Latest News
      1. जोशी परिवार ने लिया मोगी माताजी नारायणी बाई जोशी का आशीर्वाद      2. अवैध रूप से बजरी दोहन करते आमेट पुलिस ने तीन टेक्टर ट्रोलियां पकडी-चालक हुए फरार      3. भारत विकास परिषद शाखा आमेट एवं अनंता हॉस्पीटल के संयुक्त तत्वावधान में आमेट में 504 मरीजो की हुई निशुल्क जांच एवं चिकित्      4. इंदौर में फिर वाहन दुर्घटना-सगे भाइयों सहित 3 जनों की मौत...सिलसिला लगातार जारी      5. अंकित जोशी ने दिखाया अपना दमदार प्रदर्शन-भारत को मिला कांस्य पदक      6. आमेट में स्वचछ भारत मिशन के तहत स्वच्छता ट्रेनिंग कोर्स मोबाइल पर

इंदौर में गिरोह छाप रहा था नकली नोट, इंदौर-भोपाल में खुब चले-क्राइम ब्रांच ने पकड़ा

Sunil Paliwal...✍     Category: अपराध     09 Apr 2019 6:02 PM

इंदौर। इंदौर क्राइम ब्रांच ने 6 सदस्यीय एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो इंदौर में नकली नोट छाप कर चला रहे थे। यह गिरोह 2000, 500, 200, 100 व 50 के नकली नोट छाप रहे थे। इनके पास से 93,000 के नकली नोट बरामद हुए है।

गिरोह इंदौर के तीन व भोपाल के तीन सदस्य है। एडिशनल एसपी क्राइम अमरेंद्र सिंह चौहान ने पालीवाल वाणी को बताया कि आरोपी नोट चलाने के लिये छोटे दुकानदारों, पेट्रोल पम्पों को निशाना बनाते थे। प्रिटंर से स्कैन कर नकली नोट तैयार करते थे। गिरोह का सरगना एक ही सीरियल नम्बर के दर्जनों नोट प्रिंट करता था। गिरोह का नेटवर्क इंदौर के अलावा भोपाल में भी सक्रिय था। इनका कहना है कि ये लोग अभी तक बाजार में लाखों रूपये के नकली नोट खपा चुके हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन मिश्र, पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) अवधेश कुमार गोस्वामी के निर्देशन में यह गिरोह पकड़ा गया।

● 2000, 500, 200, 100 व 50 के नकली नोट, इंदौर व भोपाल में चलाते थे

एएसपी चौहान ने पालीवाल वाणी को बताया कि मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि आनन्द बाजार में राजेश नाम का व्यक्ति, आर.के. प्लास्टिक की दुकान पर नकली नोट छापता है तथा उसके साथियों के माध्यम से बाजारों में खपत करता हैं। इस पर क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा थाना पलासिया पुलिस के साथ आनंद बाजार में स्थित आर.के. प्लास्टिक नामक दुकान पर दबिश दी। वहां से छह संदिग्ध व्यक्तियों को पकड़ा। इनके नाम जितेन्द्र उर्फ लक्की पिता लक्ष्मण परदासानी उम्र-29 वर्ष निवासी-ए 29 बैरागढ भोपाल, मुरली पिता धर्मेन्द्र अग्रवाल उम्र-21 वर्ष निवासी- गिडवानी पार्क रोड, हरीओम फर्निचर के पास, बैरागढ भोपाल, भरत उर्फ गोलू पिता लक्ष्मण दास साधवानी उम्र-20 निवासी- हायर सेकेण्डरी बॉयज होस्टल के पास, बैरागढ, भोपाल, राजेश उर्फ राजा पिता कन्हैयालाल गंधवानी उम्र-30 वर्ष निवासी-3 आनंद नगर, आर.के. प्लास्टिक इन्दौर, अभिषेक पिता ताराचंद भंडारी निवासी दृ पीपल चैक खजराना पाटीदार मोहल्ला इन्दौर और विजय पिता मुन्नालाल रायकवार उम्र-20 वर्ष निवासी- 216 खजरानी काकड श्रीनगर एक्सटेंशन, सोनिया गांधी नगर इन्दौर है। तलाशी लेने पर उपरोक्त उल्लेखित आरोपियों के कब्जे से ₹ 2000 के 44 नोट, ₹ 500 के 3 नोट, ₹ 200 के 05 नकली नोट, ₹ 100 के 24 व ₹ 50 के 02 नकली नोट कुल जाली नोटों की राशि ₹ 93000ध्- रूपये के सहित एच पी कम्पनी का एक कलर प्रिंटर बरामद हुआ है, जिसका उपयोग आरोपीगण जाली नोट बनाने में करते थे। आरोपियों के कब्जे से उपरोक्त जाली नोट तथा प्रिंटर बरामद किया। इनके खिलाफ भारतीय दण्ड विधान की धारा-489 (क), 489 (ख), 489 (ग), 489 (घ) के तहत अपराध क्रमांक-162ध्19 पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपी जितेन्द्र मूलतः भोपाल का रहने वाला हैं जोकि बैरागढ़ भोपाल में अपने गृह निवास पर भी नकली नोट बनाता था। तत्समय वह अपने परिचित राजेश के माध्यम से इंदौर में खपत करने हेतु नकली नोट भजता था। बाद इंदौर में आसानी से खपत हो जाने के कारण आरेापी जितेन्द्र, आरोपी राजेश के साथ मिलकर इंदौर में नकली नोट छापने लगा था। आरोपी जितेन्द्र उर्फ लक्की, इंदौर में आरोपी राजेश व उसके साथियों के माध्यम से नकली नोटों को बाजारों में खपाता था जबकि उसके बैरागढ़ निवासी मित्र आरोपी मुरली, भरत, के माध्यम से वह भोपाल में जाली नोटों की खपत करता था। आरोपी नोट प्रिंट होने के बाद वाटरमार्क, तथा स्याही को भी फिनिशिंग देते थे ताकि जाली नोट भी असली के समान ही दिखे। इनके द्वारा बनाये गये असली व नकली नोटों में बहुत हद तक समानता होती है जिसमें अंतर स्पष्ट कर पाना आसान नहीं होता लेकिन उनके सीरियल नम्बर कई नोटों पर एकसमान होने से उनके जाली होने की पुष्टि आसानी से की जा सकती है।

● व्यस्ततम दुकानदारों तथा पेट्रोल पंपों को निशाना बनाता था

आरोपी जितेन्द्र ने बताया कि उसने पूर्व में मकान हेतु बैंक से ऋण स्वीकृत कराया था जिसको ना चुका पाने के कारण आरोपी बैंक से दिवालिया घोषित किया गया था इसी के चलते पैसों की आवशयकता होने पर वह जाली नोट बनाने लगा था। आरोपी राजेश उर्फ राजा नकली नोट खपाने का काम करता था जो कि इंदौर में व्यस्ततम दुकानदारों तथा पेट्रोल पंपों को निशाना बनाता था। वह इंदौर में आनंद बाजार स्थित आर0के0 प्लास्टिक नामक दुकान पर अपने मित्र आरोपी जितेन्द्र उर्फ लक्की के माध्यम ये जाली नोट छपवा रहा था इसी दौरान पुलिस टीम की गिरफ्त में आ गया। उपरोक्त आरोपीगण गत 01 वर्ष से नकली नोट बनाने का कारोबार कर रहे थे जिन्होंनें विभिन्न जगहों पर लाखों रूपये के नकली नोट अब तक खपत करना स्वीकार किया है। आरोपियों ने किन-किन जगहों पर जाली नोट खपाये तथा गिरोह में अन्य संलिप्त लोगों के संबंध में विस्तृत पूछताछ की जा रही है।
● पालीवाल वाणी ब्यूरो-Sunil Paliwal...✍
🔹 Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
www.fb.com/paliwalwani
www.twitter.com/paliwalwani
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...
🔹 Whatsapp पर हमारी खबरें पाने के लिए हमारे मोबाइल नंबर 9039752406 को सेव करके हमें व्हाट्सएप पर Update paliwalwani news लिखकर भेजें