Latest News
      1. 24 को मानस गरबा रास...चालो गरबा...रमवा चालो      2. पालीवाल मातृशक्ति का गरबा महोत्सव 25 को      3. श्री पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर नवरात्री सांस्कृतिक महोत्सव का रंग चढ़ा परवान पर       4. निस्वार्थ भाव से दीन दुखियों की मदद करना ही सच्ची मानव सेवा : श्री साईं ज्योति फाउंडेशन      5. निस्वार्थ भाव से दीन दुखियों की मदद करना ही सच्ची मानव सेवा : श्री साईं ज्योति फाउंडेशन      6. केलवा में श्री अंबा माताजी का नवरात्रि जागरण सातम 16 अक्टूबर को

मशूहर लेडी बाइकर वीनू पालीवाल की एक्सीडेंट में मौत

Sunil Paliwal     Category: मध्य प्रदेश     13 Apr 2016 (11:21 AM)

विदिशा (मध्यप्रदेश)। पालीवाल समाज की बिटिया समाज का नाम रोशन करने के लिए 10000 किलोमीटर का सफर पूरा निकली थी। लेकिन प्रभु के आगे किस की चली है। प्रभु ने भी होनहार वीनू पालीवाल हम सब के बीच से दुर स्वर्गलोक की ओर ऊची उडान भर गई। इसी सफर के दौरान वीनु पालीवाल की मौत मध्यप्रदेश भोपाल से 100 किलोमीटर दूर विदिशा जिले के ग्यारसपुर के पास बगरौदा तिराहा क्षेत्र में पड़ने वाले मोड़ पर उनकी मोटर साइकिल अचानक फिसल गई थी और वीनू सड़क किनारे जा गिरीं। ग्यारसपुर मोड पर क्षेत्र में होने के समाचार प्राप्त हुए। बाइक पर सवार वीनू पालीवाल की बाइक स्किड कर गई और हादसा हो गया। जिसके चलते जयपुर की मशूहर लेडी बाइकर वीनू पालीवाल की एक्सीडेंट में मौत हो गई। जयपुर में दूसरे हार्ले बाइक ओनर्स ने खिताब दिया था हॉग रानी का, यानि हार्ले ओनर्स ग्रुप में रानी 44 साल की वीनू पालीवाल जयपुर से अकेली महिला हार्ले बाइकर थीं। हार्ले बाइकर्स में उन्हें अनुभवी राइडर माना जाता था। हादसे के बाद कई संगठनों ने वीनु पालीवाल को श्रद्वाजंली अर्पित की।

वीनू पालीवाल 10000 किलोमीटर का सफर पूरा करने निकली थीं

इस सीजन अक्टूबर से मार्च में वीनू पालीवाल देश के कई हिस्सों में बाइक चलाते हुए 10000 किलोमीटर का सफर पूरा करने निकली थीं। इसी सफर के दौरान उनकी मौत मध्य प्रदेश में हो गई। बाइक पर सवार वीनू की बाइक स्किड कर गई और हादसा हो गया। भोपाल से 100 किलोमीटर दूर विदिशा जिले के ग्यारसपुर के पास बगरौदा तिराहा क्षेत्र में पड़ने वाले मोड़ पर उनकी मोटर साइकिल अचानक फिसल गई थी और वीनू सड़क किनारे जा गिरीं।

साथी दीपेश तंवर के साथ निकली थीं वीनू

उसके साथ सफर पर चल रहे उनके साथ दीपेश तंवर, वीनू पालीवाल को विदिशा के अस्पताल में ले गए, लेकिन उनकी मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन के अनुसार उनके लिवर में चोटें थी। वैसे हार्ले डेविडसन बाइक चलाने वाले अपने सुरक्षा के लिए हेलमेट और पूरे शरीर पर सुरक्षा के लिए एक कवच की पोषक पहनते हैं।

जयपुर की अकेली महिला बाइकर थी

जयपुर हार्ले ओनर्स एसोसिएशन यानि हॉग के एक सदस्य श्री राजीव बंसल ने कहा कि वीनू पालीवाल 10000 किलोमीटर का सफर पूरा करने वाली थीं, वो जयपुर से होली के बाद निकली थीं अपने साथी श्री दीपेश तंवर के साथ 10000 किलोमीटर तय करने अपनी बाइक पर और वो भी किसी महिला बाइकर का ऐसा करना ये अपने आप में मिसाल है।

वीनू पालीवाल की मौत के बाद उसके माता-पिता सदमे में

जयपुर की मशहूर लेडी बाइकर वीनू पालीवाल की मौत के बाद उसके माता-पिता सदमे में हैं। वीनू के पिता श्री कैलाशचंद्र पालीवाल ने कहा कि वीनू का हार्ले डेविडसन पर कंट्रोल अच्छा था, बावजूद उन्हें डर लगा रहता था। कई बार वे उसे सलाह भी देते थे कि हिंदुस्तान की सड़कें इतनी स्पीड के लिए ठीक नहीं और आखिरकार बेटी को खो दिया।

श्री कैलाशचंद्र पालीवाल ने कहा कि वीनू उनके लिए बेटी और बेटा दोनों थी, उन्होंने एक पुत्री नही, पुत्रिका को खोया है। वीनू के पिता कैलाश पालीवाल ने कहा कि कहा कि उनकी बेटी बेटियों के लिेए मिशाल थी, वे न केवल खुद मजबूत थी, बेटियों के लिए हर क्षेत्र में आगे बढ़ने की प्रेरणा थी। उनकी बेटी का सपना खुद एक फिल्म का था, लेकिन शुरू होने से पहले ही चली गई।

जांच की मांग नहीं करेगे- श्री कैलाशचन्द्र पालीवाल

वीनू पालीवाल पली बड़ी जयपुर में उन्होंने पढ़ाई सोफिया कॉलेज अजमेर से की और जयपुर में वो एक चाय केफे चलाती थीं। उनके साथी बताते हैं कि वीनू पालीवाल बाइक भले ही तेज चलाती थीं, लेकिन सुरक्षा का पूरा ध्यान रखती थीं। उनके पिता श्री कैलाशचन्द्र पालीवाल ने पालीवाल वाणी ब्यूरो को बताया हमने हमारी बेटी खो दी ह ैअब हम कोई जांच की मांग नहीं करेगे। लेकिन हकीकत का पता जरूर लगायेगे।

फिल्म बनाने का सपना अधुरा रहा गया

परिवारिक सूत्र बताते है कि वीनू पालीवाल अपनी बाइक के सफर पर एक फिल्म भी जल्दी बनाने वाली थीं, लेकिन उनकी जिंदगी का ये सफर, इस हादसे के बाद हमेशा अधूरा ही रहेगा। जिसका अफसोस उनके परिजनों एवं साथीयों को रहेगा।

गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप

जयपुर की मशूहर लेडी बाइकर वीनू पालीवाल की एक एक्सीडेंट में मौत हो गई। विदिशा के पास ग्यारसपुर में सोमवार शाम को हादसा हुआ था। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों ने कहा है कि एक्सीडेंट में वीनू पालीवाल का लिवर बर्स्ट हुआ था। वहीं, वीनू पालीवाल के साथियों ने आरोप लगाया है कि एक्सीडेंट के बाद गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नर्स ने गलत इंजेक्शन दिया था, जिसके चलते मौत हुई। वीनू पालीवाल के दोस्त ने कहा- कोहनी में लगी थी चोट...फिर मौत कैसे हो सकती है।

देखे क्या है मामला

! वीनू के साथ इंडिया टूर पर निकले उनके दोस्त शांतनु सिंह ने बताया कि एक्सीडेंट के बाद वीनू पालीवाल को ग्यारसपुर के गवर्नमेंट हॉस्पिटल में ले गए थे। शांतनु के मुताबिक, वीनू की कोहनी में गहरी चोट थी। वहां नर्स ने वीनू पालीवाल को पेन रिलीफ के लिए इंजेक्शन दिया।

! शांतनु सिंह के मुताबिक इंजेक्शन लगवाने के बाद वे वीनू को लेकर विदिशा के लिए रवाना हुए। लेकिन उनकी हालत बिगड़ती गई। विदिशा हॉस्पिटल पहुंचने पर डॉक्टरों ने कहा कि वीनू की मौत हो चुकी है।

! ग्यारसपुर से विदिशा तकरीबन 35 किमी है। शांतनु सिंह के मुताबिक, वीनू को सिर्फ दाहिने हाथ की कोहनी और पैर में ही चोट थी। इसके अलावा कहीं भी चोट के निशान नहीं थे।

! वीनू पालीवाल के दोस्तों का कहना है कि वह बाइक चलाने के दौरान पूरी तरह कवर्ड थी।

! 40 साल की वीनू के साथ उनके दोस्त दीपेश भी थे।

! दीपेश व वीनू अलग-अलग बाइक पर सागर से भोपाल आ रहे थे। इसी दौरान शाम को ग्यारसपुर के पास एक मोड़ पर वीना की बाइक स्लिप हो गई।

! वीनू 2016 में एक फिल्म भी बनाने वाली थीं। वीनू ने स्कूल के दिनों से 150 सीसी वाली बाइक से इस पैशन की शुरुआत की।

! इसके बाद इन्होंने 500 सीसी की रॉयल एनफील्ड चलाना शुरू किया था। इनके एक फ्रेंड के पास हार्ले 48 मॉडल था।

! अपनी हार्ले डेविडसन को उन्होंने हॉग रानी नाम दिया था।

फिल्म बनाने के लिए निकली थीं इंडिया टूर पर

!हार्ले डेविडसन पर वीनू पालीवाल ये है इंडिया का फ्लैग लेकर चलने वाली थी।

! यह उनकी आने फिल्म का नाम था।

! इसके लिए उन्होंने देश भर में कई खूबसूरत तस्वीरें खींची थीं और वे यह बताना चाहती थीं कि इंडिया बेहद खूबसूरत है।

वीनु पालीवाल को आत्मीय श्रद्वाजंली अर्पित

पालीवाल समाज 24 श्रेणी, मेनारिया समाज 52 श्रेणी, पालीवाल समाज 44 श्रेणी भोपाल, श्री चारभुजा पैदल यात्री संघ, पालीवाल जय अंबे ग्रुप, मेवाड मंडल, मेवाड महासंघ, श्री लक्ष्मीनारायण मंडल, पालीवाल समाज चैराई, अखिल भारतीय ब्राह्मण पालीवाल समाज, पालीवाल वाणी समाचार पत्र समूह, वन्दे मातरम् मेवाड ग्रुप, पालीवाल समाज भावनगर गुजरात, सहित कई संगठनों ने आत्मीय श्रद्वाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि ईश्वर मृतक की आत्मा को शांति प्रदान कर उसके परिजनों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।


Paliwal Menariya Samaj Gaurav