Latest News
      1. श्री हीरालाल देवपुरा राजकीय महाविद्यालय आमेट की अंतरिम वरीयता सूची जारी      2. ब्रह्मलीन श्री घनश्याम जोशी की याद में पालीवाल समाज आज देगा आत्मीय श्रद्वाजंलि      3. पालीवाल समाज के पूर्व सचिव ब्रह्मलीन श्री घनश्याम जोशी की प्रथम स्मृति में कल पुष्पाजंली का आयोजन      4. शहीदों को श्रद्वाजंलि अर्पित करते हुए हल्दी घाटी में वृक्षारोपण किया      5. जयपुर में आमेट के अफजल हुसैन मंसुरी होगे कर्मरत्न अवॉर्ड से सम्मानित      6. आमेट में जमकर बरसे मेघ-सडकों पर हिलोरे मारने लगा पानी

औपचारिता - हिन्दी दिवस विशेष

Balkrishan Bagora     Category: आपकी कलम     14 Sep 2016 4:20 AM

देश का स्वाभिमान,
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी,
को कितना मिला मान है,
हर घर, परिवार ही इस
भाषा का कर रहे अपमान|

जिसे देखो अपने बच्चो को
अँग्रेज़ी का ही दे रहे है ज्ञान
किसी भाषा की जानकारी
से किसीको इनकार नही
मगर हमारे शीश पर विदेशी
भाषा का यदि साम्राज्य होगा,
तो बच्चे भविष्य मे हिन्दी
का कैसे कर सकेंगे अभिमान|

चन्द लोगो से हिन्दी का दामन
एक दूजे के हाथ मे भूल रहा,
केवल राष्ट्रभाषा दिवस मानने
की औपचारिकता से कुछ होता नही,
प्रतिदिन, हर घर परिवार मे,
राष्ट्रभाषा की खुराक देना
ही देश का होना चिए अभियान
नही तो बच्चे कुछ वर्षो मे,
"जलेन्द्र" बिसर जाएँगे हिन्दी ज्ञान|

-- बालकृष्ण बागोरा"जलेन्द्र" --
परामर्शदाता पालीवाल वाणी समाचार पत्र
+91-7389264545