रोज खुलता है किताबों में... - Paliwalwani

रोज खुलता है किताबों में...

Paliwalwani Newspaper

यहाँ हर ख्वाब सजता है किताबो में !
सुकूँ हर रोज मिलता है किताबों में !!
नहीं भटको कहीं पे तुम चले आओ !
कि रस्ता रोज खुलता है किताबों में !!
निराशा भी नही फटके तेरे दिल में !
कि सूरज रोज उगता है किताबों में !!
यही तो है जमाने भर कमाया जो !
छिपाके इल्म रखता है किताबो में !!
अमीरी देख लो मासूम बच्चे की !
हजारो ख्वाब बुनता है किताबो में !!
सलामी दूँ तुझे इस बात पे मैं भी !
सुबह से शाम करता है किताबो में !!

Lucky nimesh

www.paliwalwani.com

09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड...
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Tags: किताबों में, पालीवाल वाणी, Lucky nimesh

Sponsor


Latest News
श्री भोमाराम पालीवाल ने जीता गोल्ड मेडल

जोधपुर। किसी ने सही कहा है मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में ...Read More

श्री जितेंद्र पालीवाल को मिला शाहिद मिर्जा पत्रकारिता पुरस्कार

राजसमंद। राजस्थान पत्रिका की ओर से पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्...Read More

पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्याख्यान एवं सम्मान समारोह...

जयपुर। राजस्थान पत्रिका की ओर से पंडित झाबरमल्ल शर्मा स्मृति व्या...Read More

द कैरियर कम्प्युटर द्वारा प्रगति उत्सव का समापन

देवगढ़। द कैरियर कम्प्युटर संस्थान के प्रबंध श्री कमलेश पालीवाल ने ...Read More