Latest News
      1. मेनारिया समाज ने मचाई स्वतंत्रता दिवस की धूम      2. पालीवाल समाज ने किया प्रतिभाओं का सम्मान-स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं      3. पालीवाल ब्राह्मण समाज 24 श्रेणी इंदौर ने मनाया आजादी का जश्न      4. उदयपुर में मची आजादी की धूम-कई प्रतिभाओं को मिला सम्मान       5. पालीवाल समाज के समाजसेवी श्री विजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं      6. पालीवाल वाणी के पत्रकार श्री संजय पालीवाल के जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं
मीडिया ने खोया...एक ओर योद्वा...श्री रमेश जी हमेशा याद आयेगे - Paliwalwani.com

मीडिया ने खोया...एक ओर योद्वा...श्री रमेश जी हमेशा याद आयेगे

Sunil paliwal     Category: इंदौर     12 Apr 2017 (4:06 PM)

इंदौर। आज का दिन मीडिया जगत के लिए दुख भरा रहा। दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के चेयरमैन श्री रमेशचंद्र अग्रवाल का आज बुधवार सुबह श्रीजी शरण हो गया। श्री अग्रवाल 73 वर्ष के थे। श्री रमेश जी आज सुबह 9.20 बजे की फ्लाइट से दिल्ली से रवाना हुए और 11 बजे अहमदाबाद पहुंचे। एयरपोर्ट पर उन्हें दिल का दौरा पड़ा। उन्हें उपचार हेतु अपोलो हाॅस्पिटल ले जाया गया था, लेकिन डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका। श्री रमेश जी अग्रवाल के निधन की खबर आग की तरहा फैली। मीडिया जगत ने ही हितचिंतकों को खबर बताई कि श्री रमेश जी अग्रवाल अब हमारे बीच नहीं रहे। प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने रमेशजी के निधन पर शोक व्यक्त किया। मोदी ने ट्वीट किया, श्री रमेशचंद्र अग्रवाल के निधन से दुख पहुंचा। मीडिया जगत में उनके उल्लेखनीय योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं श्री रमेशचंद्र अग्रवाल के परिवार के साथ हैं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे। पालीवाल वाणी समाचार पत्र समूह के संपादक सुनील पालीवाल, प्रबंध संपादक अनील बागोरा ने गहरा शोक व्यक्त करते कहा कि मीडिया जगत में एक सितारे की कमी हमेशा महसूस की जाएगी। मीडिया ने खोया...एक ओर योद्वा...श्री रमेश जी हमेशा याद आयेगे, दुख की इस घड़ी में पालीवाल वाणी परिवार की संवेदनाएं श्री रमेशचंद्र अग्रवाल के परिवार के साथ हैं।

श्री रमेशजी को ग्वालियर से बहुत लगाव

श्री रमेश चंद्र अग्रवाल ने भोपाल विवि से राजनीति विज्ञान में एम ए किया था। श्री रमेश चंद्र अग्रवाल को अखबार की दुनियां से जुड़े हुए 42 साल हो चुके थे।अग्रवाल को पत्रकारिता के क्षेत्र में राजीव गांधी आवार्ड से सम्मानित किया गया था। 2003,2006 में इंडिया टुडे मैगजीन द्वारा उन्हें 50 सबसे शक्तिशाली व्यापारिक घरों में सम्मानित किया गया था। ग्वालियर में श्री रमेशजी के साथ परछाई की तरह रहने वाले श्री सत्य कुमार मिश्रा बताते हैं, रमेशजी ने ग्वालियर के ही विक्टोरिया कॉलेज से पढ़ाई की। आज ये एमएलबी कॉलेज कहलाता है। ग्वालियर से रमेशजी को बहुत लगाव था। भले ही भोपाल उनकी कर्मस्थली थी, लेकिन दिल हमेशा ग्वालियर में ही बसा था। देश में अग्रवाल परिचय सम्मेलन की शुरुआत श्री रमेशजी ने ग्वालियर से कराई। ग्वालियर मेला प्राधिकरण के चेयरमैन भी रहे और कई सामाजिक संस्थाओं के साथ जुड़े रहे। श्री रमेश जी हमेशा अग्रवाल समाज के प्रति कुछ ना कुछ नया करने का प्रयास करते रहते थे।

1958 से दैनिक भास्कर की शुरुआत

- 30 नवंबर 1944 को उत्तर प्रदेश के झांसी में जन्मे श्री रमेश जी 1956 में पिता सेठ श्री द्वारकाप्रसाद अग्रवालजी के साथ भोपाल आ गए।
- श्री रमेशजी के परिवार में बेटे सुधीर अग्रवाल, गिरीश अग्रवाल, पवन अग्रवाल और बेटी भावना अग्रवाल हैं।
- उन्होंने 1958 में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से दैनिक भास्कर की नींव रखी। 1983 में इंदौर संस्करण की शुरुआत की। 1996 में भास्कर प्रथम बार मध्य प्रदेश से बाहर निकला और राजस्थान पहुंचा। उसके बाद मीडिया में नंबर वन भी बना रहा।
- श्री रमेशजी के विजन का ही नतीजा है कि आज भास्कर 14 राज्यों में 62 संस्करण के साथ न सिर्फ देश का नंबर-वन अखबार है, बल्कि सर्कुलेशन के मामले में दुनिया का चैथा सबसे बड़ा अखबार बन गया है।
- श्री रमेशजी के ही नेतृत्व में समूह ने हिंदी अखबार दैनिक भास्कर, गुजराती अखबार दिव्य भास्कर, मराठी समाचार पत्र दिव्य मराठी, रेडियो चैनल माय एफएम और डीबी डिजिटल को मीडिया जगत में सबसे अग्रणी बनाया।
- श्री रमेश जी के निधन के बाद मीडिया जगत में उनकी कमी हमेशा खलेगी।

शोक की लहर छाई-मीडिया जगत ने जताया दुख

श्री रमेश अग्रवाल के निधन पर श्री चैहान ने ट्वीट कर शोक जताया। श्री रमेश अग्रवाल के परिजनों और भास्कर समूह के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। मध्यप्रदेश ने वास्तव में अपना एक अनमोल रत्न खो दिया है।
शिवराज सिंह चैहान -मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री
रेल मंत्री का ट्वीट कर शोक जाहिर किया। उन्होंने लिखा, श्री रमेश अग्रवाल के दुर्भाग्यपूर्ण और असामयिक निधन से धक्का लगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।
सुरेश प्रभु-रेल मंत्री
- श्री रमेशजी को मीडिया जगत का पुरोधा और संवेदनशील समाजसेवी बताते हुए उनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया। सिंह ने कहा कि रमेशजी उनके अभिन्न मित्र थे। उनके निधन से मीडिया जगत में जो रिक्तता पैदा हुई है, उसे भरना कठिन होगा।
दिग्विजय सिंह-कांग्रेस महासचिव
- बीजेपी ने ट्वीट किया, श्री रमेशचंद्र अग्रवाल जी के निधन से गहरा दुख पहुंचा है। उनका निधन पत्रकारिता और भारतीय मीडिया के लिए बड़ी क्षति है।
अमित शाह- भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष
- श्री रमेशजी के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जैन सोशल ग्रुप के 65 हजार सदस्यों की ओर से वे रमेशजी के परिवार के प्रति संवेदनाएं प्रकट करते हैं।
अभय सेतिया -जैन सोशल ग्रुप के चेयरमैन
- पत्रकारिता जगत के श्री रमेश जी हीरो थे, उन्होंने हमेशा पत्रकारों के हित में संघर्ष कर पत्रकारों के हित में काम किया, उनकी यादे हमेशा हमारे दिलों में बसी रहेगी
सुनील पालीवाल- संपादक, पालीवाल वाणी

Paliwal Menariya Samaj Gaurav