Latest News
      1. श्री हीरालाल जोशी, मनोज जोशी का जन्मदिन एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लेकर मनाया       2. समाजसेवी श्री सुरेश दवे का जन्मदिन संस्था ब्राह्मण परिवार ने मनाया      3. समाजसेवी श्री सुरेश दवे का जन्मदिन संस्था ब्राह्मण परिवार ने मनाया      4. काव्य किरण कविता संग्रह का हुआ लोकार्पण      5. काव्य किरण कविता संग्रह का हुआ लोकार्पण      6. काव्य किरण कविता संग्रह का हुआ लोकार्पण
इंदौर से चारभुजा-गढ़बोर तक निःशुल्क पदयात्रा महोत्सव 28 अगस्त से - Paliwalwani.com

इंदौर से चारभुजा-गढ़बोर तक निःशुल्क पदयात्रा महोत्सव 28 अगस्त से

Ayush Paliwal     Category: इंदौर     28 Jul 2016 (3:34 PM)

पालीवाल वाणी ब्यूरो-हेमु मित्तल की कलम से
इंदौर। श्री चारभुजा पैदल यात्री संघ के यात्रा संयोजक श्री संतोष जोशी (संटु), एवं श्री भोलाशंभु बागोरा ने पालीवाल वाणी को बताया कि प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 28 अगस्त को श्री चारभुजा पैदल यात्री संघ के नेतुत्व में इंदौर से श्री चारभुजानाथजी की भव्य शोभायात्रा रवाना होगी। श्री चारभुजानाथ जी (गढ़बोर) राजस्थान तक पैदल यात्री श्री चारभुजानाथ जी के दर्शन लाभ लेने के लिये प्रस्थान करेगे।

श्री जयप्रकाश वैष्णव आकर्षण का केंद्र बिन्दु रहेगे

विख्यात ज्योतिषाचार्य एवं वैष्णव समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित श्री जयप्रकाश जी वैष्णव श्री चारभुजा पैदल यात्री संघ की भव्य पैदल शोभायात्रा में आकर्षण का केंद्र बिन्दु रहेगे। भव्य शोभायात्रा में घोडा, हाथी, बग्गी एवं आकर्षित करती हुई झाकियों भी रहेगी। शोभायात्रा श्री चारभुजानाथ मंदिर पालीवाल ब्राह्मण समाज 44 श्रेणी धर्मशला परिसर इंदौर से होते हुए से तिलक पथ, इमली बाजार, सुभाष मार्ग, जिंसी चैराहा, शंकरगंज, किला मैदान, मरीमाता चैराहा, दुर्गानगर मेनरोड़, कुम्हारखाड़ी होते हुए बाणगंगा क्षैत्र में शोभायात्रा का अंतिम पड़ाव होगा। वही से पैदयात्री श्रद्वालुगण श्री चारभुजानाथ जी (गढ़बोर) राजस्थान हेतु प्रस्थान करेगे। यात्रा डोल ग्यारस के अवसर पर श्री चारभुजा जी पहुँचेगी। जहाँ भव्य महाप्रसादी के साथ अगले बरस तक पदयात्रा को विश्राम दिया जाएगा।

श्री पारस जैन भी पधारेगें ठाकुर जी की यात्रा में

श्री चारभुजानाथ जी की भव्य पैदल शोभा यात्रा में मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री पारस जैन के भी पधारने की संभावना है। उन्होंने संकेत दिए है कि ठाकुर जी की भव्य शोभायात्रा में शामिल होना मेरे जीवन के लिए अमुल्य धरोहर रहेगी।

जगह-जगह होगा भव्य स्वागत

श्री चारभुजानाथ पैदल यात्रा के श्रद्वालुंजनों के लिए सत्कार हेतु जगह-जगह भव्य स्वागत द्वार ओर मंच लगाकर भव्य स्वागत किया जाएगा। इस बार भी प्रतिवर्षानुसार पैदल यात्रा मार्ग पर जिसमें अबीर, गुलाल, फुलों की पंखड़ी से लगाकर सुगंधित चंदन का इत्र इत्यादि से सामाजिक कार्यकर्ताओं की ओर से स्वागत किया जावेगा।

ब्रह्मलीन श्री हीरालाल जी जोशी के आर्शीवाद से

ब्रह्मलीन श्री हीरालाल जी जोशी (बिजनोल) की यादों को ताजातरीन करने के लिए श्री चारभुजानाथ पैदल यात्री संघ के संयोजक श्री संतोष जोशी ने पालीवाल वाणी को बताया कि बाबुजी के आर्शीवाद फलस्वरूप निरंतर 30 वर्षों से सफलता पूर्वक पैदल यात्रा का संचालन निःशुल्क किया जा रहा है। इस यात्रा में पालीवाल समाज 44 श्रेणी, 24 श्रेणी, एवं मेनारिया ब्राह्मण समाज के अलावा विभिन्न श्री चारभुजानाथ जी के भक्त इस यात्रा में शामिल होकर अपनी मनोकामना पूर्ण करते है। इस यात्रा में शामिल होने के लिए विभिन्न गांवों से भी भक्तगण शामिल होते है, इंदौर से पैदल यात्रा का कारवां धीरे-धीरे बढ़ते हुए विशाल जनसमूह में तब्दील हो जाता है। जो इस यात्रा की एक ऐतिहासिक उपलब्धि हैं।

चारभुजा जी-गढ़बोर का महत्व

चारभुजा भगवान विष्णु का दूसरा नाम है। यह जगह गांव गढ़बोर जिला राजसमंद तहसील कुम्भलगढ़ में है। राजपूत जिन्हे बोर कहा जाता हैए ने एक किले के साथ गढ़बोर की स्थापना की। किले को हिंदी में गढ़ कहते हैं। इसलिएए इस गांव का नाम गढ़बोर था। भगवान विष्णु के चार हाथ हैए इसलिए उनका दूसरा नाम चारभुजा है। चारभुजा का मतलब है चार हाथ है। यह मंदिर अरावली पर्वत श्रृंखला में है। चारभुजा राजसमंद जिले से लगभग 38 किलोमीटर की दूरी पर है।

जलजुलनी एकादशी का आनंद

एकादशी हिंदू कैलेंडर से त्योहार का दिन है। जलजुलनी एकादशी एक खास दिन है जो वर्ष में केवल एक दिन आती है। इस दिन श्री चारभुजानाथ जी के भक्तगण गढ़बोर में मेले का आनंद खुब लेते है। इस दिन लाखों लोग आते हैं। इस त्योहार पर भगवान विष्णु को निकटतम नदी में स्नान के लिए ले जाये जाते हैं। लोग प्रभु चारभुजा बैठने के लिए एक पालकी बनाते हैं। वे अपने हाथों में पालकी लेते है। और प्रभु स्नान के लिए सबसे पास तालाब में जाते है। वे सभी लोगों पर लाल रंग का गुलाल फेंकते है। वे इस अवसर पर भगवान के लिए गीत गाते हैं। कुछ लोग आनंद के साथ नृत्य करते हैं।
।। श्री जय चारभुजा री करों सबकी मनोकामना पूरी ।।

Paliwal Menariya Samaj Gaurav