Breaking News

आपकी कलम / स्मृतियां– रेशमा त्रिपाठी

स्मृतियां– रेशमा त्रिपाठी
paliwalwani news...✍️ June 28, 2019

●“दर्द का सा नशा हैं स्मृतियों में,
जो अधरों पर अदा रूप में आता हैं।
इन्द्रधनुष सा रंग दिखाता,
औ वीणा सी झनकार दे जाता हैं।।
*************
● जिसके आंसू कल तक घड़ियाले थे,
अब वह गंगाजल सा पावन हैं।
मन्दिर,मस्जिद, गुरुद्वारें सब
उसके पग चिन्हों से अवगत हैं ।।
*************
● सूने पथ का वह राही था,
किन्तु अंधेरों में भी लालायित था
सूखी डाली सा जीवन ले,
वह अम्बर को छूने निकल पड़ा।।
*************
● अविरल गति से वह दौड़ा,
अपने संघर्षों का मंत्र लिए।
धीरे–धीरे उदित हुआ वह सूर्योदय में
अपने तप की स्मृतियां ले।।"
*************

लेखिका – रेशमा त्रिपाठी
प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश

पालीवाल वाणी ब्यूरो-...✍️
🔹Paliwalwani News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए
www.fb.com/paliwalwani
www.twitter.com/paliwalwani
Sunil Paliwal-Indore M.P.
Email- paliwalwani2@gmail.com
09977952406-09827052406-Whatsapp no- 09039752406
▪ एक पेड़...एक बेटी...बचाने का संकल्प लिजिए...
▪ नई सोच... नई शुरूआत... पालीवाल वाणी के साथ...

RELATED NEWS