Latest News
      1. उर्जित पटेल के पीछे छिपा इस्तीफा का राज      2. राधाकृष्ण सीरियल में गजब के दिख रहे है धनबाद के आलोक शर्मा      3. श्री गुलाबचंद्र व्यास का निधन-अंतिम यात्रा आज      4. इंदौर में भाजपा को हो रहा है नुकसान-सर्वे में कांग्रेस जीत की ओर      5. श्री बबलु बागोरा का दुःखद निधन-अंतिम यात्रा कल       6. श्रीमती बारैया सुंदरबेन का 102 वर्ष की आयु में निधन-छाई शोक की लहर

चंद्रभागा नदी उफान पर लगा ग्रामीणों का जमावड़ा

किशन पालीवाल     Category: आमेट     25 Jul 2017 (6:26 PM)

आमेट। पालीवाल वाणी को पालीवाल सूत्रों ने बताया कि राजसमंद, आमेट की चंद्रभागा नदी उफान पर चल रही है, वही तीन दिन से पर्वतीय क्षेत्र में जमकर बारिश होने से नदी अपनी मस्ती में आ गई। ग्रामीणजनों का हुजूम नदी में पानी देखने के लिए जमा हो गए है। वो बरसात में भीग रहे है पर चंद्रभागा, गोमती नदी दशकों में बाद उफनी गोमती के वेग में मंगलवार शाम 5 लोग फंस गए, जिनमें से दो लोगों पर बहने का खतरा मंडरा रहा है। जिला प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों ने शाम 6 बजे से रात साढ़े नौ बजे तक भरपूर कोशिशें की, लेकिन उन्हें निकालने में नाकाम रहे। आमेट-भीलवाडा मार्ग मार्ग बंद कर दिया गया है। जिसके चलते यातायात मार्ग में अवरूध हो गया। पालीवाल वाणी को पालीवाल सूत्रों ने बताया कि राजसमंद झील को भरने वाली गोमती नदी खटामला पुल खतरे के निशान पार कर गई। केलवा मार्ग पुरा जाम हो गया है। राहगीर मार्ग खुलने का इंतजार कर रहे है। पर स्थिति स्पष्ट नहीं है कि मार्ग कब तक खुल जाएगा।

फंसा एक व्यक्ति-राहत बचाव दल पहुंचा

गोमती नदी के पूर्ण वेग से बढने पर छापरखेड़ी पुलिया के निकट पानी से एक व्यक्ति घिर गया। जिसकी पहचान करने में काफी परेशानी हो रही है। वह किसी छोटे से खुले मंदिर के प्लेटफॉर्म पर खड़ा रहा गया और चारों तरफ पानी से घिरता चला गया। शाम छह बजे यह स्थिति देखकर नदी के किनारों पर लोगों की भारी भीड़ लग गई। जिला कलक्टर प्रेमकुमार बेरवाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर ब्रजमोहन बैरवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हर्षरतनू और नगर परिषद आयुक्त श्री ब्रजेश रॉय बचाव दल के साथ पहुंचे, लेकिन वेग काफी तेज होने और युवक के काफी दूरी पर फंसे होने से कोई कोशिश सफल नहीं हो सकी।

बैकवॉटर में चार लोग फंसे

इधर, भाणा-लवाणा में राजसमंद झील के बैकवॉटर में चार लोग फंस गए। इनमें से दो लोग सुरक्षित बताए जा रहे हैं, जबकि दो लोगों के बहने का खतरा मंडरा रहा है। प्रशासन ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के लिए हिन्दुस्तान जिंक से दल बुलाया, लेकिन वह भी कुछ कर पाने में नाकाम रहा। दो लोग सुरक्षित स्थान पर बताए जा रहे हैं। इस बीच प्रशासन ने सिरोही से राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल की एक टीम बुलाई है, जो रात दस बजे वहां से रवाना हो गई।

बचाव के काफी प्रयास किए

हमने बचाव के काफी प्रयास किए। दो लोग असुरक्षित हैं, बाकी तीन को आसानी से निकाल लिया जाएगा। कुम्भलगढ़ क्षेत्र में बरसात कम होने से पानी भी घटने की संभावना है।
* ब्रजमोहन बैरवा, एडीएम-राजसमंद

पालीवाल वाणी ब्यूरो-किशन पालीवाल
आपकी बेहतर खबरों के लिए मेल किजिए
E-mail.paliwalwani2@gmail.com
09977952406,09827052406
पालीवाल वाणी की खबर रोज अपटेड
पालीवाल वाणी हर कदम...आपके साथ...

Paliwal Menariya Samaj Gaurav