मध्‍यप्रदेश में उग्र हुआ किसान- पुलिस फायरिंग में 6 की मौत- कर्फ्यू - Paliwalwani

मध्‍यप्रदेश में उग्र हुआ किसान- पुलिस फायरिंग में 6 की मौत- कर्फ्यू

Paliwalwani Newspaper

मंदसौर। पालीवाल वाणी को सूत्रों ने बताया अभी तक 6 किसानों की मौत के समाचार मिले है लेकिन प्रशासकीय सूत्रों ने इसकी पूष्टि नहीं की है। मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के पिपलिया में पुलिस फायरिंग में छह किसानों की मौत के बाद हालात बेकाबू हो गए है।आंदोलनकारियों ने एक पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने स्थित पर नियंत्रण पाने के लिए जिले के मंदसौर सहित पिपलिया सहित कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया है। मध्य प्रदेश में किसानों के आंदोलन ने आक्रामक रूप ले लिया है. यहां मंदसौर में किसानों के ऊपर फायरिंग की गई है और खबर आ रही है कि तीन किसानों की मौत हो गई है ओर कई किसान गंभीर रूप से घायल हो गए। हंगामे के बाद मंदसौर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। मुख्यमंत्री ने गोलीबारी में किसानों की मौत की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। पालीवाल वाणी को सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस ने मुख्यमंत्री से इस्तीफा भी मांगने की जानकारी मिली।

सरकार किसानों के मसले पर संवेदशील-श्री शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार किसानों के मसले पर संवेदशील है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि हिंसा को बढ़ावा देने के लिए कांग्रेस पार्टी साजिश कर रही है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि फायरिंग में मरने वालों के परिजनों को 5 लाख से 10 लाख तक की सहायता राशि दी जाएगी जबकि घायलों के परिजनों को 1 लाख की राशि दी जाएगी।  मध्य प्रदेश गृहमंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पुलिस के द्वारा कोई फायरिंग नहीं हुई है। पिछले पांच-छह दिनों से मंदसौर और नीमच में असमाजिक तत्व आगजनी और लूटपाट करने का काम कर रहे हैं. सरकार ने निर्देश दिए थे कि प्रदर्शनकारियों पर कोई सख्ती नहीं होनी चाहिए. पुलिस के साथ कई दिनों से मारपीट हो रही है, एक पुलिसकर्मी की आंख फूट गई।लेकिन हमने फिर भी किसी भी सख्ती के निर्देश नहीं दिए. हमने जांच के आदेश दे दिए हैं।

प्रदर्शनकारियों के एक गुट ने वाहनों में तोड़फोड़ 

इससे पूर्व मंदसौर में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों के एक गुट ने वाहनों में तोड़फोड़ की। प्रदर्शन के हिंसक होने और आग लगाए जाने के आरोपों के बाद हालात संभालने के लिए मौके पर पहुंची सीआरपीएफ की टीम ने मोर्चा संभाला। दोनों पक्षों में आपसी पथराव के बाद फायरिंग हुई। इससे पूर्व मंदसौर में गुस्साए किसानों ने दलौदा के पास रेलवे पटरी उखाड़ दी थी और सिग्नल सिस्टम को भी नुकसान पहुंचाया, जिसकी वजह से ट्रेन यातायात प्रभावित हुआ है। देर रात तक रेलवे स्टाफ पटरी को सही करने में जुटा हुआ था। रेलवे स्टेशन पर हंगामे के अलावा प्रदर्शनकारियों ने दलौदा में महू नीमच मार्ग को जाम कर दिया है. पिपलियमंडी में आगजनी की खबरें हैं जबकि जग्गाखेड़ी में दूध प्लांट को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई. पालीवाल वाणी को सूत्रों से खबर मिली है कि रेल ट्रैफिक बाधित चलते भोपाल से रेल ट्रैफिक भी प्रभावित है।

किसानों की हड़ताल में हड़ताल में सियासत हावी हो गई

मध्य प्रदेश में 1-10 जून तक किसानों की हड़ताल में सियासत हावी हो गई है। पालीवाल वाणी को कांग्रेस सूत्रों से जानकारी लगी कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्गविजय सिंह ने मप्र किसानों के आंदोलन के समर्थन में कॉंग्रेस ने मध्यप्रदेश बंद का आव्हान किया है। पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्गविजय सिंह ने सभी मप्र के नागरिकों से विशेष कर व्यापारी समुदाय से सहयोग करने की अपील की। किसान नेताओं ने भी मुख्यमंत्री के खिलाफ जोरदार विरोधी नारे लगाकर अपना जनआक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि अभी अगढाई है आगे ओर लडाई है के भी नारे गूंजे।

श्री राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया

मंदसौर जिले में आंदोलन कर रहे किसानों पर पुलिस ने गोलियां बरसाईं, जिसमें पांच किसानों की मौत हो गई। कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया कि यह सरकार किसानों के साथ युद्ध कर रही है।

BJP सरकार के खिलाफ काफी गुस्सा एवं आग- श्री मुकेश नायक

मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक श्री मुकेश नायक ने शनिवार को पत्रकार वार्ता में कहा, प्रदेश BJP सरकार से किसान परेशान हैं, इसलिये किसान संगठन स्वयं एकजुट होकर आंदोलन कर रहे हैं। किसानों का आंदोलन स्वस्फूर्त और मौलिक है। प्रदेश में जारी किसान आंदोलन को कांग्रेस के समर्थन देने के सवाल पर नायक ने कहा कि हम किसानों की मांगों का समर्थन करते हैं। सरकार की नीतियों के खिलाफ उनमें काफी गुस्सा एवं आग है लेकिन किसानों के इस आंदोलन में यदि राजनीतिक दल कूदेंगे तो इस पर राजनीतिक रंग चढ़ जाएगा और इससे किसान हितों को ही नुकसान पहुंचेगा। कांग्रेस नेता ने कहा कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव एवं उसके पूर्व BJP और नरेन्द्र मोदी ने देश की जनता के साथ कई वादे किए थे, लेकिन वे वादे पूरे नहीं हुए हैं। उन्होंने BJP द्वारा किए गए वादे और उनकी आज की स्थिति पर एक श्वेतपत्र जारी करने की मांग की है। मध्यप्रदेश में जारी किसानों के आंदोलन को स्वस्फूर्त और मौलिक बताते हुए कांग्रेस ने कहा कि यदि राजनीतिक दल इसमें शामिल होंगे तो इस आंदोलन पर राजनीतिक रंग चढ़ जाएगा और इससे किसान हितों को नुकसान पहुंचेगा। केंद्र में BJP की सरकार बनने के बाद लोकतंत्र का सबसे बडा नुकसान है। उन्होंने सवाल किया कि क्या अब राजनीतिक दल तय करेंगे कि कौन क्या खाए, क्या पहने और युवा कैसे रहें।

किसानों-व्यापारियों में टकराव

इससे पहले उग्र किसान पिपल्यामंडी में पथराव और आगजनी करते हुए दुकानें बंद कराने की कोशिश कर रहे थे। इसी दौरान एक व्यापारी से उनकी झड़प हो गई और दोनों पक्षों में मारपीट हुई। प्रदर्शनकारियों ने दुकानों के बाहर रखे टायरों समेत कुछ और सामान जला दिए तो पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इसके बाद उग्र किसानों ने दलौदा में एक रेलवे फाटक को क्षतिग्रस्त कर दिया और पटरियां उखाड़ने की कोशिश की। सुवासरा में भी दोनों पक्षों में टकराव की खबरें हैं।

इंटरनेट सेवाएं बंद

मंदसौर में किसानों पर पुलिस की फायरिंग के बीच प्रशासन ने इलाके में इंटरनेट सेवाओं पर बैन लगा दिया है। मंदसौर, रतलाम और उज्जैन में इंटरनेट सेवा पूरी तरह बंद कर दी गई है। साथ ही बल्क मैसेज करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

आंदोलन बढ़ाने की चेतावनी

किसानों के प्रदर्शन के चलते प्रदेश में दूध, सब्जी सहित अन्य रोजमर्रा की चीजों के दाम आसमान छूने लगे हैं। इस बीच राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ ने आंदोलन को और बड़ा रूप देने की चेतावनी दी है। किसान मजदूर संघ ने बुधवार को प्रदेशव्यापी बंद का ऐलान किया है। इसके विरोध में व्यापारियों ने भी अनिश्चितकाल के लिए शहर को बंद कर दिया है।

जांच के आदेश-गृह मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने पुलिस फायरिंग से इनकार करते हुए इसकी जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा कोई फायरिंग नहीं हुई और ना ही सरकार ने इंटरनेट पर कोई प्रतिबंध लगाया है। गृह मंत्री ने इलाके में कर्फ्यू लगाने की बात से भी इनकार किया है।

www.paliwalwani.com

09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड...
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Tags: मध्‍यप्रदेश में और उग्र हुआ किसान, पुलिस फायरिंग में 6 की मौत, मंदसौर में कर्फ्यू

Sponsor


Latest News
श्री भोमाराम पालीवाल ने जीता गोल्ड मेडल

जोधपुर। किसी ने सही कहा है मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में ...Read More

श्री जितेंद्र पालीवाल को मिला शाहिद मिर्जा पत्रकारिता पुरस्कार

राजसमंद। राजस्थान पत्रिका की ओर से पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्...Read More

पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यान एवं सम्मान समारोह...

जयपुर। राजस्थान पत्रिका की ओर से पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्या...Read More

द कैरियर कम्प्युटर द्वारा प्रगति उत्सव का समापन

देवगढ़। द कैरियर कम्प्युटर संस्थान के प्रबंध श्री कमलेश पालीवाल ने ...Read More