Latest News
      1. मध्यप्रदेश स्थाई कर्मी कल्याण संघ का धरना कल-नीलमपार्क में मंत्री को देगें ज्ञापन      2. श्री चारभुजा की भव्य प्रसादी में इंदौर से पहुंचे सैकड़ो श्रद्वालुजन      3. देशभर के 90 प्रतिशत अखबार होंगे बंद, लाखों अखबार कर्मी होंगे बेरोजगार-डीएवीपी का अंधा कानुन-अखबार बचाओ मंच      4. पालीवाल समाज भवन में 22 जुलाई से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन-भव्य कलश यात्रा निकलेगी      5. आमेट सडक सुरक्षा के तहत जिला परिवहन अधिकारी ने बनाये 20 वाहनों के चालान      6. आमेट वीरवर पत्ता को नमन कर मनाया स्थापना दिवस

महागठबंधन बनाने की कवायद को सीपीएम का तगड़ा झटका

Ayush     Category: दिल्ली     09 Oct 2018 6:27 AM

नई दिल्ली  नरेंद्र मोदी को मात देने के लिए कांग्रेस विपक्ष के दलों एकजुट कर महागठबंधन बनाने की कवायद को मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) ने तगड़ा झटका दिया है। सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन संभव नहीं है बीजेपी को हराना पहली प्राथमिकता है ऐसे में पार्टी इस बारे में उचित समय पर फैसला करेगी


उन्होंने कहा, इसका मतलब उत्तर प्रदेश में सपा (समाजवादी पार्टी) और बसपा (बहुजन समाज पार्टी) और सहयोगियों का गठबंधन हो सकता है। वहीं, बिहार में महागठबंधन का नेतृत्व आरजेडी करेगा. मैं यह कह रहा हूं।

 

सीपीएम के केंद्रीय समिति की बैठक के बाद सीताराम येचुरी ने कहा, हम समय आने पर महागठबंधन में शामिल होने पर फैसला करेंगे। चीजों को साफ होने दें। फिलहाल, हमारी प्राथमिकता बीजेपी को हराने और एक धर्मनिरपेक्ष सरकार गठन को सुनिश्चित करने की है।

 

येचुरी ने कहा कि अगर राज्यों में चुनाव से पहले गठजोड़ करने के प्रयास किए गए तो सीपीएम बीजेपी को हराने के लिए उनका समर्थन करेगी।

 

उन्होंने कहा, अगर सपा और बसपा एक साथ आते हैं, तो हम बीजेपी को हराने के लिए उनके साथ होंगे.बिहार में अगर आरजेडी और अन्य धर्मनिरपेक्ष ताकतें हाथ मिलाती हैं तो हम उनका भी समर्थन करेंगे।

वही येचुरी ने उन जगह पर कॉंग्रेस को समर्थन की बात कही जहाँ उनके उम्मीदवार नही होंगे 

 

उन्होंने कहा कि बीजेपी विरोधी वोटों को एक साथ रखने के लिए चुनावी रणनीति तैयार की जाएगी. येचुरी ने कहा कि यह कार्य भारत को बचाने के लिए बीजेपी को हराने और पश्चिम बंगाल को बचाने के लिए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को हराने का है।

 

उन्होंने कहा, हम बंगाल में दोनों (बीजेपी और टीएमसी) की हार के लिए काम करेंगे..हम यह सुनिश्चित करेंगे कि ऐसा हो। येचुरी ने कहा कि तेलंगाना में, हमारा उद्देश्य बीजेपी और टीआरएस को हराना। उन्होंने कहा कि भारतीय राजनीति के बारे में अनुमान नहीं लगाया जा सकता. हालात को देखकर फैसले लिए जाते हैं। येचुरी ने कहा कि उनकी पार्टी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कुछ सीटों पर चुनाव लड़ेगी और बाकी सीटों पर बीजेपी को हराने के लिए अभियान चलाएगी।