Latest News
      1. अंकित जोशी ने दिखाया अपना दमदार प्रदर्शन-भारत को मिला कांस्य पदक      2. आमेट में स्वचछ भारत मिशन के तहत स्वच्छता ट्रेनिंग कोर्स मोबाइल पर      3. पालीवाल समाज देवगढ़ की डिजिटल बेटी भावना पालीवाल की दिल्ली तक चर्चा      4. सर्व ब्राह्मण समाज इंदौर के समाजसेवी श्री अशोक अवस्थी को विभिन्न संगठनों ने दी श्रद्वाजंलि      5. विश्व हिन्दू परिषद सामाजिक समरसता अभियान-शैक्षणिक परिवेश को विकसित करना होगा : हेमराज सिंधल      6. पालीवाल समाज के वरिष्ठ समाजसेवी श्री धुलीराम पुरोहित पंचतत्व में विलीन-किया पौधारोपण

पालीवालवाणी न्यूज़ अपडेट 03-01-2016

पालीवाल वाणी ब्यूर     Category: इंदौर     02 Jan 2016 5:36 PM

चौखला आमेट की वार्षिक आमसभा आज

आमेट(राज.)। पालीवाल समाज 44 श्रेणी चैखला आमेट की वार्षिक आमसभा 3 जनवरी16 को आवरी माताजी धर्मशाला झडोल पर सुबह 9 बजे से आयोजित की जा रही है। जिसमें समाज सुधार सहित अनेक विचारों का आदान-प्रदान कर विचार विमर्श किया जाएगा। उक्त जानकारी श्री शंकरलाल बागोरा (पिपली पोल) आमेट ने दी।


समाज विकास के लिए कार्यकारिणी की बैठक

इंदौर। पालीवाल समाज 44 श्रेणी इंदौर की अति महत्वपूर्ण बैठक 3 जनवरी16 को सुबह 11 बजे श्री चारभुजा मंदिर परिसर स्थित पीएस भवन 42 जूना तुकोगंज इंदौर पर आहुत की जा रही है। सूत्रो ने पालीवाल वाणी को बताया कि 1 से लेकर 11 तक महत्पवूर्ण बिन्दु की कार्यसूची कार्यकारिणी सदस्यों को मंत्री ने दी। जिसमें उल्लेंख किया गया कि समाज में अनुशासन का पालन तथा अमर्यादित सामाजिक गतिविधि करने वाले सदस्यों पर कार्यवाही हेतु चर्चा एवं निर्णय सहित समाज कार्यक्रम (सामूहिक कार्यक्रम) में टेंट हाउस का निराकरण, रिक्त पद के सहयोजन, चांदेर भूमि, अनुउपयोगी किताबें, वर्षो से भंगार हुए बर्तनों का विक्रय एवं नए बर्तन की खरीदी, 12 फरवरी को सामूहिक यज्ञोपवित पर निर्णय, साधारण सभा मे पारित प्रति सदस्य से 1000 रूपये एवं शेष भवन फंड की राशि वसूली सहित अन्नकुट का लेखा-जोखा पारित कर अन्य विषयों पर अध्यक्ष श्री भूरालाल व्यास की सहमति पर चर्चा कर समाज सुधार हेतु महत्वपूर्ण बैठक कर गंभीरता से पालन करने पर चर्चा होगी।

समाज सुधार घर से पहले शुरू हो!

पीएस 44 श्रेणी इंदौर की कार्यकारिणी कई महत्वपूर्ण निर्णय पारित करने जा रही है। लेकिन संभावना कम है कि ऐसा हो पाएगा कि समाज में अनुशासन का पालन तथा समाज में अमर्यादित सामाजिक गतिविधि करने वाले सदस्यों पर कडीे अनुशासन की कार्यवाही फिलहाल संभव नही है। क्योंकि अनुशासन का पालन पहले घर सुधारने वालों को अनुशासन का पालन करना होगा। तभी अन्य सदस्यों पर सामाजिक कार्यकाही का चाबुक चला सकते हो। क्या गैरसामाजिक शादी ब्याह में समाज के सदस्य घर-घर पत्रिका बांट रहे थे। तब अन्य समाजबंधुओं के साथ समाजबंधु भी शरीक हुए थे। क्या उन पर पहले अनुशासन का पाठ पढ़ने का काम मंत्री एवं उनके सहयोगी ऐसा कर पायेगे ! तभी समाज विकास एवं सुधार पर चर्चा करना उचित होगा।