बैतूल जिले में पिछले 36 घंटे से पहाड़ी क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश जारी - Paliwalwani

बैतूल जिले में पिछले 36 घंटे से पहाड़ी क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश जारी

Paliwalwani Newspaper

भोपाल (म.प्र.)। पालीवाल वाणी ब्यूरो से मध्यप्रदेश में लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश ने जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। नदी-नालों में उफान आ गया है, पुल-पुलिया और बांधों के क्षतिग्रस्त होने से गांवों व शहरी बस्तियों में जलभराव जमा होने से यातायत ओर ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है। प्रशासन राहत और बचाव के लिए सेना, हेलीकॉप्टर व नावों की मदद लेनी पड़ रही है।

प्रमुंख नादियां उफान पर 

मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में शुक्रवार को भी बारिश का दौर जारी रहा। इस कारण राज्य की प्रमुख नदियां- नर्मदा, बेतवा, जामनी, धसान, सुनार, कोपरा, बीला, जमड़ार, टमस का जलस्तर उफान पर चल रहा। इसके चलते सतना, टीकमगढ़, जबलपुर, छतरपुर, दमोह, टीकमगढ़ और पन्ना जिले में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया। बाढ़ नियंत्रण अधिकारी और होमगार्ड की कमांडेंट श्री मधुराजे तिवारी ने पालीवाल वाणी को बताया कि शुक्रवार को जिले के तिजेला, कुपालपुर, उचवा टोला सहित कई गांवों में भारी पानी भर गया है। बीते दो दिनों में इन गांवों से लगभग 1000 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जा चुका है।

स्थिति में सुधार पर खतरा अभी है !

श्री मधुराजे तिवारी के अनुसार, जिले की स्थिति में अब सुधार आ रहा है, मगर अब भी कई बस्तियों और गांव में पानी भरा हुआ है। यहां जो लोग फंसे हैं, उन्हें सुरक्षित निकालने और बेघर हुए लोगों तक खाद्य सामग्री व पीने का पानी पहुंचाने के लिए नाव का सहारा लिया जा रहा है। श्री तिवारी ने आगे बताया कि जिले में राहत और बचाव के लिए जबलपुर से सेना बुलाई गई है। सेना यहां गुरुवार को पहुंची है। वहीं रीवा जिले में पूर्वा फॉल में अचानक पानी आ जाने से सेमरिया क्षेत्र में बहे पांच सैनानियों का शुक्रवार तक पता नहीं चल पाया है।

बैतूल जिले में 36 घंटे से पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश जारी

जिला अधिकारी राहुल जैन के अनुसार, सिरमौर क्षेत्र में पानी से घिरने पर पेड़ पर चढ़े सात में से चार लोगों ने तैरकर अपनी जान बचा ली है, बाकी तीन लोगों को हेलीकॉप्टर की मदद से सुरक्षित निकाल लिया गया है। बुंदेलखंड क्षेत्र में पड़ने वाले पांच जिलों- सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, और दमोह में हालात ऐसे हैं, जैसे बीते तीन दिनों में यहां बादल फट गए हों। यहा औसत तौर पर तीन दिनों में 300 मिली मीटर से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। यही कारण है कि इस इलाके में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। बैतूल जिले में पिछले 36 घंटे से पहाड़ी क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश जारी है।

30 से ज्यादा गांवों से संपर्क पूरी तरह टूट गया

इससे जहां सतपुड़ा डैम का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है, वहीं तवा नदी उफान पर है। छिंदवाड़ा जिले का पानी राजडोह नदी में आने से इस नदी के दोनों छोर पर ग्रामीण फंसे हैं। कई गांवों का पूरी तरह संपर्क टूट गया है। इधर सतपुड़ा डैम से 12 हजार क्यूसेक पानी तवा नदी में छोड़े जाने से नांदिया घाट रपटे पर पानी की धार तेज रफ्तार में चल रही है। इस मार्ग से जुड़े चोपना स्थित पुनर्वास कैंप का 30 से ज्यादा गांवों से संपर्क पूरी तरह टूट गया है। यहां भी दोनों छोर पर काफी संख्या में ग्रामीण बाढ़ उतरने का इंतजार कर रहे हैं। इसी तरह भोपाल, होशंगाबाद, रायसेन, विदिशा व सीहोर में बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है।

Tags: Indore News, Latest News, Indore News in Hindi, Samaj News, Paliwal Samaj News, Paliwal in Hindi,फलोदी

Sponsor
Parichay Sammelan

Latest News
श्री मांगीलाल जोशी (भोपाजी) लापता

इंदौर। पालीवाल समाज 24 श्रेणी इंदौर के समाजसेवी श्री मांगीलाल जोशी (...Read More

परशुराम जयंति के लिए विप्र परिवारों को घर-घर जाकर आमंत्रित किया

उदयपुर। परशुराम जयंति के विभिन्न आयोजनों को भव्य रूप से आयोज...Read More

पालीवाल प्रतिभा सम्मान समारोह...आरंभ

झालामंड। पालीवाल युवा संघ के प्रदेशाध्यक्ष श्री मुकेश प...Read More

श्री राधेश्याम बागोरा के इलाज हेतु आपके माध्यम से सहायता राशि प्रदान की

इंदौर। पालीवाल समाज 44 श्रेणी इंदौर के श्री राधेश्याम पिता स्व. मोती...Read More