Latest News
      1. पालीवाल समाज के वरिष्ठ समाजसेवी श्री मगनलाल पालीवाल का निधन-अस्थि संचय 20 जून को      2. मिशन शिक्षा कायाकल्प अभियान के तहत ग्रेडेट लर्निंग कार्यक्रम में कन्नौज जनपद ने विशेष मुकाम हासिल किया      3. पालीवाल शिक्षा एवं विकास समिति इंदौर की वार्षिक बैठक 30 जून को      4. हल्दीघाटी युद्ध की 443 वीं युद्धतिथि पर शहीदों की स्मृति में दीप महोत्सव आज      5. परिवार की सुरक्षा के लिए शंभूदास ने एसडीएम को दिया ज्ञापन      6. राजनगर स्कूल बना जिले का पहला महात्मा गांधी सरकारी अंग्रेजी मीडियम

EK TERA SAATH लेखक निर्देशक अरशद सिद्दीकी अब निर्माता बने फिल्म

sunil paliwal     Category: महाराष्ट्र     01 Nov 2016 (5:59 AM)

मुंबई (महा.)। अरशद सिद्दीकी जिन्होंने लेखक के रूप में मार्केट और लाल सलाम जैसी फिल्में दी हैं, साथ ही अभिनेत्री युक्ता मुखी के साथ फिल्म मेमसाहेब का निर्देशन भी किया है, अब स्वयं को निर्माता, निर्देशक  के रूप में फिल्म 1:13:7 EK TERA SAATH, के साथ आ रहे हैं, यह फिल्म उन्होंने अपने गुरु स्वर्गीय श्री के के सिंह के याद में बनायीं है।  इस फिल्म का निर्माण अरशद ने अपने बैनर आईफा स्टूडियो (EYEFAA STUDIO) के साथ बाबा मोशन पिक्चर्स के संग निर्माण किया है। अपने अनुभव के आधार पर अरशद ने अपनी प्रोडक्शन कंपनी की शुरुआत सुरक्षित रूप से शुरू करने के लिए एक ऐसे विषय को चुना जो सुपर नेचुरल पर आधारित है, ऐसी फिल्मो को सिर्फ बेहतरीन पटकथा, दृश्यांकन एवं निर्देशन की ज़रूरत होती है, न की फ़िल्मी सितारों की, इसलिए उन्होंने इस फिल्म में टी वी के लोकप्रिय अदाकार शरद मल्होत्रा के साथ हृतु दुदानी एवं मेलानी नाज़रेथ को कास्ट किया।
फिल्म 1:13:7 EK TERA SAATH की कहानी एक ऐसे पारलौकिक गतिविधियों पर आधारित है जो हमारे आसपास वातावरण में होती रहती है, पर जिसे हम कभी समझ पते हैं, कभी नहीं, इसकी शूटिंग ओरिजिनल एवं रोमांचक लोकेशन पर की गयी है जैसे घाणेराव, जैसलमेर, जोधपुर, दिल्ली, चंडीगढ़, शिमला एवं मुम्बई में। लोकप्रिय गायक रहत फ़तेह अली खान इस फिल्म के दो गीतों को अपनी आवाज़ से सजाया है, यह फिल्म २अरशद सिद्दीकी जिन्होंने लेखक के रूप में मार्केट और लाल सलाम जैसी फिल्में दी हैं, साथ ही अभिनेत्री युक्ता मुखी के साथ फिल्म मेमसाहेब का निर्देशन भी किया है। 26 अक्टुम्बर को  U/A सर्टिफिकेट के साथ प्रदर्शित हुई फिल्म को देख दर्शकों ने खुब सराह ओर कहा कि लेखक ने अपनी फिल्म के साथ न्याय किया। साथ ही एक हॉरर एवं रहस्यात्मक फिल्म होने के अलावा यह पारिवारिक फिल्म भी है। वैसे भी इस तरह की फिल्में कभी कभी आती हैं  फिल्मों के सफलता में संगीत का बड़ा योगदान होता है, इस फिल्म का संगीत भी असरदार हैं। 
 निर्माता आईफा स्टूडियो Eyefaa Studio, प्रदीप के शर्मा एवं वी नाज़रेथ, सह निर्माता अनुभव धीर एवं फरज़ाना सिद्दीकी, एसोसिएट निर्माता नितेश जांगिड़, लियाक़त नासिर, लेखक निर्देशक अरशद सिद्दीकी, संगीत सुनील सिंह, लियाकत अजमेरी, अली पीकू एवं नवाब खान, गीत ए एम तुराज़, डा देवेंद्र काफिर, असलम सिद्दीकी और हुस्ना खान, गायक उस्ताद राहत फ़तेह अली खान, सोनू निगम, के के, शाहिद मालया, अमन त्रिखा, भूमि त्रिवेदी और स्वाति शर्मा, कैमरा रवि भट्ट, संवाद बॉबी खान और ए एम तुराज़, संपादक समर सिंह और राजेंद्र घडी एवं एक्शन हनीफ शेख। पालीवाल वाणी समाचार पत्र की ओर से  हार्दिक बधाई एवं भविष्य की अनंत शुभकामनाएं...कलाकार शरद मल्होत्रा, हृतु दुदानी, मेलानी नाज़रेथ, दीपराज राणा, विश्वजीत प्रधान, पंकज बैरी, गार्गी पटेल, पदम् सिंह, अनुभव धीर, अपराजिता महाजन एवं कृष्णा राज़।