Latest News
      1. मध्यप्रदेश स्थाई कर्मी कल्याण संघ का धरना कल-नीलमपार्क में मंत्री को देगें ज्ञापन      2. श्री चारभुजा की भव्य प्रसादी में इंदौर से पहुंचे सैकड़ो श्रद्वालुजन      3. देशभर के 90 प्रतिशत अखबार होंगे बंद, लाखों अखबार कर्मी होंगे बेरोजगार-डीएवीपी का अंधा कानुन-अखबार बचाओ मंच      4. पालीवाल समाज भवन में 22 जुलाई से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन-भव्य कलश यात्रा निकलेगी      5. आमेट सडक सुरक्षा के तहत जिला परिवहन अधिकारी ने बनाये 20 वाहनों के चालान      6. आमेट वीरवर पत्ता को नमन कर मनाया स्थापना दिवस

समाज को ऑनलाइन लाने की पहल, शिवरात्रि के अवसर पर समाज को मिली सौगात

Sunil Paliwal     Category: इंदौर     07 Mar 2016 12:35 PM

इंदौर(म.प्र.)| पालीवाल संस्था के आयुष पालीवाल एवम् HOW Corporation नाथद्वारा के श्री खुश जोशी और भावेश पालीवाल ने पालीवाल वाणी को बताया की इस डिजिटल दुनिया मे सब काम ऑनलाइन हो रहे है फिर समाज पीछे क्यू रहे, इसी के चलते पालीवाल संस्था और हाउ कॉर्पोरेशन द्वारा संपूर्ण पालीवाल व मेनरिया समाज को ऑनलाइन लाने के लिए आपके सहयोग से महत्वपूर्ण कदम उठाने का एक छोटा सा प्रयास कर रहे है। शिवरात्रि के पवन अवसर पर एक पहल शुरू की है जिसमे समाज से जुड़े हर पहलू को ऑनलाइन करने की तैयारी शुरू की जाएगी, जिसमे पहले चरण मे समाज के व्यापारी व सर्विस वर्ग की जानकारी को ऑनलाइन किया जाएगा।

एक अनोखा प्रयास

जहां आज सभी बाजार ऑनलाइन हो रहा है। ऐसे समय में हमारे समाज के नवयुवको ने भी समाज को भी ऑनलाइन बाजार में उतारे का मन बनाया है। नवयुवको की इस पहल से समाज को भी फायदा होने की संभावना को देखते हुए। पालीवाल संस्था और हाउ कॉर्पोरेशन को पालीवालवाणी समूह और समाज बंधुओ की ओर से हार्दिक बधाईया ।

पहले चरण मे व्यापारी वर्ग होगा डिजिटल

समाज को डिजिटल करने की पहल मे कई चुनौतिया व समस्याओ को ध्यान मे रखते हुए, संस्था द्वारा पहले पहले चरण मे व्यापारी व सर्विस वर्ग को निःशुल्क ऑनलाइन करने का कार्यक्रम शुरू कर दिया गया है। इसमें जहां समाज का व्यापारी बंधु अपना बिजनेस करेगें वही समाजबंधुओ को बाजार से समान खरीदने के बजाय समाज के ही वर्ग से समान खरीदने में कुछ ना कुछ फायदा जरूर मिलेगा। अगर फायदा नहीं भी मिलता है तो कम से कम समान उच्चस्तर के साथ नंबर एक वैरायटी तो मिल ही सकती है और व्यापारी आपने व्यापार को आगे तक ले जा सकते है। जिसमे शुरू मे कुछ शर्तो के साथ शुरुआत की जाएगी जिसमे उन्ही व्यापारी बंधुओ को जोड़ा जाएगा जो समाज बंधुओ को एक विशेष छूट देने की शर्त मंजूर करेंगे ताकि समाज बंधुओ को पहल से शुरू मे ही फायदा पहुचे इसके बाद सभी को शामिल किया जाएगा।