गिडाना पड़ा। वही इस तेज बरसात ने तीन मकान भी ढहा दिए। जिससे एक महिला की भी मौत हो गई। पानी इतना पहुंच गया कि पुलिस भी उन ग्रामीणों तक नहीं पहुंच पाए। ढोला गांव निवासी अणसी देवी पत्नी चुनाराम मीणा का मकान का मलबा गिरने से वह दब गई जिसकी मौके पर ही मौत हो गई। जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा एवं जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव को यह स्थिति मालूम होने पर प्रशासनिक अमले सहित मौके पर पहुंचे। जिन्होंने वहां की कमान संभालते हुए वहां की स्थिति पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन ढ़ोला और बारलाई तालाब फूटने से पानी लोगों के घरों में घुस गया। पानी से 6 से 7 फीट तक होने के कारण लोगों को छतों पर जाकर बैठना पड़ा। कुछ लोग बीमार होने के कारण ए बुलेंस का सहारा लेना पड़ा। वहीं इसकी सूचना भाजपा जिलाध्यक्ष करणसिंह नेतरा को मिलने पर वे जिला प्रमुख प्रेमाराम चौधरी के साथ मौके पर पहुंचे। तो दूसरी ओर जयपुर बैठे विधायक एवं सरकारी उप मु य सचेतक मदन राठौड़ ने जिला प्रशासन से वहां की स्थिति के बारे में जानकारी लेकर पाली के लिए रवाना हुए साथ ही भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से इस समस्या में फंसे लोगों को भोजन साम्रगी भी दी गई, तो कुछ लोग देर रात से ही पेड़ पर बैठे थे। उनकी मदद के लिए हैलीकॉप्टर बुलाना पड़ा। दो एनडीआरफ की टीम ने एक से चार लोगों को सही रूप से बाहर निकाल सुरक्षित रूप से धर्मशाला में पहुंचाया। वहीं प्रशासन ने चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध कराई।
आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए-Mahaveer Vyas
E-mail.paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Paliwal Menariya Samaj Gaurav